एडीएचडी का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic medicine for ADHD In Hindi ]

0
228

आजकल के बच्चे बहुत शैतान हो गए है, ज्यादा शैतानियां करने लगे है, जिन बच्चो की उम्र 12 से 18 के बीच है अगर वो बच्चे बहुत गुस्सा करते हैं, बात-बात पर चिढ़ने लगते हैं, लड़ने लगते है साथ ही पढाई में अच्छे से ध्यान नहीं दे पाते तो उन्हें ADHD नमक बीमारी हो सकती है। ADHD का अर्थ है Attention Deficit Hyperactivity Disorder, इसका मतलब होता है किसी काम में अच्छे से ध्यान न दे पाना, ध्यान की कमी होना, बच्चे का ज्यादा शैतान होना, ज्यादा लड़ना, चिढ़ना आदि।

ADHD के कारण

ADHD के कारण ठीक-ठीक अभी तक ज्ञात नहीं है लेकिन कुछ तथ्य हैं जिनके आधार पर इसके कारणों को जाना जा सकता है:-

Loading...
  1. अनुवांशिक कारणों से यह समस्या बच्चो में आ सकती है, अगर माता या पिता में से कोई बहुत अधिक गुस्सैल हैं, बात-बात पर चिढ़ जाते हैं और गुस्सा करते है तो बच्चो को भी यह बीमारी हो सकती है।
  2. वातावरण के कारण भी यह बीमारी हो सकती है। आस-पास के लोग, बच्चो के दोस्तों का व्यवहार, माता पिता का व्यवहार भी असर करता है बच्चों पर तो वह इस बीमारी का शिकार हो सकता है।
  3. यह बीमारी उन बच्चो को ज्यादा होती है जिनका टेस्टोस्ट्रोन लेवल अधिक होता है।

ADHD के लक्षण

जब बच्चा 11 से 12 के बीच में रहता है तो थोड़ा-थोड़ा चिड़चिड़ाने लगता है, अगर उस वक्त उसपर ध्यान नहीं दिया जाये तो यह समस्या बढ़ते-बढ़ते गुस्से का रूप ले लेगी और फिर वह छोटी-छोटी बातों में गुस्सा करने लगेगा। वह सभी से लड़ने लगेगा चाहे वह उसके दोस्त हो या परिवार के लोग। इसके साथ ही वह HyperActive हो जायेगा, अर्थात एक बच्चे को जितना ऊर्जावान होना चाहिए वह उससे ज्यादा होगा और ज्यादा शैतानियां करेगा। वह आराम करना बंद कर देगा और ज्यादा चलता फिरता रहेगा , जिस कारण उसका दिमाग थक जायेगा और उसकी याद करने की क्षमता कम हो जाएगी और उसका पढाई से ध्यान भटकने लगेगा।

अगर बच्चा ऐसा करता है तो उसपर अधिक ध्यान देने की जरूरत है, उसके स्कूल का माहौल देखे, अगर वहाँ का माहौल ठीक नहीं है तो उसका स्कूल भी बदले ताकि वह इस समस्या से निकल सके।

ADHD के लिए होम्योपैथी दवाईयाँ

Chamomilla 30 CH :- ऐसे बच्चे जो बहुत जल्दी चीड़ जाते है, गुस्सा करने लगते है, जो अचानक गुस्सा करते हो, चिल्लाते हो, रोते हो तो यह दवाई उनके लिए बहुत ही असरदार है। जो बच्चे शांत नहीं बैठते हैं, बहुत चिड़चिड़े रहते है और उन्हें खुद नहीं पता होता की वह चाहते क्या है तो यह दवाई लाभदायक है। जिन बच्चो को रोना बहुत जल्दी आ जाता है उन्हें यह दवाई दी जानी चाहिए। इस दवाई की दो बून्द सुबह तीन महीने तक देनी है।

Cina 30 CH :- ऐसे बच्चे जो दूसरे लोगों के पास नहीं जाना चाहते हमेशा अपने मम्मी या पापा से चिपके रहते है, और कोई दूसरा उन्हें छू दे या बात कर ले उनसे तो रोने लगते है उनके लिए यह दवाई बहुत ही असरदार है। जो बच्चे किसी चीज से जल्दी संतुष्ट नहीं होते या जिनके पेट में कीड़े होते है उनके लिए भी यह दवाई बहुत ही लाभदायक है। इस दवाई की दो-दो बून्द दिन में दो बार देनी है अच्छे परिणाम के लिए।

Hyoscyamus 30 CH :- यदि आपका बच्चा बहुत जल्दी गुस्सा हो जाता है और अपने आप-पास के वातावरण से बुरी आदते सीख कर गाली भी देने लगा है तो यह दवाई बहुत ही असरदार है। यह दवाई केवल रात में देनी है रोज, इसकी दो बून्द रात में लगभग तीन महीने तक दे।

Stramonium 30 CH :- यह दवाई ADHD के बच्चो पर बहुत अच्छा प्रभाव डालती है। अगर बच्चा बहुत जल्दी डर जाता है जिस कारण बच्चा बहुत चिड़चिड़ा हो गया है तो यह दवाई बहुत ही असर करती है बच्चे के डर को ठीक करने के लिए। अगर बच्चे का मन एकाग्र नहीं है और वह पढाई पर ध्यान नहीं दे पा रहा है तो भी यह दवाई बहुत ही लाभदायक है। यह दवाई रात में दो बून्द देनी है लगातार एक से दो महीने तक।

Rescue Remedy 30 CH :- अगर आपका बच्चा बहुत अधिक चिड़चडाता है, सुनाता नहीं बड़ो की और बहुत जल्दी गुस्सा हो जाता है साथ ही पढाई में मन नहीं लगा पा रहा है तो यह दवाई जरूर लेनी है, यह दवाई बहुत ही असरदार है ADHD के लिए। इसकी दो-दो बून्द दिन में दो बार देनी है।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658

नोट :- आप अपने बच्चे में ADHD के लक्षण देख लीजिये और उस हिसाब से ऊपर लिखे दवाइयों में से कोई दवाई दे दीजिये बच्चे की यह समस्या जल्दी ठीक हो जाएगी। आप कोई भी दवाई दे उसके साथ Rescue Remedy जरूर दे जल्दी बच्चे की यह समस्या ठीक करने के लिए। अगर आपको समझ न आये की कौन सी दवाई देनी है तो Chamomilla 30CH , Cina 30CH, Hysocyamus 30CH के साथ Rescue Remedy 30 CH दे सकते हैं।

Loading...
SHARE
Previous articleTinospora Cordifolia Uses In Hindi [ गिलोय होम्योपैथिक दवा के लाभ ]
Next articleओरकाइटिस का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Orchitis In Hindi ]
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here