Pet me gas ka gharelu ilaj

458

इस रोग में पेट में वायु रुक जाती है और अफारा सा बनता है । इससे रोगी को बहुत पीड़ा होती है । पुराना कब्ज़, उल्टा-सीधा खान-पान, गलत दिनचर्या, पोष्टिक भोजन का अभाव, गरिष्ट पदार्थों का अधिक सेवन आदि से यह रोग होता है ।

इलाज़ – (1) हरड़, जवाखार, काला नमक, अजवायन और भुनी हींग – इन सबको कूट पीसकर चूर्ण बन लें। इसमें से 6 ग्राम चूर्ण लेकर शहद के साथ चाटने से अफारा मिटता है।

(2) रेंडी का तेल 30 ग्राम लेकर उसमे 6 ग्राम हरड़ का चूर्ण मिलाकर दूध के साथ पी लें – इस प्रयोग से भी अफारा मिटता है ।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.