Reckeweg R74 In Hindi [ बेड वेटिंग की जर्मन होम्योपैथिक दवा ]

0
268

कई बच्चे सोते हुए नींद में पेशाब कर देते हैं, इस समस्या को Nocturnal Enuresis कहा जाता है मेडिकल की भाषा में। अगर बच्चे छः साल से बड़े है फिर भी वह बिस्तर गीला कर देते है सोते हुए तो इस समस्या को Nocturnal Enuresis कहा जाता है। यह समस्या लड़के और लड़कियों दोनों के साथ होती है, अगर आपके बच्चे सोते हुए बिस्तर गीला कर रहे है और उनकी उम्र छः-सात साल से अधिक है तो इसके लिए एक होम्योपैथी दवाई आती है, जोकि जर्मन की होम्‍योपैथी दवाई है जिससे बच्चों की यह समस्या ठीक हो जाएगी। यह जर्मन होम्योपैथी दवाई है:-

Reckeweg R74 :- यह दवाई Dr. reckeweg की जर्मन की दवाई है, यह Bed Wetting की समस्या के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। बच्चा छोटा है या बड़ा, यह दवाई सभी के लिए बराबर फायदेमंद है। इसमें कई सारी होम्योपैथी दवाईयाँ मिली हुई है जोकि बच्चे की Nervous System को नियंत्रित करती है और उन्हें नींद में पेशाब की समस्या से राहत दिलाती है, यह दवाईयाँ निम्न है:-

Calcium Phos. D30, Causticum Hah. D30, Ferrum Phos. D8, Kalium Phosphoricum D12, Pulsatilla D12, Sepia D6

Loading...

Calcium Phos. :- अगर बच्चा बहुत कमजोर है साथ ही उसे Bed Wetting की समस्या भी है तो यह दवाई बहुत ही असरदार है।

Pulsatilla :- यदि बड़े बच्चों में Nocturnal Enuresis की समस्या होती है तो यह दवाई बहुत ही फायदेमंद है।

Ferrum Phos. :- यदि दिन में सोते समय बच्चे बिस्तर गीला करते है और उन्हें Nocturnal Enuresis की समस्या है तो यह बहुत ही कारगर दवाई है इस समस्या के लिए।

Kalium Phosphoricum :- अगर आपके बच्चे को नर्वस से सम्बन्धित कोई समस्या है तो यह दवाई उस समस्या को ठीक करती है।

Sepia :- अगर बच्चा सोते ही पेशाब कर देता है तो यह बहुत ही असरदार दवाई है।

R74 इस्तेमाल करने की विधि :- जिन बच्चों की उम्र 6 से 10 के बीच है और अगर उन्हें Nocturnal Enuresis अर्थात Bed Wetting की समस्या है तो उन्हें एक चौथाई कप पानी में R74 की 8-10 बून्द डाल कर दिन में तीन बार पिलाना है। शुरुआत में यह दवाई दिन में तीन बार देनी है, जैसे ही यह समस्या ठीक होने लगे तो इसे दो बाद देने लगना है दिन में और इस दवाई को तीन से छः महीने तक देना है बच्चे को।

जिन बच्चों की उम्र 10 से 15 के बीच है उन्हें इस दवाई की 10 से 15 बून्द दिन में तीन से चार बार देनी है, और उन्हें भी शुरुआत में दिन में तीन बार देना है और धीरे-धीरे कम करना है जब ठीक होने लगे तो।

यदि कोई 15 से बड़ा है और उसे भी Nocturnal Enuresis की समस्या है तो उसे भी यह दवाई दिन में तीन बार देनी है शुरू में। इन बच्चों को इस दवाई की 15 से 20 बून्द देनी है दिन में तीन बार, और इन्हे भी तीन से छः महीने तक यह दवाई देनी है।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658

नोट :- R74 बहुत ही असरदार दवाई है Nocturnal Enuresis की समस्या के लिये, इस दवाई के साथ आपको एक और दवाई देनी है बच्चों को। यह दवाई है Equisetum, अगर बच्चा 10 साल से छोटा है तो इसकी एक बून्द दिन में तीन बार पिलानी है और अगर 10 साल से बड़ा बच्चा है तो दो बून्द दिन में तीन बार पिलाना है। इन दोनों दवाइयों के सेवन से Bed Wetting की समस्या अच्छे से ठीक हो जाएगी। यदि आप पेशाब नहीं करना चाहते फिर भी पेशाब निकल जाती है, या आपको खांसते हुए या छींकते हुए भी पेशाब निकल जाती है तो यह दवाई बहुत ही असरदार है। यदि आपकी उम्र 70 से अधिक है और किसी कारण से अचानक पेशाब निकल जाती है तो भी यह दोनों दवाईयाँ ली जा सकती है इस समस्या को ठीक करने के लिए। यह दवाई किसी भी बड़ी होम्योपैथी दूकान पर मिल जाएगी।

Loading...
SHARE
Previous articleAstacus Fluviatilis 30 Uses In Hindi [ चकत्ते की होम्योपैथिक दवा ]
Next articleReckeweg R23 In Hindi [ Eczema Ki German Homeopathic Dawa ]
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here