पोषक तत्वों की कमी से होने वाले रोग का एलोपैथिक मेडिसिन

489

इस पोस्ट में पोषक तत्वों की कमी से होने वाले रोग जैसे कमजोरी, रक्तचाप का कम हो जाना, दुर्बलता, उदासीनता इत्यादि का इलाज अंग्रेजी दवा द्वारा बताया गया है।

प्रैमिलेट्स (Pramilets Tablet) (निर्माता : अब्बोट) – इसमें विटामिन A, B1, B2, B6, B12, C, D, निकोटिनामाइड, कैल्शियम पेण्टोथेनेट, फोलिक एसिड, कैल्शियम कार्ब, मैग्नेशियम ऑक्साइड, कैल्शियम आयोडेट, अमोनियम मोलीबडेट, क्युप्रिक क्लोराइड और फेरस फुमेरेट अंश सम्मिलित हैं। यह टिकियों के रूप में उपलब्ध है जो गर्भावस्था में मल्टी विटामिन की कमी से होने वाले कष्ट, मिनरल्ज के अभाव से दुर्बलता एवं पाचनशक्ति की कमजोरी और रक्ताल्पता में लाभप्रद है । यह आहार में पोषक तत्वों की कमी से होने वाली निर्बलता एवं रक्ताल्पता में लाभकारी औषधि है ।

वयस्कों को एक फिल्मटैब (रंगीन टिकिया) दिन में 1 बार खिलायें ।

सुप्राडीन (Supradyn Tablet) (निर्माता : रोश) – इसमें विटामिन A, B1, B2, B6, B12, C, D, E, निकोटिनामाइड, कैल्शियम पेण्टोथेनेट, विटामिन एच (बायोटिन), कैल्शियम सल्फ, जिंक सल्फ, सोडियम मोलीबडेट और सोडियम बोरेट है, जो टिकियों के रूप में उपलब्ध है। यह पोषक तत्वों की कमी से होने वाली दुर्बलता, गर्भावस्था एवं दूध पिलाने की अवस्था में आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति में, एण्टी बायोटिक औषधियों के प्रयोगों के साथ पूरक के रूप में, मानसिक तनाव में, बूढ़ों की दुर्बलता में लाभप्रद है । आवश्यकतानुसार 1 या अधिक टिकिया प्रतिदिन खिलायें ।

नोट – इसी फॉर्मूला से मिली-जुली साराभाई फर्म ‘थेराग्रान एम’ के नाम से टिकिया, ड्रॉप्स हुए कैप्सूल भी उपलब्ध हैं।

शार्कोफेराल (Sharkoferrol) (निर्माता : एलेम्बिक) – इसमें विटामिन A, B1, B2, D3, सेकेरेटेड आयरन ऑक्साइड, कैल्शियम ग्लुकोनेट और नियासिनामाइड है । यह तरल रूप में उपलब्ध है। यह औषधि पोषक तत्वों यथा-विटामिन्स और मिनरल्स की कमी की पूर्ति में प्रयुक्त होता है। चिकित्सा रूप में 15 मि.ली. प्रतिदिन 2-3 बार समान मात्राओं में बाँटकर दूध के साथ प्रयोग करायें । रक्ताल्पता और दुर्बलता से बचाव के लिए भी प्रतिदिन 5 मि.ली. दवा दूध के साथ प्रयोग करायें ।

कैलरान (Calron) (निर्माना : ईस्ट इण्डिया) – इसके अंश निम्नलिखित हैं – विटामिन B1, B2, B6, A, D3, निकोटिनामाइड, फेरिक अमोनियम साइट्रेट, सोडियम, कैल्शियम, ग्लाइसरो फास्फेट्स और एथिल अल्कोहल । यह तरल रूप में उपलब्ध है। यह औषधि दूषित पोषण के कारण दुर्बलता, भूख की कमी, गर्भावस्था एवं दुग्धपान कराने की अवस्था में रक्ताल्पता में लाभकारी है । वयस्कों को 10 मि.ली. भोजन के बाद दो बार प्रतिदिन पिलायें ।

लिवोजेन Livogen Tablet) (निर्माता : एलेनबरीज) – इसमें विटामिन B1, B2, B6, B12, लिवर कंसंट्रेट पाउडर, मैगनीज साइट्रेट, फेरस सल्फ, सायनो कोबलामिन नामक अंश सम्मिलित है । यह एलिक्जिर रूप में उपलब्ध है जो पोषक तत्वों एवं आयरन की कमी से होने वाली रक्ताल्पता, सामान्य दुर्बलता, शारीरिक और मानसिक कमजोरी में उत्तम लाभप्रद है। वयस्कों को 10 मि.ली. भोजन से पूर्व दिन में दो बार प्रयोग करायें।

नोट – विटामिन बी-1 और यकृत के अति सुग्राही एलर्जी वाले रोगियों में, वृक्कनिपात एवं उच्च रक्तचाप के रोगियों को इस औषधि का प्रयोग न करायें।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.