Aurum muriaticum ( औरम म्यूरिएटिकम ) – ग्लैंड्स की सूजन, मस्से, पेट में ऐंठन, एल्बुमिनुरिया की होम्योपैथिक दवा

0 127

औरम म्यूरिएटिकम के लक्षण और उपयोग

सामान्य नाम : Chloride of Gold. Na Cl, Au Cl3, 2H2O

  • दिल के लक्षण, ग्लैंड्स के सूजन या बढ़ने पर; जीभ और जननांगों पर मस्सों में औरम म्यूरिएटिकम लाभ देता है।
  • मेनोपॉज, साइनोसाइटिस, ग्लैंड्स के सूजन की मुख्य दवा है।
  • कई शिकायतें हृदय रोग से जुड़ी होती हैं, औरम म्यूरिएटिकम से कई हिस्सों में जलन जैसा दर्द दूर होता है।
  • चुभने, फाड़ने और खींचने जैसा दर्द, मेनोपॉज के समय पर होने वाले रक्तस्राव में लाभदायक है।
  • जीभ पर, जननांगों पर मस्से की समस्या में लाभदायक है।

मन और मस्तक के लक्षण

  • थकान, सभी कामों से घृणा, शोर के प्रति संवेदनशील, बोलने से भी चिड़चिड़ाहट बढ़ना ऑरम म्यूरिएटिकम का संकेत है।
  • रोना और अपने व्यवसाय से घृणा करना, अत्यधिक घबराहट, अत्यधिक मानसिक और शारीरिक बेचैनी के लक्षण मिलते हैं।
  • अपने बिगड़े स्वास्थ के लिए चिंतित रहना, पूरे सिर में लगातार जलन, बाईं ओर लक्षण अधिक देखने को मिलते हैं।

आँख, कान, नाक के लक्षण

  • औरम म्यूरिएटिकम से बायीं आंख में स्नायुशूल दर्द, पलकों के किनारों की पुरानी सूजन से राहत मिलती है।
  • रात में कान के पीछे जलन और खुजली होना। संगीत कान के लक्षणों में राहत देता है। कान के पीछे एक्जिमा को ठीक करता है।
  • नाक में झुनझुनी, जलन और खुजली, लालिमा और सूजन, खुजली के साथ सांस रुकने की अनुभूति, पीला मवाद आने की समस्या में उपयोगी है।

मुँह और गला के लक्षण

  • लार अधिक बनना और बार-बार निगलने की इच्छा। औरम म्यूरिएटिकम से होठों के छालों में आराम मिलता है।
  • लार ग्रंथि की दर्द और सूजन में राहत देता है।

पेट सम्बंधित लक्षण

  • पाचन शक्ति की कमी, वंक्षण ग्रंथियों की सूजन में उपयोगी दवा
  • पेट में काटने, चुभन, जलन, ऐंठन होना, कलेजे में जलन, जिगर के क्षेत्र में तनाव महसूस होना।
  • अपच और गैसों के दर्द में ऑरम म्यूरिएटिकम से राहत मिलती है।
  • नमी के साथ गुदा के चारों ओर मस्से का एक भारी छल्ला। छाले के साथ गुदा का मस्से को ठीक करता है।

मल और गुदा के लक्षण

  • बवासीर, मल के दौरान रक्तस्राव के साथ आंत्र में दर्द।

मूत्र संबंधी शिकायतें

  • पेशाब में एल्बुमिन ऑरम म्यूरिएटिकम का लक्षण है।

पुरुष की शिकायतें

  • इरेक्शन में कमी, शुक्राणु का पतलापन, शुक्राणु कॉर्ड की कमजोरी में लाभदायक।

महिला शिकायतें

  • योनि में गर्मी और खुजली। योनी की जलन और सुई चुभने जैसा महसूस होना। गर्भाशय और अंडाशय की पुरानी सूजन में उपयोगी दवा।

हाथ-पैर के लक्षण

  • हड्डी और पेरीओस्टेम की सूजन; सुबह हाथों का कांपना जैसे लक्षण में उपयोगी दवा
  • रात में उबाऊ और कुतरने वाले दर्द के साथ जोड़ों का क्षरण; हाथ और उंगलियों का अकड़ना।
  • कुछ खा लेने के बाद कलाई की सूजन, अंगुली में दर्द शुरू हो जाना जैसे लक्षण में उपयोगी दवा।

Generalities of Aurum muriaticum

  • इसमें हड्डी के कई लक्षण और दर्द होते हैं और ये रात में बदतर होते हैं। ठंडा, गीला मौसम से रोग में कमी आती है।
  • गर्म हवा, गर्म बिस्तर, गर्म कमरा, गर्म चादरें और सामान्य रूप से गर्माहट लक्षण को बढ़ा देती है।
  • परिश्रम और चलने से कई लक्षण बढ़ जाते हैं। विभिन्न भागों में, विशेष रूप से हाथ-पांव में दर्द बढ़ जाता है।
  • पूरे शरीर में शिराओं का फूल जाना इस दवा से ठीक होता है।

औरम म्यूरिएटिकम के दुष्प्रभाव

इस दवा का कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं। लेकिन हर दवा दिए गए नियमों का पालन करते हुए लेनी चाहिए। यह दवा लेना सुरक्षित है, भले ही आप दवा के अन्य तरीके जैसे एलोपैथी दवाएं, आयुर्वेदिक आदि पर हों। होम्योपैथिक दवाएं कभी भी अन्य दवाओं की क्रिया में हस्तक्षेप नहीं करती हैं।

औरम म्यूरिएटिकम का खुराक और लेने का नियम

औरम म्यूरिएटिकम 30 CH की 2 बून्द दिन में 3 बार जीभ पर लेना है। आप ग्लोब्यूल्स में भी दवा ले सकते हैं, दिन में 3 बार या चिकित्सक द्वारा बताए अनुसार ले सकते हैं। हम आपको चिकित्सकों के मार्गदर्शन में लेने की सलाह देते हैं।

औरम म्यूरिएटिकम लेते समय सावधानियां

  • दवा लेते समय भोजन से पहले या बाद में हमेशा 15 मिनट का अंतर रखें।
  • यदि गर्भवती या स्तनपान कराती महिलाएं हैं, तो उपयोग करने से पहले किसी होम्योपैथिक चिकित्सक से पूछें।
  • दवा के दौरान तंबाकू खाने या शराब पीने से बचें।

नियम और शर्तें

हमने यह मान लिया है कि आपने इस दवा को खरीदने से पहले एक चिकित्सक से परामर्श किया है और आप स्वयं दवा नहीं ले रहे हैं। होम्योपैथिक दवाओं के कई उपयोग हैं और लक्षण समानता के आधार पर निर्धारित की जाती हैं।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...
Leave A Reply

Your email address will not be published.

Open chat
पुराने रोग के इलाज के लिए संपर्क करें