Browsing Category

Types of fever

Best Homeopathic Medicine For Catarrhal Fever in Hindi – सर्दी के बुखार का होम्योपैथिक दवा

पानी में भींगना, सर्दी अथवा ओस लगना, एकदम सर्दी से गर्मी जा पहुँचना, एकदम पसीना बन्द कर देना, पेट का गर्म होना, दही, खटाई आदि श्लेष्मा-कारक वस्तुओं का अधिक सेवन आदि कारणों से जो…

Fever Treatment In Homeopathy In Hindi – सामान्य ज्वर ( बुखार ) का होम्योपैथिक उपचार

शरीर के स्वाभाविक-तापमान में अधिक वृद्धि हो जाने को ही 'ज्वर' (Fever) कहा जाता है । शरीर के किसी भाग अथवा अवयव में जब प्रदाह उत्पन्न होता है अथवा शरीर के रक्त में कोई 'विष'…

इन्फ्लूएंजा रोग के लिए होम्योपैथिक दवा

जेलसीमियम - डॉ० टैम्पलटन लिखते हैं कि 100 रोगियों में से 36 प्रतिशत जेल्स से ठीक हुए हैं। 'फ्लु' के लक्षणों में अगर सारा शरीर दुखता हो, सिर-दर्द, खांसी-जुकाम हो, अत्यन्त कमजोरी हो,…

बुखार की रामबाण दवा – Bukhar Ka Dawa

भिन्न-भिन्न ज्वरों की मुख्य-मुख्य औषधियां बुखार को मुख्य तौर पर तीन भागों में बांटा जा सकता है - (1) साधारण बुखार (Simple fever) जो सर्दी लग जाने से, धूप में घमूने से, पानी में…

टी बी का होमियोपैथिक उपचार – टी बी से बचाव

क्षयरोग को तपेदिक और टी.बी.भी कहते हैं। 'माइकोबैक्टिरियम ट्यूबरकुलोसिस' नामक जीवाणु के संक्रमण से यह रोग उत्पन्न होता है। जो लोग शरीर और स्वास्थ्य से ज्यादा कमजोर होते हैं और जिनके…

मलेरिया का लक्षण, कारण और होमियोपैथिक उपचार

मलेरिया से दुनिया भर में पन्द्रह लाख लोगों की मृत्यु हो जाती है। ये आंकड़े अमेरिका की नेशनल एकेडमी आफ साइसेज की ताजा रिपोर्ट में दिए गए हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि मलेरिया गर्म…

Pneumonia Homeopathic Treatment In Hindi – निमोनिया का इलाज

निमोनिया सदीं लगने से होता है। ज्वर में बदपरहेजी या फिर ठंडा पानी पीना, ठंडे पदार्थ खाना, बहुत मेहनत का काम करने से यह रोग हो जाता है। ऋतु-परिवर्तन के समय भी यह रोग ठंडी हवा लगने…

Sun Stroke Treatment In Homeopathy – लू का इलाज

लू लगने का प्रमुख कारण एक ही होता है और वह है सूर्य की धूप और तेज गर्म हवा का शरीर पर, विशेषकर सिर पर तीव्र आघात होना। इसीलिए इसे अंशधातु या सनस्ट्रोक कहते हैं। यह रोग अचानक ही…

typhoid ka ilaj in hindi – टायफाइड का इलाज

जीवाणु द्वारा संक्रमित खाना, दूध अथवा पानी पीने के कारण यह रोग होता है। यह रोग सालमोनेलापेराटाइफी ए.व.बी.एवं मुख्यतया सालमोनेलाटाइफी जीवाणु के संक्रमण के कारण होता है। टाइफाइड…

Yellow Fever Treatment In Homeopathy – पीला ज्वर

नमी वाले स्थानों, पानी के जहाजों, नावों आदि में एक विशेष प्रकार का मच्छर पाया जाता है जिसके काटने से ज्वर आ जाता है, इसे ही पीला ज्वर कहते हैं । यही कारण है कि यह ज्वर नाविकों को…

Scarlatina Treatment In Homeopathy – लाल ज्वर

यह रोग गन्दगीपूर्ण वातावरण में रहने, दूषित खाद्य-पदार्थ खाने, दूषित पानी पीने आदि के कारण होता है । इस रोग में शीत के साथ प्रबल ज्वर, जीभ का लाल पड़ जाना, वमन, अतिसार, प्लीहा की…

kala Azar Treatment In Homeopathy – कालाजार का इलाज़

यह रोग मलेरिया से मिलता जुलता है। इसमें रोगी को पहले हल्के कम्पन्न के साथ बुखार आता है, फिर प्लीहा कड़ा पड़ने लगता है, फिर रक्तहीनता और सिर दर्द प्रकट होते हैं। साथ ही शरीर सूखते…

Typhus Fever Treatment In Homeopathy – मोह ज्वर

यह एक प्रकार का मियादी व संक्रामक ज्वर हैं । यह टाइफाइड ज्वर से मिलता-जुलता होता है। टाइफाइड ज्वर में दस्तों की प्रधानता होती है जबकि मोह ज्वर में मस्तिष्क ज्वर की प्रधानता होती…

Typhoid Treatment In Homeopathy – टाइफाइड

यह ज्वर आँतों को सबसे पहले प्रभावित करता है अतः इसे आतंरिक ज्वर कहा जाता है। इस रोग में- कुछ विशेष प्रकार के जीवाणु रोगी की आँतों में पलने लगते हैं और वहाँ पर धीरे-धीरे घाव व जलन…

Glandular Fever Treatment In Homeopathy – ग्रंथिल ज्वर

बहुत तेज़ बुखार के साथ गला कुछ लाल हो जाता है तथा गले की तरफ नाक की गाँठे फूल जाती हैं और दर्द होता है । प्लीहा और यकृत में भी वृद्रि हो जाती है। क्षुधा-नाश हो जाता है। यह रोग…

Continued Fever Treatment In Hindi – अविराम ज्वर

इसमें पहले हल्के बुखार के साथ कॅपकॅपाहट होती है। कभी सर्दी कभी में दर्द, पेशाब बहुत थोड़ा और लाल, कभी कब्जियत और कभी पतले दस्त आना, नाड़ी और साँस की गति में तेजी आदि लक्षण होने पर…

Cerebral Fever Treatment In Hindi – मस्तिष्क ज्वर

यह रोग भी संक्रामक जीवाणुओं से होता है। इसमें भी तेज बुखार के साथ मस्तिष्क में शोथ होता है जिसकी वजह से सिर में दर्द, तेज बुखार, उल्टी, गर्दन में दर्द, बेहोशी, लकवे जैसी हालत…

Catarrhal Fever Treatment In Hindi – सर्दी का बुखार

जो ज्वर सदीं लगने के कारण आता है, उसे ही सदी का ज्वर कहते हैं । यह ज्वर प्रायः वर्षा या पानी में भीग जाने अथवा ठण्ड लग जाने के कारण होता है। इसमें ठण्ड महसूस होते रहना, शरीर में…

Influenza Treatment In Hindi – फ्लू

इसे कफ-ज्वर, बहुव्यापक सर्दी आदि भी कहा जाता है । इसमें हल्की ठंड देकर शरीर में दर्द के साथ ज्वर चढ़ जाता है । इसमें सिर-दर्द, सर्दी लगना, खाँसी, छींकें, जुकाम, भूख न लगना,…
Open chat
1
💬 Need help?
Hello 👋
Can we help you?