Recent Posts

चेहरे पे तिल की होम्योपैथिक दवा [ Homeopathic Medicine For Moles In Hindi ]

इस पोस्ट में हम चेहरे या शरीर में तिल हो जाने और उसे दूर करने की होम्योपैथिक दवा के बारे में जानेंगे। तिल सभी के शरीर या चेहरे पर होता ही है परन्तु किसी-किसी के चेहरे या शरीर पर ज्यादा तिल हो जाते हैं जोकि व्यक्ति की खूबसूरती को ख़राब कर…

कार, बस, ट्रेन में सफर के दौरान उल्टी की होम्योपैथिक दवा

इस पोस्ट में हम जानेंगे की जिन लोगों को बस, कार और ट्रेन में बैठने के बाद उल्टी जैसी महसूस होने लगती है और उल्टी आ भी जाती है, उनका होम्योपैथिक दवा क्या है जिससे उनका motion sickness ठीक हो जायेगा। हम सभी सफर करना पसंद करते हैं, पर कुछ…

Homeopathic Fairness Cream For Men In Hindi [ मेन फेयरनेस होम्योपैथिक क्रीम ]

इस पोस्ट में हम जानेंगे की मर्दों के गोरेपन की होम्योपैथिक क्रीम कौन सी है और इसका किस तरह से इस्तेमाल करके लड़के अपने स्किन को फेयर कर सकते हैं। जब हम घर से बाहर निकलते हैं तो कुछ न कुछ क्रीम लगा कर निकलते हैं ताकि हमारा चेहरा फेयर दिखे,…

Homeopathic Medicine For Dark Circle In Hindi [ डार्क सर्कल की होम्योपैथिक दवा ]

इस पोस्ट में हम dark circle ( आँखों के नीचे काले घेरे ) और उसे दूर करने के होम्योपैथिक दवा के बारे में जानेंगे। डार्क सर्कल ( dark sarkal ) के कारण पहला सबसे मुख्य कारण genetical ( अनुवांशिक ) है। अगर आपके माता या पिता को भी आँखों के…

Homeopathic Treatment For Peritonitis In Hindi [ पेरिटोनिटिस का होम्योपैथिक उपचार ]

कारण - पेट से लेकर आंतों तक के सम्पूर्ण अंग-समूह जिस झिल्ली द्वारा ढँके रहते हैं, उसे 'उदर-कला' अथवा 'अन्त्रावरक-झिल्ली' (Peritoneum) कहा जाता हैं । नश्तर, चोट अथवा सर्दी लगना, रक्त की विष-क्रिया, पाकाशय की आँतों में छिद्र होना अथवा नाभि का…

Homeopathic Treatment Of Sciatica In Hindi [ Sciatica का होम्योपैथिक इलाज ]

इस पोस्ट में हम sciatica और उसकी होम्योपैथिक दवा के बारे में जानेंगे। Sciatica एक तरह का neuralgia है। Neuralgia में नसों में सूजन आ जाती है, ऐसे दर्द होता है, जैसा करंट मारने में होता है। Sciatic Nerve के दबने के कारण उसमे neuralgia…

Homeopathic Medicine For Varicose Veins In Hindi [ वैरिकोज वेन्स का होम्योपैथिक इलाज ]

इस पोस्ट में हम varicose veins और उसकी होम्योपैथिक दवा के बारे में जानेंगे। Veins का काम हमारे शरीर से खून को हृदय की तरह ले जाने का होता है और arteries का काम हृदय से खून को पूरे शरीर में पहुंचने का होता है। खून को हृदय तक ले जाने वाली…

Enteritis Homeopathic Treatment In Hindi [ आंत्र प्रदाह ]

आंते दो प्रकार की होती हैं - (1) छोटी तथा (2) बड़ी । इनमें से किसी एक अथवा दोनों ही आंतों में प्रदाह उत्पन्न हो सकता है । लक्षण - बड़ी आंत यदि बहुत समय तक प्रदाहित बनी रहे तो उससे आँव अथवा श्लेष्मा निकलता है । यह बीमारी सरलता से ठीक नहीं…

पाकाशय में घाव [ Stomach Ulcer Homeopathic Treatment In Hindi ]

कारण - अधिक दिनों तक अजीर्ण की शिकायत रहने पर उसके साथ ही पाकाशय में घाव भी हो जाता है। यह रोग पुरुषों की अपेक्षा कठिन परिश्रम करने वाली गरीब स्त्रियों को अधिक होता है । अधिक गर्म चाय का सेवन, रताल्पता, यक्ष्मा, अर्श, रजोरोध तथा गर्भावस्था…

Homeopathic Remedies For Stomach Pain In Hindi [ पेट दर्द का होम्योपैथिक दवा ]

लक्षण - भोजनोपरान्त पाकाशय में खरोंचने जैसा अथवा कस कर पकड़ने जैसा, खाद्य-पदार्थ के पेट में पहुँचते ही दर्द में वृद्धि, खट्टी अथवा तीते स्वादयुक्त डकारें, वमन अथवा वमनोपरान्त दर्द में कमी का अनुभव-ये सब इस रोग के लक्षण हैं । कारण - यह…

Dilatation Of The Stomach Homeopathy Hindi

कारण - अधिक खान-पान के कारण पाकाशय का नीचे का मुँह जब बन्द हो जाता है, तब इस रोग की उत्पत्ति होती है । रोग के बहुत पुराने हो जाने पर, शरीर के अन्य-यन्त्र भी विकार-ग्रस्त हो सकते हैं। लक्षण - पेट बढ़ जाना, अधिक कब्ज, खट्टी वमन, वमन का रंग…

पेट में धंसने की अनुभूति का होम्योपैथिक इलाज [ Sinking Sensation Homeopathy Hindi ]

यदि पेट के धंसने जैसी अनुभूति हो तो उसमें लक्षणानुसार निम्नलिखित औषधियों का प्रयोग हितकर सिद्ध होता है। इस रोग को 'खो पड़ना' भी कहा जाता है। सिमिसिफ्यूगा 3 - जरायु-दोष के कारण स्त्रियों को पेट धंसता हुआ सा अनुभव होता हो तो इसका प्रयोग…

Homeopathic Remedies For Gallstone In Hindi [ पित्त पथरी का होम्योपैथिक इलाज ]

कारण - खान-पान के दोष से पित्त-कोष अथवा पित्त-वाहिनी में जब पित्त-रस पत्थर के कण के रूप में परिवर्तित हो जाता है, तब उसे 'पित्त-पथरी' कहा जाता है। लक्षण - पत्थर के कण के रूप में परिवर्तित ये पित्त-कण मटर के दाने के बराबर छोटे अथवा कबूतर के…

Homeopathic Treatment Of Melasma In Hindi [ चेहरे की झाई का होम्योपैथिक इलाज ]

इस पोस्ट में हम मेलास्मा ( चेहरे पर झाइयां ) के बारे में जानेंगे और उसके होम्योपैथिक दवा की चर्चा करेंगे। मेलास्मा ज्यादतर प्रेग्नेंट महिलाओं हो हुआ करता है। मेलास्मा में चेहरे के ऊपर काला धब्बा हो जाया करता है। इस तरह के धब्बे में खुजली…

Homeopathic Medicine For Open Pores In Hindi [ ओपन पोर्स होम्योपैथिक इलाज ]

Open pores चेहरे की बहुत बड़ी समस्या है, ये age के साथ-साथ बढ़ती ही जाती है। इस पोस्ट में हम Open pores की बात करेंगे और जानेंगे की इसकी होम्योपैथिक दवा कौन सी हैं। हमारे चेहरे की त्वचा पे बहुत सारे छोटे-छोटे pores (पोर्स) होते हैं जोकि…

थायराइड की होम्योपैथिक दवा [ Homeopathic Medicine For Hypothyroidism In Hindi ]

इस पोस्ट में हम hypothyroidism ( थायराइड ) की होम्योपैथिक दवा के बारे में जानेंगे। हमारे ब्रेन के नीचे एक Pituitary gland होती है, इसी gland से एक TSH ( थायरॉयड उत्तेजक हार्मोन ) निकलता है जोकि थायरॉयड gland में जाकर उसे निर्देश देता है की…

खून की उल्टी का होम्योपैथिक दवा [ Homeopathic Remedies Of Haematemesis In Hindi ]

कारण - अत्यधिक मैथुन, शोक, व्यायाम, अनुकल्प रज: तथा धूप में भ्रमण आदि कारणों से रक्त-वमन की शिकायत उत्पन्न होती है, क्षार, अन्न, नमक, खट्टी वस्तुएँ एवं मिर्च आदि तीक्ष्ण वस्तुओं के सेवन के कारण रक्त दूषित होकर शरीर के उर्ध्व-भाग अथवा…

बार बार पेट खराब होने का होम्योपैथिक दवा [ Homeopathy For Gastric Derangements In Hindi ]

बार बार पेट खराब होना, पेट की विभिन्न बीमारियों में लक्षणानुसार निम्नलिखित औषधियों का प्रयोग हितकर सिद्ध होता है :- नक्स-वोमिका - मानसिक-श्रम की अधिकता, शारीरिक-परिश्रम की कमी, माँस-मदिरा आदि का सेवन, बैठे रहना, व्यभिचार, रात्रि-जागरण…

Homeopathic Medicine For Tympanites In Hindi [ पेट फूलना होम्योपैथिक दवा ]

कारण तथा लक्षण - यह बीमारी ज्वर, हैजा तथा सन्निपातिक ज्वर आदि के उपसर्ग के रूप में प्रकट होती है :- चिकित्सा - इस रोग में निम्नलिखित औषधियाँ लाभ करती हैं :- टरपेन्टाइल आइल - ज्वर अथवा प्रदाह के कारण पेट फूल जाने पर, एक फ्लानेल के…

Homeopathic Remedies For Flatulence In Hindi [ अफारा का होम्योपैथिक इलाज ]

कारण और लक्षण - इसे किसी अन्य रोग का उपसर्ग मात्र कहा जा सकता है। कलेजे में जलन, कलेजे का धड़कना, पेट में गड़गड़ाहट का शब्द, पेट फूलना, डकारें आना, अधोवायु का निकलना, बारम्बार पेशाब का होना अथवा मूत्रकृच्छता-इस रोग के मुख्य लक्षण हैं।…

Loading...

Open chat
पुराने रोग के इलाज के लिए संपर्क करें