मानव नेत्र संरचना और कार्य

3,985

आँख की बनावट

हमारी ज्ञानेन्द्रियों में आँख (Eye) सबसे कोमल और अति महत्वपूर्ण अंग हैं । जैसा कि सर्वविदित है कि हमारे (मानव) के शरीर में दो आँखें (एक दाँयी ओर तथा एक बाँयी ओर) होती है । यह भवों के नीचे नाक के दाँये-बाँये और कर्पर के गड्ढों में होती है । कर्पर के जिन गड्ढों में आँखें रहती हैं उनको ‘अक्षिखात’ अथवा ‘नेत्रगुहा’ (Orbital Fossa) कहते हैं । इसी नेत्र गुहा में आँख का गोला अर्थात् अक्षि-गोलक (Eye Ball) रहता है। अक्षिगोलक के ऊपर दो पलकें रहती हैं जो गर्द अथवा धूल से अक्षिगोलक को बचाती रहती है । इन पलकों के आगे केश रहते हैं जिन्हें हिन्दी में ‘अक्षिलोम’ कहते हैं। ये बाल भी धूल इत्यादि से आँख की रक्षा करते हैं। आँख के गड्ढे में ऊपर वाला भाग भौंह कहलाता है।

प्रत्येक आँख की बनावट कैमरा (Camera) से मिलती-जुलती है, क्योंकि जिस प्रकार कैमरे में एक लेन्स होता है ठीक उसी प्रकार आँख में भी एक लेन्स होता है जिसे ‘स्फटिक-ताल’ (Crystalline Lens) कहते हैं । ये स्फटिक ताल ‘एस्प्रिीन’ की गोली की तरह होता है । हमारी आँख गेंद की तरह गोल होती है, किन्तु इसके सामने का भाग आगे की ओर उभरा हुआ होता है। ऊपर की पलक के साथ नेत्रगुहा के अगले और ऊपर वाले भाग में एक ग्रन्थि लगी रहती है जिसे ‘अश्रुग्रन्थि’ (Tear Gland) कहते हैं । इसी अश्रुग्रन्थि में से ही आँसू निकला करते हैं ।

दृष्टि कैसे उत्पन्न होती है (Mechanism of Sight)

किसी वस्तु पर जब प्रकाश की किरणें (Rays of Light) पड़ती हैं तो वे प्रतिबिम्वित होकर चारों ओर फैलती हैं। याद रखिये कि प्रकाश की किरणें सर्वप्रथम कनीनिका (Cornea) में पड़ती हैं। प्रकाश की किरणें कनीनिका में से होती हुई अग्रकोष्ठ (anterior Chamber) में जाती हैं और यहाँ से पुतली में होती हुई ताल (Lens) में से गुजरती है । ताल में से गुजरकर ये किरणें स्फटिक द्रव्य (Vitreous humour) में जाती हैं और यहाँ पर अन्त:पटल (Retina) में पड़कर उल्टी और छोटी-सी तस्वीर बनाती है ।

प्रकाश की किरणें जब अन्त:पटल पर गिरती हैं तो वात-संवेदना रेटिना से दृष्टि नाड़ी (Optic Nerve) द्वारा मस्तिष्क के पिछले भाग में जाकर दृष्टि उत्पन्न करती हैं ।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

Open chat
1
💬 Need help?
Hello 👋
Can we help you?