एक रोग के दबने से दुसरे रोग होने की होम्योपैथिक दवा – HOMEOPATHY MEDICINE FOR DISEASES DUE TO SUPPRESSION

0 144

स्वास्थ्य और रोग के सिद्धांत के लिए होम्योपैथी का सबसे महत्वपूर्ण योगदान लक्षणों के दमन से दुसरे रोग जो हो जाते है उसे ठीक करना है।

दोनों पारंपरिक और कुछ वैकल्पिक रूपों में लक्षणों में कमी और दर्द को कम करने के उपचार के लक्ष्य के रूप में देखे जाते हैं।

कुछ लक्षण के दब जाने से दुसरे लक्षण उभरने लगते हैं। दस्त हुआ और उसके लिए दवाइयां ली, दस्त बंद हुआ पर सिर दर्द तब से होने लगा, इसे ही कहते हैं लक्षण के दमन से दुसरे रोग प्रकट होना।

होम्योपैथी में एक उपचारात्मक और दमनकारी प्रभाव के बीच अंतर करना बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि उपचार का लक्ष्य पूरे व्यक्ति को गहनतम संभव स्तर पर ठीक करना है। इसे प्राप्त करने के लिए होम्योपैथ को सबसे पहले रोगी के चिकित्सकीय इतिहास को जानना होगा ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि पिछले उपचारों को दबाया गया है या नहीं; दूसरा, होम्योपैथ को होम्योपैथिक उपचार के लिए रोगी की प्रतिक्रिया का मूल्यांकन करने की आवश्यकता होती है, ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि रोगी अधिक स्वास्थ्य की दिशा में वांछित दिशा में प्रगति कर रहा है या नहीं।

रोग दमन का होम्योपैथिक उपचार

ABROTANUM 30 – डायरिया के दमन के बाद गठिया होना।

AMMONIUM MUR 30 – ल्यूकोरिया के दमन के कारण बवासीर रोग हो जाना।

CAUSTICUM 30 – चर्मरोग या खुजली आदि जैसे चर्म रोगों के दमन के कारण उत्पन्न दमा आदि रोग में लाभदायक है।

MEDORRHINUM 1M – गोनोरिया के दमन के बाद बुरे प्रभाव को ठीक करता है।

OLEUM ANIMALE 200 – पैरों में पसीना आने पर उन्हें गीला करने या उन्हें ठंडा करने के कारण अस्थमा रोग हो जाने में उपयोगी है।

PLATINUM MET 30 – मासिक धर्म के दमन के कारण मानसिक समस्याएं। मानसिक समस्याएं विकसित होने के साथ शारीरिक लक्षण गायब हो जाते हैं।

SARACA IND Q – मासिक धर्म के दमन के कारण सिरदर्द, प्रवाह शुरू होने से बेहतर महसूस करना।

SILICEA 200 – पैर के पसीने के दबने के कारण होने वाली तकलीफ

SULPHUR 200 – मलहम आदि से त्वचा की समस्याएं दबाने पर कुछ अन्य समस्या, विशेष रूप से सांस की समस्या पैदा करती हैं। ऐसे मामलों में, चार दिनों के लिए प्रति दिन सुबह में सल्फर 200 की एक खुराक मूल बीमारियों को बाहर लाएगी, जो तब संकेतित उपचार द्वारा ठीक हो सकती है। दमन के कारण पागलपन भी इस उपाय से ठीक हो जाता है

THLASPI BURSA Q – गर्भाशय रोगों को दबाने से होने वाली समस्या में उपयोगी है।

ZINCUM MET 30 – दानों को दबाने से पागलपन में उपयोगी दवा है।

 

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...
Leave A Reply

Your email address will not be published.