ओल्डनलैडिया हर्बेसिया [ Oldenlandia Herbacea In Hindi ]

0
210

इस मेडिसिन का हिन्दी नाम पित्तपापड़ा है। यह ज्वर की बहुत ही अच्छी दवा है और दुसरे ज्वर की अपेक्षा साधारणतः पैत्तिक ज्वर में ही अधिक उपयोगी है। इसका ज्वर प्रायः एक दिन अधिक व एक दिन कम होता है। ठण्ड लगकर ज्वर आता है, सिर पकडे रहता है, प्यास लगती है, आँख-मुँह, हाथ पैर जलते हैं, पित्त-कै, पित्त का दस्त होता है, ये सभी इसके लक्षण हैं।

पुराने ज्वर में – होम्योपैथिक का नैट्रम म्यूर, आर्स प्रभृति से फायदा न होने पर – इसका व्यवहार करना चाहिए।

नए ज्वर में – Q, 3x, 6x शक्ति। पुराने ज्वर में 30 शक्ति फायदेमंद है।

Loading...
SHARE
Previous articleएण्डरसोनिया रोहितका [ Andersonia Rohitaka In Hindi ]
Next articleओसिमम ग्रैटिसिमम [ Ocimum Gratissimum in Hindi ]
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here