Homeopathic Medicine On Excessive Thirst and Thirstless In Hindi

0 44

Homeopathic Medicine On Excessive Thirst and Thirstless: इस लेख में हम चर्चा करेंगे कि किस दवा में कितना प्यास रहता है, रोगी को प्यास लगता है या नहीं लगता, इसके आधार पर कौन सी दवा दी जाती है।

होम्योपैथिक दवा जिसमे प्यास नहीं रहती

(1) ऐन्टिम क्रूड – प्यास बिल्कुल न होना। जिस किसी रोग में भी इस दवा की आवश्यकता होगी उसमें जीभ पर सफेद लेप अवश्य होगा। जीभ की सफेदी अनेक औषधियों में हैं, परन्तु ऐन्टिम क्रूड जितनी सफेदी किसी दुसरे दवा में नहीं है। इसमें जो खाना खाया गया है उसका वैसा ही डकार आता है, और जीभ का सफेद लेप – यह सब इस औषधि से जल्दी ठीक हो जाता है, प्यास बिल्कुल नहीं होती।

(2) चायना – बुख़ार में गर्मी की हालत में प्यास न होना । इसका विचित्र-लक्षण है कि खाना खाते समय प्यास न होना। परन्तु अगर कोई लीवर की समस्या के साथ बहुत अधिक प्यास लगे तो चायना काम करता है।

(3) एपिस – इसके रोगी को गर्मी की हालत में भी प्यास नहीं लगती।

(4) साइक्लेमेन – दिन भर प्यास न होना परन्तु शाम को प्यास लौट आना; नमकीन स्वाद होना।

(5) पल्सेटिला – प्यास बिल्कुल नष्ट हो जाती है। इसके रोगी का मुंह सूखा रहता है, सूखा रहने पर प्यास लगना चाहिए, परन्तु फिर भी प्यास नहीं रहती।

(6) जेल्सीमियम – इस औषधि के रोगी को भी प्यास नहीं लगती। संपूर्ण शरीर की शिथिलता, हाथ-पैर की थकान, सुस्ती, नींद आते रहना, ऊंघते रहना, अर्ध-निद्रित अवस्था में रहना, टाँगों का लड़खड़ाना, शरीर के अंगों का कांपना या सारे शरीर का कंपन। जाड़ा न रहने पर भी शरीर का काँपना, प्यास नहीं रहती, रोगी का अपनी इच्छानुसार अंगों से काम न ले सकना – ऐसा रोगी होता है जेलसीमियम का।

होम्योपैथिक दवा जिसमे अधिक प्यास रहती है

(1) आर्सेनिक – न मिटने वाला प्यास, प्यास इतनी कि बुझती ही नहीं। मुंह ख़ुश्क रहता है, पानी पीता जाता है, बार-बार किन्तु थोड़ा-थोड़ा। सूका हुआ मुंह; ठंडा पानी चाहता है।

(2) बेलाडोना – ठंडे पानी का अधिक प्यास; मुंह तथा गला सूखे होते हैं; पानी पीने में कठिनाई होती है।

(3) कैन्थरिस – प्यास बहुत होती है, गले और पेट में जलन होती है।

(4) ब्रायोनिया – प्यास बहुत होती है, हर बार खूब-सा पाना पीता है, आर्सेनिक थोड़ा-थोड़ा, ब्रायोनिया बहुत-बहुत।

(5) डलकेमारा – प्यास तो बहुत होती है, परन्तु पानी पीते ही उल्टी आ जाती है।

(6) नैट्रम म्यूर – बुखार में जब ठंड लग रही होती है, तब बेहद प्यास लगती है, जो एक विचित्र-लक्षण लक्षण है।

(7) सल्फर – अत्यधिक प्यास के साथ मीठा खाने का बहुत मन करना इस दवा का लक्षण है।

(8) Silicea – इसमें में अत्यधिक प्यास रहता है साथ में मांस खाने की इच्छा हो और गर्म खाना खाने की इच्छा हो तो Silicea दें।

Video On Excessive Thirst and Thirstless

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पुराने रोग के इलाज के लिए संपर्क करें