हाइड्रोकोटाइल एसियाटिका [ Hydrocotyle Asiatica 30 Homeopathy In Hindi ]

2,033

[ मण्डूकपर्णी नामक एक तरह के छोटे लता सरीखे पौधे से मूल-अर्क तैयार होता है। कहीं-कहीं इसे ‘थुलखड़ी’ कहते हैं ] – मानसिक और शारीरक दुर्बलता तथा सभी पेशियों में चोट लगने जैसा दर्द होना – इस दवा के प्रधान लक्षण हैं। इसका रस कोढ़, उपदंश, नासूर और चर्म-रोग में लगाया जाए तो फायदा होता है। मुँह के घाव, ऐसा विसर्प-रोग जिसमे चमड़ी जली-हुई सी हो जाती है, और व्रण इत्यादि में लाभदायक है।

फीलपाव ( elephantiasis ) और कुष्ठ-रोग ( leprosy ) अच्छा करने के लिए – इस दवा का विशेष उपयोग होता है। किसी तरह के चर्म-रोग में, त्वचा का ऊपरी अंश जितनी ही ज्यादा फूला हुआ और मोटा होगा, इससे उतना ही ज्यादा फायदा होगा। सूखी-खुजली, पुराना अकौता ( एक्जिमा ), मुँहासे इत्यादि कितने ही चर्म-रोग में इससे बहुत फायदा देखने में आता है। लियुपस-रोग ( lupus : इस रोग में नाक, मुँह, पलक और होंठों में घाव हो जाता है ) भी हाइड्रोकोटाइल फायदा करती है।

कोढ़ ( leprosy ) – जहाँ पतली त्वचा पर लाल दाग फूल जाता है, उसके बाद घाव होकर चमड़ा सुन्न हो जाता है, छूने की शक्ति लोप हो जाती है वहाँ – एनाकार्डियम ज्यादा फायदा करती है। उपर्युक्त किसी भी दवा का भीतरी सेवन करते समय – उसका मूल-अर्क 20 बून्द और ग्लिसरीन 1 औंस मिलाकर मरहम बनाकर 2-1 बार लगाने से बीमारी में कुछ जल्दी फायदा होना सम्भव है। इस बीमारी में कम-से-कम 5-6 महीने तक दवा देनी पड़ती है।

स्कूकम चक ( skookum chuk ) – 1x से 3x विचूर्ण शक्ति का 2-3 मास तक उपयोग करने से बहुतों का कुष्ठ रोग अच्छा हुआ है।

पाइपर मेथिस्टिकम ( piper methysticum ) Q से 6 शक्ति – कुष्ठ-रोग में पहले चमड़ी के किसी अंश में पपड़ी-जैसी एक तह जमती है, फिर घाव हो जाता है। प्राचीनकाल के ऋषि जिस सोमरस का पान किया करते थे वह यही चीज है।

होयांग नान ( hoang nan ) निम्न शक्ति – कुष्ठरोग के घाव और चर्म रोग इससे जल्द आरोग्य हो जाते हैं। इससे कैंसर की बदबू और रक्तस्राव भी दूर हो जाता है।

फीलपा – इस रोग में कुछ ज्यादा दिनों तक और नियमित रूप से दवा देनी पड़ती है। डॉ पियर्स का कहना है – एक व्यक्ति के बाएं पैर में फीलपा हो गया था और वह पैर दुसरे नीरोग पैर की अपेक्षा प्रायः 6 इंच अधिक मोटा हो गया था ; हाइड्रोकोटाइल सेवन करने से उसे विशेष लाभ हुआ। इससे देह में बहुत ज्यादा कुटकुटी होती है और पैर बहुत ज्यादा खुजलाता है।

क्रम – Q से 3 शक्ति।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

Open chat
1
💬 Need help?
Hello 👋
Can we help you?