सल्फर होम्योपैथिक क्रीम [ Sulphur Antibacterial Ointment In Hindi ]

0
559

इस पोस्ट में हम लगाने की होम्योपैथिक क्रीम के बारे में जानेंगे जोकि शुष्क खुजली के साथ शुष्क एक्जिमा और जलने में बहुत लाभदायक होती है। यहाँ हम sulphur antibacterial ointment की बात करेंगे। अगर त्वचा में खुजली होती हो, खुजली वाला स्थान बहुत शुष्क रहता हो, शाम या रात में खुजली के लक्षण बढ़ जाते हों, रात में सोने पर बिस्तर की गर्मी से खुजलाहट तेज हो जाती हो, किसी भी तरह के एक्जिमा, रिंगवर्म हो तो इस मेडिसिन को बाहरी रूप से त्वचा पर मरहम की तरह दिन में 3 से 4 बार लगाने से आराम आ जाता है।

अगर खुजली वाले स्थान को पानी से धोने पर समस्या बढ़ जाती है तो इस मेडिसिन को अवश्य याद करें। खुजली की सबसे उत्तम होम्योपैथिक क्रीम sulphur antibacterial ointment ही है।

होम्योपैथिक सल्फर मरहम का उपयोग कैसे करें :-

होम्योपैथिक सल्फर मरहम बहुत से अलग-अलग ब्रांड के होम्योपैथिक स्टोर पे उपलब्ध हैं। आप कोई भी अच्छी ब्रांड जैसे SBL या WSI का इस्तेमाल कर सकते हैं।

मरहम को इस्तेमाल करने से पहले अपने हाथ को अच्छी तरह धो लें। फिर थोड़ी सी मरहम को ऊँगली पर लगाकर धीरे-धीरे त्वचा के प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। धीरे-धीरे 30 सेकंड के लिए त्वचा की सतह पर रगड़ें। अधिक जोर से रगड़ने से खुजली और जलन बढ़ सकता है।

Sulphur antibacterial ointment का इस्तेमाल निम्नलिखित लक्षण में किया जाता है :-

  • त्वचा पर जलन और खुजली होने पर।
  • एक्जिमा होने पर इसका उपयोग करें।
  • त्वचा पे खरोंच आने पर इस मरहम से लाभ होता है।
  • त्वचा पर फंगल संक्रमण होने पर इसका प्रयोग करें।
  • मुँहासे होने पर इस क्रीम का इस्तेमाल करें।

SBL sulphur antibacterial ointment 25gm के पैकेट में 55 रूपए में किसी भी होम्योपैथिक स्टोर से प्राप्त कर सकते हैं। इस क्रीम का कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है। दिन में 2 से 3 बार बाहरी त्वचा पर इसका प्रयोग करें।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here