सिरदर्द दूर करने के घरेलू उपाय, कारण, लक्षण

342

सिरदर्द का कारण – सिरदर्द शरीर की विभिन्न बीमारियों के फलस्वरूप होता हैं, जैसे-सिर की चोट, साइनूसाइटिस, कम या अधिक रक्तचाप, गुर्दीय बीमारी, मस्तिष्कीय ट्यूमर, माइग्रेन, आंखों का तनाव या गलत चश्में का उपयोग, एनीमिया, अत्यधिक कार्य, नींद की कमी, आमाशय की गड़बड़ी रहने व सोने के कमरे में अपर्याप्त वायु संचार और मानसिक तनाव सिरदर्द के मुख्य कारण हैं। सर्दी-गर्मी लग जाने पर, रक्त संग्रह, यकृत विकार, कब्ज आदि कारणों से भी सिरदर्द होता है।

लक्षण – यह दर्द कभी पूरे तो कभी आधे सिर में होता है। लगातार या बहुत तेज सिरदर्द होने पर उल्टियां होने लगती हैं। उल्टियां होने पर सिरदर्द में कमी हो जाती है। आधे सिर दर्द में प्राय: सूर्य निकलने पर दर्द आरम्भ होता है। सूर्य अस्त होने पर एक तरफ पहली तरफ ठीक होकर दूसरी तरफ होने लगता है।

सिरदर्द का घरेलू इलाज

Sir Dard (Headache) Ke Gharelu Upay

– लौंग पीसकर, हल्का गर्म करके, जिस भाग में दर्द हो उसमें लगाएं।

– बड़ी इलायची का छिलका खूब पीसकर हल्का गर्म करके सिर में लगाने से दर्द मिट जायेगा।

– रीठे को पानी में पीसकर नस्य देने से आधसीसी का दर्द मिट जायेगा।

– केसर को घी में पीसकर सूंघने से आधासीसी का दर्द चला जायेगा।

– गाजर के पत्तों को पानी में उबालकर, उस पानी को ठण्डा करके नाक और कान में डालने से पुराने-से-पुराना आधे सिर का दर्द दूर हो जायेगा।

– बादाम के तेल में केसर मिलाकर दिन में 3 बार सूंघने से दर्द कम हो जायेगा।

– पुरानी रुई का धुआँ नाक से खींचने से आधे सिर के दर्द में आराम मिलेगा।

– आधसीसी दर्द हो तो सिरस के बीजों को पीसकर नाक में 2-3 बूँद टपकायें।

– सिरस के फूलों को गीले रुमाल में लपेटकर सूर्योदय से पहले सूंघे। सिरदर्द होगा ही नहीं।

– सिरस के बीज पीसकर सूंघने से सिरदर्द ठीक हो जायेगा।

– सिरदर्द हो तो ताजे भुने चने पोटली में बाँधकर नाक से सूंधिये तथा माथे पर भी फेरिये।

– गाय का ताजा घी प्रात:-सायं नाक में चढ़ाने से नाक से खून का गिरना और आधासीसी जड़मूल से नष्ट हो जाता है।

– जिधर के भाग में दर्द हो उधर के नथुने में 10 बूंदें कड़वा (सरसों का) तेल डालकर सुंधाने से दर्द एकदम बन्द हो जाता है। दो चार दिन इस प्रकार करने से दर्द सदा के लिये मिट जाता है।

– जिस ओर दर्द हो उस ओर के कान में कागजी नींबू के रस की 3-4 बूंदें डाल दें। दर्द तुरन्त मिट जायेगा।

– खाने वाले तेज तम्बाकू के पत्तों को सुरमें की भाँति बारीक पीस लें, फिर जिस ओर दर्द ही उससे विपरीत ओर की अांख में एक सलाई अच्छी प्रकार लगा दें। आधासीसी के दर्द को दूर करने के लिये यह अद्वितीय है। एक बार लगाने से पूर्ण लाभ न हो तो सलाई पुन: लगा सकते हैं। यदि दूसरे दिन भी दर्द अनुभव हो तो उस दिन भी सलाई लगा सकते हैं। 2-3 घण्टे पश्चात आंखों पर मक्खन लगा सकते हैं।

– सिरदर्द होने पर नींबू को चाय में निचोड़ कर पीने से लाभ होता है। नींबू की पत्तियों को कूट कर रस निकालकर रस को सूंघे। जिन्हें हमेशा दर्द रहता है, वे यह उपाय करें। इससे सदा के लिये सिरदर्द ठीक हो जायेगा। नींबू की पत्तियों को सुखाकर प्रतिदिन प्रात: सूंघने व चाय पीने से चमत्कारिक लाभ मिलेगा।

– नारियल की 25 ग्राम सूखी गिरी और इतनी मिश्री सूर्य उगने से पहले खाने से सिरदर्द बन्द हो जाता हैं।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.