इरिजरोन-लेप्टलोन कैनाडेन्स ( Erigeron – Leptilon Canadense In Hindi )

753

रक्तप्रदर, अत्यधिक स्वेत-प्रदर का स्राव, रक्तमय प्रेसवान्तिक क्लेदस्राव, थोड़ा हिलने से ही वृद्धि होती है। मूत्र-यन्त्र के प्रदाह के साथ ल्यूकोरिया, गर्भिणी के दुर्बल जरायु, थोड़ी सी बात में ही रक्तस्राव होने लगता है। अत्यंत भयानक रूप से पेट फूल उठने में 1 ड्राम इरिजिन ऑयल व एक अण्डे का पीला भाग एक पाइण्ट दूध के साथ मिलाकर मलद्वार में एनिमा देने पर फायदा होगा। पेट फूलने में 1x सेवन कराना चाहिए।

यह औषधि रक्तरोधी तथा रक्तस्रावी दोनों ही प्रकार की क्रिया करती है। जरायु से रक्तस्राव होने के साथ दर्दनाक मूत्रण, अधिक मात्रा में चकमदार लाल रक्त, मूत्राशय से अविराम रक्तस्राव, पेचिश होने के साथ मूत्राशय में दाहक पीड़ा और जलन होना, बाएं डिम्बाशय तथा कूल्हे में दर्द, पुराना सूजाक के साथ जलनशील मूत्रण, पेशाब का बूंद-बूंद टपकते रहना, प्रचुर प्रदर, रक्तिम, सूतिस्राव (bloody lochia) जो जरा सी हरकत करने से भी वापस लौट जाता है, रक्तप्रदर के साथ मलाशय और मूत्राशय का प्रचण्ड क्षोभ एवं जरायुभ्रंश। चमकता हुआ लाल रक्तस्राव, ऋतुस्रावों की मध्यवर्ती अवधि के दौरान प्रदरस्राव होने के साथ मूत्रांगो का शोथ, खूनी बवासीर, ऋतुस्राव के बदले नाक से खून जाने लगता है।

सम्बन्ध – टेरीबिथिना

मात्रा – मूलार्क से 3 शक्ति तक।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...
1 Comment
  1. Devinder Rai says

    You are serving the humanity a lot. For you I may just to mention that:
    “Leave some marks behind you, otherwise, where is the difference between trees and a men, they also come into existence and die after a decay.
    Thanks and Hats off to your services.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.