हिमालय लिव 52 के फायदे – Liv 52 DS Tablet in Hindi

0
17947

हिमालय लिव 52

लिवर हमारे शरीर का महत्वपूर्ण भाग है। लिवर का स्वस्थ होना हमारे लिए अत्यंत ही आवश्यक है, लिवर का हमारे स्वस्थ्य के लिए उचित रूप से कार्य करना जरुरी है, लिवर के ख़राब होने पर हमारे संपूर्ण शरीर पर इसका दुष्प्रभाव पड़ता है। लिवर हमारे पाचन तंत्र  की गतिविधियों को नियंत्रित करता है, अथवा लिवर की अनेको बीमारियों से सुरक्षा करता है, हिमालय का लिव 52 लिवर की बीमारियों के उपचार हेतु सर्वोत्तम दवा है। लिव 52 पूरी तरह से सुरक्षित और हर्बल दवा है। यह दवा यकृत मे उत्पन्न होने वाले विषाक्त तत्वों को उत्पन्न होने से रोकती है और उत्पन्न हानिकारक तत्वों को नष्ट कर लिवर को सुदृढ़ बनाती है। लिवर की बीमारियों जैसे बार बार मितली होना, पेट ख़राब होना, गैस बनना, पेट में भारीपन रहना लिवर के सुचारु रूप से कार्य न करने का ही परिणाम है।

Liv 52 के फ़ायदे और उपयोग

  • लिव 52 दवा, लिवर से सम्बंधित रोगों के लिए अत्यंत लाभकारी दवा है, यह बिलकुल सुरक्षित व प्राकृतिक है, इसका लिवर पर किसी भी प्रकार का दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है ।
  • लिव 52 दवा लिवर की अत्यंत गंभीर समस्याओं से लड़ने अथवा उनका निवारण करने में बड़ी ही कारगर दवा है। इसके सेवन से लिवर की बहुत सारी समस्याओं से निदान पाया जा सकता है। इस दवा के प्रयोग से हेपेटाइटिस जैसी बीमारी के इलाज में भी सहायता मिलती है।
  • लिवर में होने वाली सूजन की समस्या में भी इस दवा के प्रयोग से लाभ प्राप्त होता है ।
  • पीलिया जैसी साधारण दिखने वाली गंभीर बीमारी के इलाज में भी लिव 52 दवा उपयोगी है।
  • आमतौर पर महिलाओ में होने वाली बीमारी ऑटोइम्यून डिस्ऑर्डर जिसमे शरीर के तंत्रिका तंत्र अथवा उत्तकों को क्षति पहुँचती है, और इसके कारण उनके लिवर की कार्य करने की गति पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। लिव 52 दवा, होने वाले इस लिवर के नुकसान को कम करके लिवर को मजबूती प्रदान करती है ।
  • भूख कम लगना यह भी लिवर में होने वाली खराबी के कारण ही होता है। लिव 52 दवा भूख बढ़ाती है औऱ पाचन तंत्र को भी मजबूत करती है ।
  • लिव 52 हमारे लिवर में उत्पन्न हो रहे एन्जाइम को नियंत्रित करता है और बचाता भी है।
  • लिव 52 दवा शरीर में हीमोग्लोबिन बनाने का भी कार्य करता है। जिन लोगो को रक्ताल्पता की समस्या है वह भी इसका सेवन कर सकते है ।
  • लिव 52 हमारे शरीर को स्वस्थ रखता है जिससे हमारे शरीर में भूख बढ़ती है और हमारा वजन भी बढ़ता है। इस प्रकार लिव 52 हमारे स्वस्थ्य के लिए सम्पूर्ण विकल्प है ।
  • जो व्यक्ति अत्यधिक शराब का सेवन करने के कारण लिवर की समस्या से परेशांन रहते है, लिव 52 उनकी समस्या का भी बेहतरीन उपचार है, क्योंकि शराब पीने से हमारे शरीर में टॉक्सिन की मात्रा बढ़ जाती है जो कि हमारे लिवर के लिए बहुत ही खतरनाक है। यह दवा हमारे लिवर से ज्यादा से ज्यादा टॉक्सिन को बाहर निकालने में मदद करती है।
  • यह फैटी लिवर को ठीक करने में मदद करता है और कोलेस्ट्रोल कम करने में मदद करता है और लिवर को स्वस्थ रखता है ।
  • यह लिवर की ताकत बढाता है और लिवर की कमजोरी दूर करने में मदद करता है।
  • यह लिवर की नई कोशिकाओं के निर्माण में सहायता करता है। हमारी सेल्यूलर ग्रोथ में मदद करता है। जिससे कि ज्यादा से ज्यादा कोशिकाओं का निर्माण हो सके ।
  • इस दवाई का उपयोग हेल्थ सप्लीमेंट के तौर पर भी किया जाता है। यह हमारे लिवर में होने वाले कई तरह की बीमारियों से बचाता है।

लिव 52 के  प्रमुख घटक

  • हिंस्रा भवन्ति
  • कसानी
  • मंडूरा भस्म
  • मकोय
  • अर्जुन
  • कासमर्द
  • बरंजासीफ़
  • झावुका

आयुर्वेदिक दवाई Liv 52 सेवन प्रणाली

इस दवा का प्रयोग करने से पहले, अपने चिकित्सक को अपनी वर्तमान दवाओं, अनिर्देशित उत्पादों (जैसे: विटामिन, हर्बल सप्लीमेंट आदि), एलर्जी, पहले से मौजूद बीमारियों, और वर्तमान स्वास्थ्य स्थितियों (जैसे: गर्भावस्था, आगामी सर्जरी आदि) के बारे में जानकारी प्रदान करें। समान्यता इस टेबलेट की 1-1 गोली  सुबह और शाम में ली जाती है। अगर आपको लीवर की प्रॉब्लम है तो आप इस टैबलेट का सेवन 2-2 गोली लेकर 3 टाइम सुबह, दोपहर व शाम को कर सकते है। टेबलेट 3 टाइम लेने की सलाह दी जाती है और रोग के अनुसार इसकी डोज निर्धारित की जाती है। यह एक आयुर्वेदिक दवाई है अभी तक इसका कोई साइड इफ़ेक्ट सामने नही आया है। भारत में यह शुगर कोटेड टेबलेट के तौर पर मिलती है. यह दवाई भारत में ही नही बल्कि पूरी दुनिया में परचलित है। यह दवा पूर्ण रूप से सुरक्षित है ।

लिव 52 के उपयोग का यह लेख अगर आपको पसंद आया है तो कृप्या कर इस लेख को जरूर शेयर करें ताकि दुसरे भाई-बंधु इसका लाभ प्राप्त कर सकें। लिव 52 का कुछ और उपयोग आपके पास है तो अपना अनुभव हमें ईमेल ( nittweb85@gmail.com ) करके बताएं। आपके नाम के साथ जरूर वेबसाइट में प्रकाशित किया जायेगा।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here