Snake Bites Treatment – साँप द्वारा काटना

883

यदि किसी व्यक्ति को सौंप काट ले तो साँप के काटते ही तुरन्त कटी हुई जगह से कुछ ऊपर रस्सी से खूब कसकर वन्ध बाँध देना चाहिये । इस काटे हुए स्थान पर किसी तेज चाकू या धारदार हथियार से + का निशान लगाकर चीर देना चाहिये और चारों तरफ से कसकर दाब-दाबकर खून निकाल देना चाहिये ताकि खून के साथ साँप का जहर भी बाहर निकल जाये । इसके बाद पोटाशियम परमैंगनेट को लगभग एक ग्रेन की मात्रा में लेकर जरा-से पानी में घोलकर दंशित स्थान पर लगा दें और उस स्थान को धीरे-धीरे भलीभाँति धिसें । कुछ देर तक घिसने के बाद वह स्थान काला पड़ जायेगा। तब उस स्थान पर किसी स्वच्छ या मुलायम वस्त्र को रखकर बाँध दें । फिर ऊपर वर्णित रस्सी के तीनों बन्ध खोल दें । अगर यह उपचार तत्काल किया जाये तो साँप का विष प्रभावहीन हो जायेगा ।

अगर उक्त उपचार करने में कुछ देर हो जाये तो इस उपचार को करने के साथ-साथ रोगी को तुरन्त किसी योग्य डॉक्टर के पास ले जायें ।

यदि साँप द्वारा काटे गये व्यक्ति को वमन करानी हो तो उसे इपिकाक विचूर्ण 25-30 ग्रेन की मात्रा में खिला देना चाहिये- इससे वमन हो जायेगी। व्यक्ति को बीच-बीच में आर्सेनिक 3 का सेवन भी कराना चाहिये ।

साँप द्वारा काटने के पश्चात् व्यक्ति को कम से कम चौबीस घंटे तक सोने नहीं देना चाहिये ।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed.