कार्ल्सबाड ( Carlsbad Homeopathic Medicine In Hindi )

694

[ झरने का पानी ] – यकृत पर इस औषधि की प्रधान क्रिया होती है, मोटापा, कब्ज, वात और बहुमूत्र की बीमारी में ही इसका पानी काम में लाया जाता है। होम्योपैथिक शक्तियों में यह सभी अंगो की दुर्बलता, कब्ज और सर्दी जुकाम की प्रवणता से मुक्ति दिलाने में लाभदायक है। इसके लक्षण दो से चार सप्ताह का अन्तर देकर पुनः प्रकट हो जाते हैं, सारा शरीर आग की तरह गरम मालूम होना, खुजली, मुंह में बदबू, खट्टा या नमक का स्वाद। रोगी अपने कर्तव्यों के प्रति अधीर रहता है। चेहरा मुरझाया हुआ, गाल की हड्डी में भी दर्द। सिर में दर्द साथ ही कनपटियों की शिराएँ फूली हुई। जीभ पर सफेद परत जम जाती है, हिचकियां और जम्माइयां आती हैं। पेशाब की धार कमजोर, तलपेट को दबाये बिना पेशाब नही निकलता, पेट को दबाये बिना पाखाना नही होता, मल अन्दर ही रहता है। मलद्वार में जलन होती है। खूनी बवासीर, पाखाना काला होता है, उस समय इससे ज्यादा फायदा होता है।

सम्बन्ध (Relations) – नैट्रम सल्फ, नक्स से तुलना करो।

मात्रा – निम्न शक्ति ।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.