एडेनोइड्स का होम्योपैथिक इलाज || Homeopathic Treatment For Enlarged Adenoids In Hindi

0 150

Homeopathic Treatment For Enlarged Adenoids In Hindi

इस लेख में हम ENLARGED ADENOIDS के एक केस की चर्चा करेंगे कि कैसे होम्योपैथिक दवा से इस समस्या का समाधान किया गया।

एक 12 वर्ष का बच्चा अपने माता-पिता के साथ पिछले कुछ महीनों से नाक बंद होने की शिकायत लेकर आया। बच्चे को बढ़े हुए पोस्टीरियर एडेनोइड्स की समस्या थी।

ऐसे में बच्चे को मुंह से सांस लेना पड़ता था। वह पिछले 3 साल से बार-बार सर्दी-खांसी से पीड़ित भी रहता था । सर्दी और बरसात के मौसम में शिकायत बढ़ जाती है।

मैंने उसके पिता से बच्चे के बारे में पुछा तो उन्होंने बताया कि :- यह खुद में reserved रहने वाला बच्चा है, ज्यादा एक्सप्रेस नहीं करता है और वह बहुत इमोशनल है ।

वह घर पर ही रहना पसंद करता है, हालाँकि वह नीचे अपने दोस्तों के साथ खेलने जाता है। इसे स्कूल में स्टेज पर परफॉर्म करना पसंद है। Stage fear नहीं है।

अपनी उंगली को मुँह में डालता है। उसके पिता ने कहा कि जब वह भावुक होता है तो अपने मुंह में उंगली डालता है। वह ऐसा नहीं करने की कोशिश भी करता है।

शारीरक लक्षण पूछने पर उन्होंने बताया कि :- भूख- सामान्य, प्यास- 1-2 लीटर/दिन, मल, मूत्र – संतोषजनक, दिन में एक बार, पसीना – मध्यम, परिश्रम पर, गर्मी बर्दास्त नहीं होता है, बच्चा ग्रीष्म प्रकृति का है।

इच्छा – मिठाई, चॉकलेट, चलना – 12 महीने, देर से बात करनाः ढाई साल बाद बच्चे ने दो अक्षर वाले शब्दों में बोलना शुरू किया लेकिन बाद में तेजी से बोलने लगे। यहाँ यह बात नोट करने वाली है।

पूरे मामले के बाद रुब्रिक देखें तो :- खुद में reserved रहने वाला, बच्चा मुंह में उंगली डालता है, बात करना देर से सीखा, मिठाई खाने की इच्छा

एडेनोइड्स की सूजन, नाक बंद होने पर मुंह से सांस लेनी पड़ती है, जो दवा सबसे अधिक आए वे थे कैल्केरिया, नैट्रम म्यूर, सल्फर, Tuberculinum ।

Reserved रहना में कैल्केरिया और नैट्रम म्यूर टॉप ग्रेड की दवा है। बच्चा मुंह में उंगली डालने में कैल्केरिया और नैट्रम म्यूर टॉप ग्रेड की दवा है। देरी से बोलना सिखने में कैल्केरिया और नैट्रम म्यूर टॉप ग्रेड की दवा है

मीठा खाने की इच्छा में कैल्केरिया, सल्फर, Tuberculinum टॉप ग्रेड की दवा है। एडेनोइड्स में कैल्केरिया और Tuberculinum टॉप ग्रेड की दवा है।

मैंने नैट्रम म्यूरिएटिकम को थर्मल मोडैलिटी के आधार पर चुना क्यूंकि रोगी ग्रीष्म प्रकृति का था। ऐसे में मैंने नैट्रम मुर 200 की 2 बून्द हफ्ते में एक बार लेने की सलाह दी।

नैट्रम मुर 200 के सेवन से धीरे-धीरे नोज ब्लॉक की समस्या, सर्दी, जुकाम और एडेनोइड्स की सूजन पूरी तरह से ठीक हो गई।

बच्चे के जन्म के इतिहास पर विचार करना बेहद जरूरी है। यहाँ देर से बात करना सीखना एक महत्वपूर्ण लक्षण बन जाता है।

बच्चा मुंह में अपनी उंगली डाल रहा है, ग्रीष्म प्रकृति का है, reserved और भावनात्मक दिखाता है। धीरे-धीरे बात करना सीखना नेट्रम मुर के महत्वपूर्ण लक्षणों में से एक है ।

Video On ENLARGED ADENOIDS

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पुराने रोग के इलाज के लिए संपर्क करें