हाथी पांव (Filariasis) के लिए होम्योपैथिक दवा

0
235

जब हमे वो मच्छर काट लेते है जिनके अंदर Roundworms होता है तो उस मच्छर के काटने से उसका लार्वा हमारे शरीर में चला जाता है और उसका लार्वा फिर बढ़ने लगता है। यह लार्वा हमारे शरीर के Lymphatic system में चला जाता है और वह हमारे पैर, हाथ में जाकर जम जाता है और वहाँ पर सूजन हो जाता है। यदि ये लार्वा पैरों में जाता है Lymphatic system के माध्यम से और वहाँ जाकर जम जाता है तो हमारे पैर फुल जाते है और इसी समस्या को हाथी पांव की समस्या कहा जाता है।

हाथी पांव होने के कारण

  1. यह मच्छर के काटने से होता है, कभी-कभी यह बीमारी मक्खी के काटने से भी हो जाती है। जिन मच्छर के अंदर Filariasis के लार्वा होते है उनके काटने से यह बीमारी हमे हो जाती है।
  2. यह लार्वा अपनी वृद्धि करते है शरीर के अंदर और अपनी संख्या बढ़ाते है। जब यह लार्वा खून में मिल जाता है तो अगर कोई मच्छर हमे काट कर किसी और को काटता है तो यह लार्वा उसके अंदर भी चला जाता है।
Loading...

हाथी पांव के लक्षण

इसके लक्षण काफी दिनों तक नहीं दिखते, जब यह लार्वा खूब वृद्धि कर लेते है अपनी संख्या बढ़ा लेते है तब कुछ लक्षण दिखते है जो निम्न है:-

  1. सर्वप्रथम बहुत तेज बुखार होता है मरीज को, बुखार के साथ बदन दर्द भी होता है।
  2. इसके बाद Underarms में दर्द महसूस होगा और वहाँ पर गठान महसूस होगी, यही समस्या पैरों के जोड़ों में महसूस होगी और इसके बाद सूजन भी हो जायेगा।
  3. इसके पश्चात् पैरों या हाथों में सूजन होने लगेगी और वह फूलने लगेंगे।
  4. जिस भी पैर या हाथ में Filariasis होगा वह सूझता चला जायेगा और बुखार ठीक हो जायेगा। Filariasis की समस्या आपको दोनों पैरों, एक पर, दोनों हाथों या एक हाथ में भी हो सकती है।

हाथी पांव के लिए लाभदायक होम्योपैथी दवा

Haslab Drox 10 Filarin Drop :- यह HSL कम्पनी की दवाई है और यह दवाई Filariasis के मरीजों के लिए ही बनाई जाती है, यह दवाई Filariasis की समस्या को ठीक करने के लिए बहुत ही लाभदायक है। इसमें कई सारी होम्योपैथी दवाईयाँ डली हुई है जो निम्न है:-

Arsenic alb 3x, Sulphur 3x, Myristica sebifera 3x, Cederon 3x.

Arsenic alb :- यह दवाई इन्फेक्शन के लिए बहुत ही असरदार है, शरीर में कहीं भी इन्फेक्शन हो जाता है उसके लिए लाभदायक है।

Sulphur :- Filariasis का कीटाणु रात को बढ़ता है और सूजन में भी वृद्धि होती है, इसे रोकने के लिए यह दवाई बहुत ही लाभदायक है।

Myristica sebifera :- यह दवाई सूजन के लिए बहुत ही असरदार है, यह दवाई सूजन को कम करती है।

Cederon :- यह दवाई बुखार को ठीक करने के लिए बहुत ही लाभदयक है। Filariasis के मरीज को बहुत तेज बुखार होता है जिसे ठीक करने के लिए यह दवाई बहुत ही लाभदायक है।

Drox 10 लेने की विधि :- यह दवाई आधे कप पानी में 15 बून्द डाल कर दिन में तीन बार लेनी है।

Haslab HC 9 :- यह दवाई भी HSL की है, यह दवा भी Filariasis के मरीज के लिए बहुत ही लाभदायक है। यह दवाई यदि आप Drox 10 के साथ लेते है तो आपको जल्द असर दिखेंगे। इसमें भी कुछ होम्योपैथी दवाईयाँ डली हुई है, जो निम्न है :- Acidium hydro flour, Hammamelis.

Acidium hydro flour :- यह दवाई भी सूजन को ठीक करने के लिए बहुत ही असरदार है। यदि आपके शरीर में कही सूजन आ जाती है और वह हिस्सा फूल जाता है तो यह दवाई बहुत ही लाभदायक है।

Hammamelis :- यह दवाई Filariasis के कीटाणु को मरने के लिए बहुत ही असरदार है साथ ही यह सूजन को भी कम करती है।

HC 9 लेने की विधि :- इसकी दो-दो गोली दिन में तीन बार चूसनी है, इसके साथ Drox 10 भी लेते रहना है।

Dr. Reckeweg R56 :- यह दवाई Filariasis के मरीज को ऊपर की दोनों दवाइयों के साथ लेनी है, यह दवाई कीड़ों के लिए बहुत ही लाभदायक है, यह दवाई कीड़ों को खत्म करती है। Filariasis के कीड़ों को भी मरने में यह दवाई लाभदायक है। R56 की 20-25 बून्द आधे कप पानी में डाल कर पीना है, यह दवाई दिन में तीन बार पीना है आपको बाकी दोनों दवाइयों के साथ।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658

नोट :- इन सभी दवाइयों के बीच कम से कम 15 मिनट का अंतर रखे और तीनों दवाईयाँ आपको कम से कम 6 महीने तक लेना है पूरी तरह से Filariasis की समस्या से निजाद के लिए।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here