लुफ्फा बिण्डल [ Luffa Bindal In Hindi ]

0
233

हिंदी नाम – बिदाली। यह बिल्व जाति का वृक्ष है। बिदाली के पत्ते, डण्ठल, फल बहुत तीते होते हैं। इसकी सूखी लता व फल कुछ लेकर उन्हें कूंच कर रात को भींगा रख प्रातःकाल छानकर खाली पेट सेवन करने से बहुत बार कै दस्त होकर प्लीहा घट जाती है, ज्वर भी ठीक हो जाता है।

बिदाली – प्लीहा की एक उत्कृष्ट औषधि है और आयुर्वेद में अभय लवण का यह एक मुख्य उपादान है। बिदाली शोथ व प्लीहा-यकृत बढ़ने की एक उत्कृष्ट औषधि है। प्लीहा रोग में – 1 बून्द की मात्रा में आरम्भ कर क्रमशः 15-20 बून्द तक की मात्रा में बढ़ानी चाहिए, उदरामय के लक्षण प्रकट न होने तक बिना सन्देह मात्रा बढ़ाई जा सकती है, इसके अलावा – अर्श रोग में, अर्श की बाहरी बलियों को घटाने के लिए इसके बाहरी प्रयोग से भी विशेष फल प्राप्त होता है, एक औंस जल में 20 बून्द Q मिलाकर उसमे साफ़ कपडा भिगाकर बीच-बीच में अर्श के मस्सों पर लगाने व खाने की दवा सेवन करनी चाहिए। नाक की व पुरानी सर्दी के स्राव और बहुत दिनों तक सर्दी स्थायी रह जाने के कारण नाक से रक्त गिरना व उसी के साथ ललाट में दर्द इत्यादि लक्षण रहने पर इससे फायदा होगा।

क्रम – 3x, 6x आदि।

Loading...
SHARE
Previous articleओलियम जेकोरिस [ Oleum Jecoris Homeopathy In Hindi ]
Next articleजस्टिसिया रुब्रम [ Justicia Rubrum Homeopathy In Hindi ]
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here