लैपटेण्ड्रा [ Leptandra Virginica Materia Medica In Hindi ]

0
234
Leptandra Virginica

[ युनाइटेड स्टेट्स अमेरिका के एक तरह के गुल्म की जड़ से मूल अर्क तैयार होता है ] – यकृत-विकृति, यकृत में तनाव का दर्द, ज्यादा परिमाण में काला अलकतरे-जैसा बदबूदार मल, किसी भी बीमारी में मल का उक्त प्रकार का लक्षण हो तो सबसे पहले लैपटेण्ड्रा का प्रयोग करना चाहिए ( मल का रंग कीचड़ के रंग के समान होने पर इससे फायदा होता है। )

चरित्रगत लक्षण :-

  1. यकृत की विकृति तथा अलकतरे-जैसा काला और गोंद जैसा लसदार मल।
  2. पित्त-धातु, पित्त-विकार की वजह से होने वाला सिर-दर्द, कब्ज, मुंह का स्वाद तीता।
  3. कामला और उसके साथ ही कीचड़ के रंग जैसा मल।
  4. पैत्तिक-ज्वर, यकृत की पुरानी सब तरह की बीमारी और रक्त-संचय।
  5. पेट में ऐंठन का दर्द, किन्तु कूथन का न रहना।
Loading...

पेचिश हो या अतिसार अथवा सविराम, अविराम, वात-श्लेष्मा इत्यादि किसी भी तरह का ज्वर क्यों न हो, उसके साथ अलकतरे जैसा काला मल हो तो – लैपटेण्ड्रा का प्रयोग अवश्य करना चाहिए। मर्क्यूरियस में भी कभी-कभी अलकतरे की तरह काला बदबूदार दस्त हुआ करती है, परन्तु उसमे दस्त के साथ और बाद में बहुत कूथन और वेग रहता है। लैपटेण्ड्रा में न तो वैसा वेग रहता है और न ही कूथन, बल्कि इसमें यकृत के स्थान में दर्द और पेट में ऐंठन रहती है। कीचड़ के रंग का दस्त और साथ कामला – यह लक्षण लैपटेण्ड्रा में अधिक है।

यकृत की बीमारी – पित्तकोष और यकृत के स्थान पर तनाव का दर्द, दर्द पीठ तक चला जाना, थोड़ा-बहुत ऐंठन का दर्द बराबर बना रहना, यकृत में बहुत अधिक रक्तसंचय और उसकी वजह से यकृत की जगह और पेट में जलन, पित्त-वमन, जीभ में काला या नीले रंग का लेप-सा चढ़ा रहना, काले रंग का दस्त, दस्त के बाद पेट में ऐंठन का दर्द, नाभि की जगह पर शूल का दर्द, काले रंग का पेशाब, बायें कंधे और बाएं हाथ में दर्द इत्यादि लक्षण में लैपटेण्ड्रा लाभ करता है।

बवासीर – खूनी बवासीर में भी इससे फायदा होता है।

सदृश – चेलिडो, मर्क, डिजि।

डॉ नैश को एक बार पाण्डु-रोग हो गया था, जिससे उन्हें कभी काले रंग का और कभी सफ़ेद रंग का दस्त होने लगा। पहले औरम म्यूर नैट से फायदा न हुआ तो बाद में लैपटेण्ड्रा सेवन करके वो स्वस्थ हो गए।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658

क्रम – 2x से 3 शक्ति।

Loading...
SHARE
Previous articleलेम्ना माइनर [ Lemna Minor 200 Homeopathy In Hindi ]
Next articleहैलियांथस [ Helianthus Annuus Homeopathy In Hindi ]
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here