शीतपित्त या अर्टिकेरिया का होम्योपैथिक इलाज और दवा | Urticaria Ka Homeopathic Treatment In Hindi

शीतपित्त या जुलपित्ती या Urticaria त्वचा पर उभरने वाला एक प्रकार के चकत्ते होते हैं। इस रोग के कारण त्वचा पर लाल रंग के दाने उभर आते हैं, जिनमे लगातार खुजली होती रहती है। ये अक्सर किसी चीज से एलर्जी के कारण होते है परन्तु कई मामलो में बिना एलर्जी के भी Urticaria हो जाती है। इसके कारण शरीर में हमेशा जलने और चुभने की अनुभूति होते रहती है।

Urticaria आम तौर पर पाचन तंत्र की गड़बड़ी और खून में गर्मी बढ़ जाने के कारण होता है। बहुत लोगों को किसी खाद्य पदार्थ के खाने से यह समस्या हो जाती है। किसी को धुप में जाने से किसी को नमी वाले वातावरण से या नहाने मात्र से ऐसी समस्या हो जाती है। कारण, लक्षण करीब-करीब हम सभी जानते हैं तो viewer का ज्यादा समय न लेते हुए हम अब होम्योपैथिक दवा की चर्चा करेंगे।

Histamine 30 – एक चालीस वर्षीय राज मिस्त्री बरसाती मौसम में Urticaria की समस्या होने की शिकायत ले कर मेरे पास आया। ऐसे में वह एविल दवा खा कर मेरे पास आया। वह एविल ऐसे समय लिया करता था। बरसाती मौसम के कारण मैंने उसे Rhus tox 30 दिन में 3 बार खाने को दिया परन्तु लाभ नहीं हुआ। Urticaria से वह काफी परेशान था। फिर मैंने उसे ऐसे लक्षण में Histamine 30 दिन में 3 बार खाने को दिया और उससे वह पूर्णतः स्वश्थ हो गया। Histamine दवा Urticaria, क्रोजिया, अस्थमा में बहुत उपयोगी है। अगर सूरज की गर्मी से, धूप से ऐसी समस्या होती है तब भी Histamine 30 का प्रयोग आपको करना है।

Antipyrinum 2x – किसी भी प्रकार के Urticaria के लिए Antipyrinum दवा का प्रयोग किया जाता है। इस रोग में Hydrastis Q और Urtica Urens Q पर्यायक्रम से आपको प्रयोग करना है। यह दोनों दवा Urticaria की समस्या में दिया जाता है। अगर यह दोनों दवा फेल हो जाए, काम न करे एलर्जी बनी रहे तो आपको Antipyrinum 2x में प्रयोग करना है। याद रखियेगा Hydrastis Q और Urtica Urens Q पुराने रोग में दिया जाता है। मेरे अनुभव में ऐसे समस्या में मैंने Hydrastis Q और Urtica Urens Q और skookumchuck 3x का चक्र चलाया है और मुझे आशातीत लाभ मिला है।

Cina 30 – कृमि रोग से उत्पन्न हुए Urticaria में यह खूब अच्छा काम करता है। ऐसे रोगी को मैं सर्वप्रथम Cina 30 और Ferrum Met 200 पर्यायक्रम से देता हु। बाद में लक्षानुसार दूसरी दवा का चुनाव करता हूँ और मुझे हमेशा सफलता मिलता है।

Dulcamara 30 – एक डॉ चौहान से मेरी बात हुई उन्होंने बताया कि वो हर प्रकार की Urticaria में Dulcamara 30 और खुजली की तीव्रता में Rhus tox 30 देते हैं और उन्हें सफलता जरूर मिलता है। एक डॉ पी कुमार Urticaria में सर्वप्रथम Dulcamara 10M एक खुराक और इसके बाद bovista 30, Antipyrinum 2x देते हैं। कुछ महीने में क्रोनिक Urticaria ठीक हो जाता है।

Bovista 30 – एक महिला को प्रातः स्नान के बाद Urticaria हो जाती थी। स्नान के बाद सारे शरीर दानो से भर जाता था। वह बोविस्टा से पूरी तरह ठीक हो गई।

Hepar sulph 1M – ठंडी हवा लगने से और स्नान के बाद सारे शरीर में लाल-लाल दाने निकलना और बहुत खुजली में Hepar sulph 1M भी बहुत लाभ देता है।

सहजन की सब्जी – एलर्जी, चेचक, Urticaria के रोगी को सहजन की सब्जी जरूर खानी चाहिए।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Comments (0)
Add Comment