सोरायसिस का होम्योपैथिक इलाज [ Psoriasis Homeopathic Treatment In Hindi ]

0
7565

इस पोस्ट में हम सोरायसिस क्या है और उसे ठीक करने की होम्योपैथिक मेडिसिन के बारे में जानेंगे।

सबसे पहले समझने की जरुरत है कि सोरायसिस क्या है, सोरायसिस एक प्रकार का चर्म रोग है जिसमे त्वचा के ऊपर एक मोटी परत जम जाती है। सोरायसिस बहुत लम्बे समय तक चलने वाली बीमारी है, ऐसा देखा गया है कि 5 साल, 10 साल और कभी-कभी आजीवन यह रोग हमारे शरीर में रहता है। इसमें हमारे शरीर के सेल दूसरे सेल को मारने लगते हैं और इसके कारण की कुछ लक्षण उत्पन्न होते हैं जिन्हे सोरायसिस कहा जाता है। ये फैलने वाला रोग नहीं है अर्थात यह रोग एक इंसान से दुसरे इंसान को नहीं हुआ करता।

सबसे मुख्य लक्षण ये है कि त्वचा में लाल धब्बे बनने लग जाते हैं जोकि पपड़ी जैसी त्वचा पे चिपकी रहती है और उसमे खुजली होती है। यह रोग बच्चा, जवान या बूढ़ा किसी को भी हो सकता है। यह रोग ज्यादातर गर्दन के पीछे, हाथ की हथेलियों पर, घुटने, कोहनी और पीठ पर होता है।

सोरायसिस का कारण

सोरायसिस होने का कारण अभी तक ज्ञात नहीं हो पाया है लेकिन कुछ चीजें हैं जिससे यह रोग हो सकता है :-

चोट लगना – स्किन पे चोट लगने के कारण उस जगह या उसके आस-पास सोरायसिस हो जाता है।

मानसिक तनाव – अगर आप ज्यादा चिंता करते हैं तो सोरायसिस होने की संभावना बढ़ जाती है।

मादक पदार्थ – स्मोकिंग, अल्कोहल और कॉफ़ी का ज्यादा सेवन भी सोरायसिस का कारण हो सकती है।

दवाओं का साइड इफेक्ट – अगर आपके सोरायसिस का कारण आपका दवा है तो उसे तुरंत बंद कर दें और अपने चिकित्सक से सलाह लें।

सोरायसिस के लक्षण

सोरायसिस में खुजली होती है, अगर सोरायसिस सिर में है तो वो डैन्ड्रफ की तरह दिखेगा। इसमें त्वचा ड्राई होती है और फटने लगती है। स्किन का परत मोटी हो जाती है। अगर सोरायसिस नाखुन में हो जाए तो नाखुन का रंग बदल जायेगा और जड़ से टूट का निकल जायेगा।

होम्योपैथी में सोरायसिस के लिए बहुत अच्छी-अच्छी दवा है, अगर नियमित और समय से खाया जाए तो यह रोग जड़ से ठीक हो जाता है।

Sulphur 200 – अगर सोरायसिस में खुजली ज्यादा होती है तो इस दवा की दो बून्द जीभ पर हफ्ते में एक बार टपका लें। नियमित प्रयोग से सोरायसिस ठीक हो जायेगा।

Ars Iod 200 – सोरायसिस में अगर खुजली करते समय भूसी सा निकलता हो तो उसकी 4 बून्द सुबह-शाम कुछ दिनों तक लेने से सोरायसिस ठीक हो जाता है।

Petroleum 200 – इस दवा का लक्षण है कि सोरायसिस सिर्फ ठण्डे मौसम में होता है और गर्मी के दिनों में ठीक हो जाता है, तो ऐसे में इस दवा की 4 बून्द हफ्ते में एक बार जीभ पे टपका लें। सोरायसिस जड़ से ठीक हो जायेगा।

Graphites 200 – जब सिर पे डैन्ड्रफ की तरह सोरायसिस हो जाए तो इस दवा की 4 बून्द हफ्ते में एक बार जीभ पे टपका लें। सोरायसिस जड़ से ठीक हो जायेगा।

Antim Crud 200 – अगर नाखुन में सोरायसिस हुआ हो और वो धीरे-धीरे टूट रहा हो तो इस दवा की 4 बून्द हफ्ते में 3 दिन जीभ पे टपका लें। नाखुन का सोरायसिस ठीक हो जायेगा।

Rhus Tox 200 – सोरायसिस के साथ अगर जॉइंट्स पेन भी है तो Rhus Tox 200 पोटेंसी की 4 बून्द हफ्ते में एक बार जीभ पे टपका लें।

Carcinosin 200 – सोरायसिस होने पे अपने लक्षण के अनुसार जो दवा ले रहे हैं लेते रहे और बीच-बीच में इस दवा की भी 4 बून्द ले लें। जिद्दी और जल्दी न जाने वाले सोरायसिस के लिए उपयोगी दवा है।

Hydrocotyle 200 – इसमें सोरायसिस का घेरा थोड़ा मोटा हो जाता है ऐसे में इसकी 4 बून्द सुबह-शाम देने से काफी लाभ मिलता है।

सोरायसिस में खुजली हमेशा नहीं रहती परन्तु फिर भी हाथ हमेशा उसपे जाता रहे और रोगी उसे खुजलाता रहे, कोई दूसरा काम न करे तो Natrum Mur 12x और Natrum Sulph 12x की 2-2 गोली बाकि दवाओं के साथ दिन में 3 बार ले लें। इससे सोरायसिस में बहुत फायदा होगा।

Ars Brom Q – सोरायसिस कैसा भी हो, किसी जगह भी हो इस दवा की 4 बून्द आधे कप पानी में खाली पेट सुबह पीने से सोरायसिस जड़ से ठीक हो जायेगा। कुछ दिनों का इसका प्रयोग अवश्य करें।

Reckeweg r65 – अगर सोरायसिस से ज्यादा परेशान हैं तो इस दवा की 10 बून्द आधे कप पानी में डाल कर दिन में 3 बार पी लें। इससे आराम आ जायेगा पर याद रखें इससे सोरायसिस जड़ से ठीक नहीं होगा ये बस तत्काल राहत के लिए है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here