Typhoid Treatment In Homeopathy – टाइफाइड

2,461

यह ज्वर आँतों को सबसे पहले प्रभावित करता है अतः इसे आतंरिक ज्वर कहा जाता है। इस रोग में- कुछ विशेष प्रकार के जीवाणु रोगी की आँतों में पलने लगते हैं और वहाँ पर धीरे-धीरे घाव व जलन की-सी स्थिति उत्पन्न कर देते हैं । रोगी को सदैव ज्वर रहता हैं जो क्रमशः बढ़ता ही जाता है । साथ ही- रोगी के गले, पेट, छाती, जाँघ आदि पर सफेद चमकदार दाने निकल आते हैं जिन्हें भरकर ढलने में 20-21 दिन लग जाते हैं । इस रोग में- सिर-दर्द, बेचैनी, प्रलाप, बेहोशी, पेट में दर्द, दस्त आदि लक्षण भी प्रकट होते हैं । यह रोग मुख्यतः दूषित पानी, दूषित फल-सब्जी, घर के आस-पास गन्दगी रहने आदि कारणों से होता है ।

बैप्टीशिया Q- रोग के आरंभ से अन्त तक इसी दवा का प्रयोग करने से रोगी ठीक हो जाता है और अन्य किसी दवा के प्रयोग की आवश्यकता नहीं पड़ती । इस दवा के मुख्य लक्षण हैं- रोगी का तन्द्रा में रहना, जीभ पर कालापन, दाँतों पर मैल, नाड़ी मोटी व तेज चले, विस्तर में कड़ेपन की अनूभूति हो जिससे रोगी केवल करवटें बदलता रहे, सिर-दर्द रहे, गले में घाव हों, स्लेटी रंग के दस्त हों आदि ।

ब्रायोनिया 30- टाइफाइड की मुख्य औषध है जबकि किसी प्रकार हिलनेडुलने से घबराहट और शरीर में दर्द हो, सिर में भारीपन रहे, मुँह का स्वाद बार-बार पानी पीये, खाँसी उठती हो आदि ।

रसटॉक्स 30- शारीरिक दुखन, प्रलाप, सिर-दर्द, नकसीर फूटना, पीले भूरे और दुर्गन्धित दस्त होना, पेट में गैस बनना, जीभ पर सफेदी जमे किन्तु अग्रभाग लाल रहे ।

आर्सेनिक एल्ब 30-अत्यधिक शक्तिहीनता, शरीर में जलन, तेज प्यास रोग-लक्षणों में वृद्रि हो तो दें । इसे रोग के आरंभ में नहीं देना चाहिये।

आर्निका 30- रोगी को तन्द्रा रहे, श्वास में दुर्गन्ध आये, शरीर पर लाल या काले दाने निकल आयें, रोगी को अनजाने में ही मूत्र निकल जाता हो तो लाभप्रद हैं । इसे रोग के आरंभ में न दें ।

टायफाइडिनम 200– यह टाइफाइड की प्रतिषेधक औषध है । रोग आरंभ होने का सन्देह होते ही इसकी एक-दो मात्रा देने से रोग काबू में आ जाता हैं और अधिक बड़ा रूप नहीं ले पाता हैं ।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.