जीभ का रंग तथा लेप, जीभ पर काले धब्बे का होम्योपैथिक दवा

1,554

पेट की खराबी तथा अन्य कारणों से जीभ का स्वाभाविक रंग बदल कर सफेद, लाल, पीला, नीला, हरा, काला अथवा बादामी हो जाता है । इस प्रकार जीभ पर विभिन्न रंगों के लेप भी चढ़ जाते हैं । इस रोग में लक्षणानुसार निम्नलिखित औषधियाँ लाभ करती हैं :-

(1) यदि जीभ का सामने का भाग साफ हो और पीछे लेप चढ़ा हो तो – नक्स-वोमिका ।

(2) यदि जीभ के मध्य-भाग में मटमैली रेखा (टाइफाइड-ज्वर की भाँति) हो तो – आर्निका, बैप्टीशिया तथा म्यूरि-एसिड ।

(3) यदि जीभ का मध्य-भाग बादामी रंग का हो तो – बैप्टीशिया, प्लम्बम मेट ।

(4) यदि ऋतुस्राव के समय जीभ साफ रहती हो तथा ऋतुस्राव के बन्द हो जाने पर गन्दी हो जाती हो तो – सीपिया।

(5) यदि जीभ सूखी तथा बादामी रंग की हो तो – एलैन्थस, ऐण्टिम-टार्ट, आर्सेनिक, बैप्टीशिया, ब्रायोनिया, स्पंजिया, रस-टाक्स तथा लैकेसिस ।

(6) यदि जीभ का रंग बादामी हो, परन्तु वह सूखी न हो तो – ऐण्टिम-टार्ट, ऐमोन-कार्ब, बैप्टीशिया, आर्सेनिक, क्युप्रम-आर्स, हायोसायमस, मेडो, मर्क-सायेनेटस, नेट्रम-सल्फ, नेट्रम-फॉस, एसिड-म्यूर, ऐकिन्नेशिया तथा ब्रायोनिया।

(7) यदि जीभ का रंग काला, पील या नीला हो तो – क्युप्रम, मर्क सायने, एसिड-म्यूर, विरेट्रम-ऐल्ब, डिजि, आर्सेनिक तथा ओपियम ।

(8) यदि जीभ का रंग काला हो तो – क्युप्रम, मर्क-सायने, एसिड-म्यूर, विरेट्रम-एल्ब, बैप्टीशिया, ओपियम तथा लैकेसिस ।

(9) यदि जीभ थुलथुली, तर और दाँतों के निशान से युक्त हो तो – मर्ककोर, मर्क-सोल, नेट्रम-फॉस, स्ट्रैमो, सैनिक्यूला, हाइड्रैस्टिस, चेलिडोनियम, आर्सेनिक, कैलि-बाई, पोडो तथा रस-टाक्स ।

(10) जीभ का रंग सफेद हो तो – नेट्रम-सल्फ, प्लम्बम ।

(11) यदि जीभ का रंग लाल हो तो – आर्सेनिक, बेलाडोना, एपिस, ऐकोन, कैन्थरिस, रस-टाक्स, टेरिबिन्थ, मर्क-कोर, लैकेसिस, क्रोटेलस, जेल्सीमियम, मेजे, हायोसायमस, कैलिबाई, नक्स-वोमिका तथा पाइरोजेन ।

(12) यदि जीभ का रंग लाल हो और वह विशेष कर मध्य-भाग में सूखी हो तो – रस-टाक्स तथा ऐण्टिम-टार्ट ।

(13) यदि जीभ के किनारे लाल हों तो – नाइट्रिक-एसिड, एण्टिम टार्ट, कालिबाई, लैकेसिस, मर्क-कोर, मर्क-आयोड, पोडो, रस-टाक्स तथा सल्फ ।

(14) यदि जीभ के किनारे लाल तथा केन्द्र-स्थल सफेद हो तो – बेलाडोना या रस-टाक्स ।

(15) यदि जीभ का रंग लाल सुर्ख (गहरा लाल) हो तो – एरम, आर्सेनिक, टैरेक्स तथा कैन्थरिस ।

(16) यदि जीभ का रंग चमकदार लाल हो तथा जीभ चिकनी जैसे रोगन से पुती हुई हो तो – कैन्थरिस, एपिस, लैकेसिस, काली-बाई, पाइरोजन, टेरिबिन्थ, फॉस, नाइट्रिक-एसिड तथा रस-टाक्स

(17) यदि जीभ लाल रंग की तथा गीली सी हो और उसके केन्द्र-स्थल में दरार हो तो – नाइट्रिक-एसिड ।

(18) यदि जीभ का केन्द्र-स्थल (मध्य-भाग) लाल रंग का अथवा धारीदार हो तो – ऐण्टिम-टार्ट, क्रोटेलस, विरेट्रम-विरि, कास्टिकम तथा आर्सेनिक ।

(19) यदि जीभ पर लाल धब्बे हों तथा असहिष्णुता के लक्षण हों तो – टैरिबिन्थ तथा रैनान ।

(20) यदि जीभ की नोक लाल रंग की हो तो – फाइटोलैक्का, सल्फर, रसटाक्स, आर्सेनिक, अर्जेण्टम-नाई, मर्क, आर्स-फ्ले तथा साइक्ले ।

(21) यदि जीभ एक तरफ को लाल रंग की हो तो – लोवेल-इन, रस-टाक्स तथा डैफ्ने ।

(22) यदि जीभ नक्शानुमा हो और उस पर लाल किनारों से घिरे चकत्ते हों तो – नेट्रम-न्यूर ।

(23) यदि जीभ पर लाल रंग के काँटे (दाने) हों तो – ऐण्टिम-टार्ट, कास्टिकम, आर्सेनिक, क्रोटेलस तथा विरेट्रम-विरि ।

(24) यदि जीभ पर लाल रंग के दाने हों और यह छिली हुई सी हो तो – एलियम सिपा।

(25) यदि जीभ के मध्य भाग में पीले रंग के चकते हों तो – फाइटोलैक्का तथा बैप्टीशिया ।

(26) यदि जीभ पर पीले रंग का गहरा गन्दा लेप हो तो – बैप्टीशिया, ब्रायोनिया, एस्क्युलस, कार्बो-वेज, सिनकोना, पल्सेटिला, नेट्रम-सल्फ, मर्क-कालिबाई, तथा कैमोमिला ।

(27) यदि जीभ पर सफेद रंग का, लेई जैसा चिपचिपा लेप हो तो – ऐण्टिम-टार्ट, ऐण्टिम-क्रूड, साइक्ले, मर्क, सीपिया, पल्सेटिला, चेलिडोनियम, ब्रायोनिया, बिस्मथ तथा बैप्टीशिया ।

(28) यदि जीभ का रंग ‘स्ट्राबेरी’ जैसा हो तो – बैप्टीशिया ।

(29) यदि जीभ का पिछला भाग भूरापन लिए सफेद हो तो – कालि-म्यूर ।

(30) यदि जीभ के किनारों पर झाग-युक्त बुलबुले हों तो – नेट्रम-म्यूर ।

(31) यदि जीभ पर नक्शा जैसा बना हो तो – आर्सेनिक, ऐण्टिम-क्रूड, नेट्रम-म्यूर, कालि-बाई, लैकेसिस, फाइटोलैक्का, रस-टाक्स तथा नाइट्रिक एसिड ।

 

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

Open chat
1
💬 Need help?
Hello 👋
Can we help you?