नाक से खून निकलने ( नकसीर ) का होम्योपैथिक इलाज

522

हमारे शरीर के हर हिस्से, हर ऑर्गन को खून की आवश्यकता होती है, बिना खून के वह हिस्सा बेजान हो जाता है। इसी तरह नाक को भी खून की जरूरत होती है। नाम में खून पहुंचने का काम तीन धमनियां (Arteries) करती है। इन धमियों के नाम निम्न है:-

  1. Anterior and Posterior ethmoidal arteries
  2. Sphenopalatine artery
  3. Superior labial artery

ये तीनों धमनियां नाक में एक जगह जाकर मिलती है जिसे Little’s area कहा जाता है। यह हिस्सा बहुत अधिक नाजुक होता है, आमतौर पर जब रक्तचाप बढ़ जाता है या हम धूप में अधिक देर तक घूमते हैं तो यह हिस्सा फट जाता है और जिसके कारण खून बाहर निकलने लगता है, इस स्थिति को नकसीर (NoseBleed epistaxis) कहा जाता है। कुछ स्थितियों में शरीर के अलग-अलग हिस्सों से भी किसी समस्या के कारण खून निकलता है।

नकसीर के प्रमुख कारण

नकसीर होने का सबसे बड़ा कारण अधिक गर्मी होता है, अधिक गर्म जगह पर रहने के कारण रक्तचाप में अंतर आता है जिस कारण Little’s area के नाजुक होने से खून निकलने लगता है।

  1. नाक पर चोट लगना या नाक के बल गिर जाना या फिर किसी दुर्घटना के कारण भी नाक से बहुत जल्दी खून निकलने लगता है।
  2. रक्तचाप बढ़ जाने पर
  3. नाक में इन्फेक्शन होने पर
  4. पीलिया के कारण भी कई बार नकसीर की समस्या देखी जाती है।
  5. लम्बे समय तक दवाइयों के प्रयोग के कारण
  6. हृदय रोग की समस्या में भी नाक से खून निकलने की संभावना रहती है।

नकसीर के लक्षण

नाक से खून निकलना सबसे बड़ा लक्षण है नकसीर का। नाक से ताजा लाल खून भी निकल सकता है और गाढ़ा भी। नकसीर की समस्या में उल्टी भी हो सकती है और कभी-कभी चक्कर भी आ जाता है। यदि धूप में अधिक देर रहने पर सिर दर्द हो तो कोशिश करनी चाहिए कि हम किसी ठंडी जगह पर चले जाये क्योंकि यह नकसीर के लक्षण हो सकते हैं।

नकसीर की समस्या में इस्तेमाल में लाई जाने वाली होम्योपैथिक दवाइयां

Lachesis 30 CH :- नकसीर में फ्रेश खून के साथ छोटे-छोटे धब्बे भी दिखते हैं, इस समस्या के लिए यह दवाई बहुत ही असरदार है। अगर आपका Little’s area बहुत अधिक नाजुक है खासतौर से बच्चो का Little’s area बहुत अधिक नाज़ुक होता है तो यह दवाई बहुत ही असरदार है। Lachesis 30 CH की दो बूँद दिन में एक बार सुबह के वक्त पीना है और घर में जिसे भी नकसीर की समस्या होती है उसे देना है।

Glonoinum 30 CH :- अगर गर्मियों में अक्सर आपको नकसीर की समस्या हो जाती है या हीट के कारण ये समस्या होती है तो यह दवाई बहुत ही असरदार है। यह दवाई नकसीर की समस्या में सबसे अधिक प्रयोग में लाई जाती है और इसके बहुत ही अच्छे परिणाम देखने को मिलते है। इसकी दो-दो बूँद दिन में तीन बार लेनी है।

Hamamelis Q :- यह दवाई शरीर के किसी भी हिस्से से निकलने वाले खून के लिए लिए कारगर है। यह दवाई नकसीर में बहुत ही लाभदायक है। आधे कप पानी में 20 बूँद Hamamelis Q की डालनी है और उसे पीना है। इस दवाई का सेवन दिन में तीन बार करना है। अगर खून बहुत निकले और रुके ना तो हर 5 मिनट में Hamamelis Q की 10-15 बूँद आधे कप पानी में डालकर पिये।

Trillium Pendulum 30 CH :- अगर आपको ऊपर की बाकी तीनो दवाइयों से आराम नहीं मिल रहा है तो आप इस दवाई का सेवन कर सकते हैं। अगर बार-बार खून निकलता है तो इसकी दो बूँद दिन में तीन बार प्रयोग करे।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.