ओनिस्कस असेल्लस-मिल्लिपेडेस [ Oniscus Asellus Millepedes Homeopathy In Hindi ]

0
308

पेट मे भयानक दर्द के साथ पेट कड़ा हो उठता है। मूत्र नली में जलन व कटने-फटने की तरह दर्द, मलद्वार में प्रबल वेग; किन्तु पाखाना अथवा पेशाब कुछ भी नहीं होता, हृत्पिण्ड के स्थान पर दबाए रखने की तरह दर्द व कै।

निम्नलिखित लक्षण के आधार पर ओनिस्कस असेल्लस-मिल्लिपेडेस का उपयोग करना चाहिए :-

सिर – नाक के जड़ में दबाव महसूस होना, दाहिने कान के पीछे छेदने जैसा दर्द, धमनियों में तीव्र कम्पन जैसे लक्षण में ओनिस्कस असेल्लस-मिल्लिपेडेस इससे लाभ होता है।

Loading...

पेट – पेट के फूल जाने के साथ जोर का दर्द होने पर ओनिस्कस असेल्लस-मिल्लिपेडेस से फायदा होता है।

पेशाब – पेशाब के रास्ते में जोर से जलन और काटने – फटने जैसा दर्द होना, तेज मल का वेग आना परन्तु पाखाना और पेशाब का न निकलना।

सम्बन्ध – इस दवा की तुलना पोथोस फीटिडा, कैन्थे. से की जाती है।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658

मात्रा – 6 शक्ति ।

Loading...
SHARE
Previous articleफाइसैलिस-सोलेनम वेसिकेरियम [ Physalis (Solanum Vesicarium) Homeopathy In Hindi ]
Next articleऊफोरीनम | oophorinum 200c uses, benefits and side effects In Hindi ]
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here