पेशाब बंद होने पर क्या करे – होमियोपैथी से करे पेशाब में रुकावट का इलाज

0
789

इस पोस्ट में हम पेशाब से जुड़ी समस्या का होम्योपैथिक दवा के बारे में जानेंगे। यहाँ पेशाब से जुड़ी हर बीमारी का लक्षण और दवा विस्तार से बताया जा रहा है :-

अगर पेशाब करने की इच्छा है और पेशाब करते समय ब्लैडर में दर्द होता है तो ऐसे में Equisetum Q की 10 बून्द आधे कप पानी में डाल कर दिन में 3 बार लें। तकलीफ ठीक होते हो दवा बंद कर दें।

अगर बार-बार पेशाब लगता हो और साथ में ब्लैडर में दर्द होता हो तो Eryngium Q की 10 बून्द आधे कप पानी में डाल कर हर 2 से 3 घण्टे पर लेते रहें जबतक समस्या ठीक न हो जाये। इसका कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं है। समस्या ठीक होते ही दवा रोक दें।

पेशाब करने के दौरान जब तक आप खड़े रहते हैं उतनी देर पेशाब से इतना गंध आता है कि खड़ा रहना मुश्किल हो जाता है। यह एक यूनिक लक्षण है और इसमें लगता है की बस जल्दी पेशाब करके वहां से हट जाओ, ऐसे में Indium 6 पोटेंसी की 4 बून्द हर 2 से 3 घंटे पर लेते रहें जबतक आपको आराम न मिल जाये।

बार-बार पेशाब करने की इच्छा होना परन्तु करते समय बस 1 या 2 बून्द ही पेशाब होना। इसके अलावा पेशाब के समय, पेशाब के पहले और पेशाब के बाद जलन होना, कभी-कभी खून भी निकल जाना तो ऐसे में Cantharis Q की 10 बून्द आधे कप पानी में दिन में 3 से 4 बार लें। आराम मिलने पर मात्रा कम कर दें।

अगर पेशाब का रंग डार्क हो गया है और साथ में बदबू ज्यादा आती है तो आप Benzoic Acid 30 की 4 बून्द हर 3 घंटे पर लेते रहें और आराम आते ही दवा बंद कर दें।

अगर गठिया रोग के साथ पेशाब की कोई समस्या हो तो इसके लिए Berberis Vulgaris Q की 10 बून्द आधे कप पानी में दिन में 4 से 5 बार देने से रोग तुरंत ठीक हो जायेगा।

अगर पानी कम पीते हैं फिर भी पेशाब ज्यादा हो रहा हो, इसके अलावा और कोई लक्षण न हो तो इसमें Merc Sol 30 की 2 बून्द दिन में 3 बार जीभ पे टपका लें। समस्या ठीक हो जायेगा।

पेशाब में गंध हो और पेशाब करते समय ऐसा लगे की ठंडा पानी निकल रहा है तो ऐसे में Nitric Acid 30 की दो बून्द दिन में 3 बार कुछ दिन लें। समस्या ठीक होते ही दवा बंद कर दें।

अगर पेशाब बंद हो गया है, काफी देर से पेशाब नहीं हो रहा है तो ऐसे में Causticum 200 की 4 बून्द हर घंटे देते रहें, पेशाब आने लगेगा और साथ में Solidago Q का प्रयोग करने से कैथेटर लगाने की कभी आवश्यकता नहीं पड़ती। दोनों दवा के इस्तेमाल से पेशाब आएगा ही।

अगर पेशाब करते समय कोई तकलीफ न हो परन्तु पेशाब खत्म करते समय भयंकर दर्द होता हो ऐसे लक्षण में Sarsaparilla Q की 10 बून्द आधे कप पानी में डाल कर दिन में 3-4 बार लें, समस्या ठीक हो जायेगा। इस दवा का एक लक्षण यह भी है की बैठे रहने पर बून्द-बून्द पेशाब गिरता रहता है ऐसे में इस दवा का उपयोग से यह समस्या भी ठीक हो जाता है।

पेशाब की धार अगर कम हो, पेशाब करते समय ऐसा लगे की पेशाब में ताकत नहीं है और पेशाब दूर न जाकर बहुत पास में गिर रही है तो Hepar sulph 30 पोटेंसी में 2 बून्द दिन में 3 बार कुछ दिन लेने से समस्या ठीक हो जाता है।

 

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here