काण्डियुरैंगो ( Condurango In Hindi )

2,276

[ Condor Plant ] – यह औषधि पाचन क्रिया को उत्तेजित करती और पाकस्थली की जिन ग्रन्थियों से पाचक रस निकलकर मांस, दाल इत्यादि प्रोटिड-खाद्यों को पचाता है उन सभी ग्लैण्डों पर इसकी प्रधान क्रिया होती है। पेट के उस दर्द को हटाती है, जो आमाशय के कैंसर के कारण प्रकट होता है। मेरूमज्जा क्षय होने से प्रत्यंगादि की चालक पेशियाँ क्रमश निष्क्रिय हो जाती है, जिससे चलने की शक्ति नष्ट हो जाती है, यह लोकोमोटर एटैक्सी नामक रोग का लक्षण है। ओठ के किनारे फटना और फटकर घाव हो जाना, ये इस औषधि के चुनाव का अन्तिम लक्षण है।

पेट – पाक स्थली की श्लैष्मिक झिल्ली का पुराना प्रदाह, पाक स्थली के भीतर घाव और जलन के साथ दर्द। ऐसा मालूम होता है जैसे पेट में आग जल रही हो। अन्ननली का सिकुड़ जाने के साथ वक्षोस्थि के पीछे जलन के साथ दर्द, जहाँ ऐसा लगता है जैसे खाया पिया वहीं रखा हो। भोजन का वमन तथा बाईं कोख में सख्ती और जलन के साथ निरन्तर दर्द रहता है।

सम्बन्ध – आस्टेरियस, कोनियम, हाइड्रे, आर्से से तुलना करें।

मात्रा – Q या 2x, छाल का चूरा 5 ग्रेन भोजन के पहले पानी के साथ। अर्बुद में तीस शक्ति |

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.