motapay ka ilaj hindi me – मोटापा घटाने की दवा

431

मोटापा आज कल एक बहुत आम समस्या बन गई है। खान पान में ध्यान ना देना और अनियमित दिनचर्या का फलस्वरूप ही मोटापा है। अगर सही समय पर मोटापा का इलाज ना किया जाए तो यह एक बड़ी बीमारी का रूप ले सकती है। मोटापा कम करने के लिए कई लोग मोटापा कम करने के घरेलू नुस्खे आजमाते हैं, पर हम यहां होम्योपैथी से मोटापा कम करने का उपाय बता रहे हैं जो की बहुत कारगर है।

मोटापा अत्यधिक वसा के एकत्रित हो जाने के कारण उत्पन्न रोग है। यह निम्न कारणों से होता है :

1. ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए आवश्यकता से अधिक भोजन करना।

2. कभी-कभी स्त्रियां बार-बार गर्भपात या ऑपरेशन के कारण मोटापा से ग्रसित हो जाती हैं। यह छोटे ऑपरेशनों में सेलाइन’ या रक्त चढ़ाने के कारण भी हो सकता है।

3. कुछ एलोपैथिक औषधियों, जैसे स्टेरॉयडरहित प्रदाहरोधी औषधियों से भी अनचाहे ही मोटापा उत्पन्न हो जाता है। इनके कारण शरीर में द्रवों के एकत्रित हो जाने के कारण यह रोग होता है।

4. तपेदिकरोधी औषधियों के द्वारा शरीर में वसा-चयापचय (फैट मेटाबोलिज़्म) में परिवर्तन के कारण मोटापा हो सकता है।

5. अर्धकपाली (माइग्रेन) के लिए दी जाने वाली स्टेरॉयड्स’ और ‘सिबेलियम’ मोटापा उत्पन्न करने में सबसे अधिक दोषी होती हैं।

6. हार्मोन असंतुलन इसका दूसरा कारण है। थायरायड ग्रंथि की अल्प क्रियाशीलता उत्पन्न करती हैं।

7. गर्भनिरोधक औषधियों से मोटापा बढ़ता है।

एलोपैथी से मोटापा का इलाज : ‘पोंडेराक्स’ जैसी अनेक औषधियां स्त्रियों को पसंद हैं।

एलोपैथी का प्रभाव :

1. ‘पौंडेराक्स’ (फेन्फ्लारामीन) का सबसे खराब अतिरिक्त प्रभाव अवसाद और औषध पर निर्भरता है।
2. आमाशय और आंतों के रोग (अधोवायु, कब्ज)।
3. चिड़चिड़ापन, निम्न रक्तचाप, बार-बार पेशाब ।।
4. नपुंसकता, यौनेच्छा की कमी।
5. विखंडित मनस्कता (सीज़ोफ्रेनिक) जैसी प्रतिक्रियाएं (भ्रम, विभ्रम और अशांत निद्रा) अक्सर उत्पन्न हो जाती है।

होम्योपैथी से मोटापा का इलाज : विभिन्न प्रकार के मोटापा के लिए :

1. ग्रसित स्त्रियों में मोटापा, दुर्बल हृदय, श्वासरोध, सांस में कल्केरिया : अर्सेनिकम 30, खरखराहट की आवाज से एपिस 30।

2. सामान्य मोटापा, उदर बड़ा और ठंड के प्रति संवेदनशील : कैल्केरिया कार्ब 30 दिन में दो बार।

8. ऑपरेशन के बाद (डी.एवं सी., सिजेरियन आदि) : थायरायड 6x और एपिस 30, दोनों दिन में 2-2 बार।

4. संधियों में पीड़ा के साथ मोटापा (दुष्चक्र) : कैल्केरिया कार्ब 30 और कोल्चिकम 30 दोनों दिन में दो बार।

वजन कम करने का रहस्य यह है कि निवेश (इनपुट) निर्गम (आउटपुट) से कम हो तथा योग-व्यायाम किए जाएं।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.