Function Of Joints In Hindi [ संधि (शरीररचना) ]

1,191

जैसा कि हम जानते हैं कि हमारे शरीर में 206 अस्थियाँ हैं। इन 206 अस्थियों के भिन्न-भिन्न प्रकार के जोड़ होते हैं, इन्हीं को ‘सन्धि’ (Joint) कहते हैं। दूसरे शब्दों में हम कह सकते हैं कि जहाँ दो या दो से अधिक अस्थियाँ आपस में मिलती हैं, उसे ही ‘सन्धि’ कहते हैं।

शरीर शास्त्र के ज्ञाताओं ने हमारे शरीर की सन्धियों को निम्नांकित दो भागों में विभाजित किया है:-

(1) चल सन्धि (Movable Joints)

(2) अचल सन्धि (Fix or Immovable Joint)

जिन सन्धियों में चारों ओर से अच्छी तरह गति (हरकत) हो सकती है उन्हें ‘चल सन्धि’ कहते हैं । जैसे – प्रगण्डास्थि (Humerus) और स्कन्धास्थि (Scapula) की बनी स्कन्ध सन्धि (Shoulder Joint) । इस सन्धि में पूर्णरूपेण स्वतन्त्रतापूर्वक हरकत हो सकती है और यह हिल-डुल भी सकती है। हमारे शरीर में लगभग 300 चल सन्धि होती हैं। यह अधिकतर रीढ़ की हड्डियों, पसलियों, बाँहों और टांगों में पाई जाती है।

जिन सन्धियों में किसी प्रकार की गति (मूवमेण्ट) नहीं हो सकती है, उन्हें ‘अचल सन्धि’ के नाम से जाना जाता है। ये आपस में बड़ी मजबूती से जुड़ी रहती हैं और हिल-डुल भी नहीं सकती है। हमारे शरीर में ये अचल सन्धियाँ बहुत कम हैं। नीचे के जबड़ों को छोड़कर खोपड़ी और चेहरे की समस्त सन्धियाँ ‘अचल’ हैं।

विशेष – हमारे शरीर की प्रत्येक सन्धि मजबूत तन्तुओं से बँधी और आपस में जुड़ी रहती है । जिन तन्तुओं से ये बँधी, जुड़ी और लगी रहती है उनको ‘बन्धन’ (Ligaments) कहते हैं। एक तो यह सन्धियाँ इन बन्धनों से बँधी रहती हैं और दूसरे ऊपर से मांसपेशियाँ भी उन्हें दबाये रहती हैं। इसीलिए हमारे शरीर की हड्डियाँ अपने स्थान से इधर-उधर नहीं खिसकती है।

नोट – यदि यह हड्डियाँ अपने स्थानों से इधर-उधर होकर हट जायें तो उसे ‘सन्धि-च्युत’ (Dislocation of the Bones) कहते हैं। ऐसा होने पर हड्डियों को फिर से उनके यथोचित स्थान पर किया जाता है।

सन्धियों के कार्य (Functions of the Joints) – सन्धियों के बीच में एक प्रकार की गद्दियाँ सी भी होती हैं जो हड्डियों को आपस की रगड़ से बचाती हैं। उनको चिकना रखने के लिए एक प्रकार का तरल पदार्थ भी निकलता रहता है । इस प्रकार ये सन्धियाँ हमारे शरीर को मोड़ने में सरलता पूर्वक सहायक होती हैं और इसी के फलस्वरूप हम अपने उठने, बैठने, चलने-फिरने, झुकने, लेटने तथा इसी प्रकार के सैकड़ों हाथ-पैरों से सम्पन्न होने वाले कार्यों इत्यादि को पूर्णरूपेण सुगमता पूर्वक कर सकते हैं।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

Open chat
1
💬 Need help?
Hello 👋
Can we help you?