नाइट्रो-म्यूरिएटिक एसिड [ Nitro Muriatic Acid Homeopathy In Hindi ]

0
1415

यह ऑकजैलुरिया रोग की उत्कृष्ट औषधि है (3 से 5 बूंद नित्य 3 बार सेवन करना चाहिए)। इसके अलावा – मसूढ़े से थोड़े से ही में रक्तस्राव होना, लार बहना, मुख में घाव, जीभ व मुख में छोटे-छोटे छिछले घाव इत्यादि में भी लाभदायक है।

पेशाब – धुआँ की तरह (cloudy), मूत्रनली में जलन lyseden – 20 drops of a 50% solution 3 times a day for irritable bladder, irregular heart and nervous symptoms.

नाइट्रो-म्यूरिएटिक एसिड औषधि के अन्य लक्षण :-

Loading...

आमाशय के लक्षण – रोगी को हर समय भूख लगी रहती है, रोगी जितना भी खा ले उसका पेट नहीं भरता, उसका आमाशय खाली ही रहता है। रात में मुंह में लार ज्यादा बनता है। ऐसे लक्षण में नाइट्रो-म्यूरिएटिक एसिड के सेवन से लाभ होता है।

मल के लक्षण – कब्ज की समस्या होना, बहुत कोशिश के बाद भी मल नहीं निकलता है। मलद्वार की पेशी सिकुड़ जाती है और उसमे अचानक तेजी से दर्द भी होता है। ऐसे में नाइट्रो-म्यूरिएटिक एसिड का उपयोग लाभ देता है।

पेशाब के लक्षण – पेशाब का गन्दा रंग और उसमे जलन के लक्षण में इस मेडिसिन को इस्तेमाल करें।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658

मात्रा – नाइट्रो-म्यूरिएटिक एसिड Q की 20 बून्द को आधे कप पानी के साथ दिन में 3 बार सेवन करने से उपर्युक्त सारे लक्षण ठीक हो जाते हैं।

Loading...
SHARE
Previous articleनिकोलम सल्फ [ Niccolum Sulphuricum Materia Medica In Hindi ]
Next articleनेट्रम सैलीसिलिकम [ Natrum Salicylicum 30 Uses, Benefits And Side Effects In Hindi ]
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here