6 महीने के बच्चे का आहार – बच्चों का खाना

471

मां का दूध छोड़ने के बाद बच्चे को निम्नलिखित वस्तुएं बनाकर दी जा सकती हैं। इनके सेवन से बच्चे का समुचित विकास होता है।

6 महीने के बच्चे का खाना

आलू का दलिया

सामग्री – आलू 50 ग्राम, केला 25 ग्राम, अच्छे चावल का आटा 15 ग्राम तथा गुड़ 25 ग्राम।

विधि – आलू को पानी में उबाल लें। अब चावल के आटे को भूनकर आलू के साथ पकाएं। फिर गुड़ तथा केला मिलाकर कुछ देर और पकाएं।

गेहूं की खीर

सामग्री – सूजी 30 ग्राम, मूंग की दाल 25 ग्राम तथा गुड़ 20 ग्राम।

विधि – सूजी और मूंग की दाल को अलग-अलग तत्पश्चात् दोनों को मिलाकर पकाएं। जब वे आधे पक जाएं, तो उसमें गुड़ मिलाकर खूब हिलाएं।

गाजर का हलवा

सामग्री – गाजर 75 ग्राम, गुड़ 25 ग्राम, चने की दाल 20 ग्राम तथा मूंगफली की आटा 10 ग्राम ।

विधि – गाजर को किसी कद्दूकस में कसकर पानी में उबालकर घोटें। तत्पश्चात् चने की दाल और भुनी मूंगफली के आटे में गुड़ की चाशनी डालें। अब इसमें थोड़ा-सा पानी मिलाकर अच्छी तरह पकाएं। फिर गाजर मिलाकर कुछ देर पकाकर अांच से अलग रख दें।

ज्वार का मीठा दलिया

सामग्री – अच्छे ज्वार का आटा 35 ग्राम, गुड़ 30 ग्राम तथा भुनी मूंगफली 10 ग्राम।

विधि – ज्वार के आटे को भूनकर अलग रख दें। अब गुड़ को पानी में भिगोकर पिसी हुई मूंगफली मिलाएं। फिर सभी सामग्री मिलाकर आंच पर रख दें। जब वह उबलने लगे, तो आटे को धीरे-धीरे मिलाएं और बराबर हिलाती रहें।

शकरकन्द का दलिया

सामग्री – शकरकन्द 30 ग्राम, भुनी मूंगफली 10 ग्राम, गुड़ 20 ग्राम तथा चने की दाल 20 ग्राम।

विधि – शकरकन्द को थोड़े से पानी में पकाएं। इसके बाद चने की दाल भी पानी में मिलाएं। फिर उसमें पिसी मूंगफली डाल दें। गुड़ को पानी में घोलकर सभी चीजों में मिला दें। अब सभी सामग्री 10-15 मिनट पकाकर खाने को दें।

5 साल के बच्चे का भोजन

5 वर्ष तक के बच्चे को पर्यात मात्रा में आहार की जरूरत होती है। ऐसे में निम्नलिखित वस्तुएं घर पर बनाकर उसे दी जा सकती हैं। ऐसी वस्तुओं से जहां बच्चे की उदर-पूर्ति होगी, वहीं उसका शारीरिक विकास भी होगा। ये वस्तुएं बच्चे जल्दी हजम भी कर लेते हैं।

बाजरे का भोजन

सामग्री – बाजरा (भूसी निकाला और भुना हुआ) 60 ग्राम, मूंग या कोई अन्य दाल (भुनी हुई) 15 ग्राम, मूंगफली (भुनी हुई) 10 ग्राम, तिल के बीज (भुने हुए) 5 ग्राम तथा मलाई निकला दूध का पाउडर 15 ग्राम।

विधि – ऊपर लिखी सभी भुनी हुई चीजों को अलग-अलग पीसकर पाउडर बना लीजिए। उसके बाद सभी चीजों को मलाई निकले दूध के पाउडर में मिला दीजिए। पाउडर के इस मिश्रण को हवाबंद बर्तन में रखिए।

गेहूं का भोजन

सामग्री – साबुत गेहूं (भुना हुआ) 40 ग्राम, मूंग (भुनी हुई) 25 ग्राम, मूंगफली (भुनी हुई) 10 ग्राम तथा गुड़ 30 ग्राम।

विधि – आप उपरोक्त दोनों चीजें पहले दी गई विधि से बना सकती हैं। सभी भुनी हुई चीजों को अलग-अलग पीसकर पाउडर बना लीजिए। उसके बाद सभी को एक साथ मिला दीजिए। फिर इस मिश्रण को हवाबंद डिब्बे में रखिए।

इस मिश्रण के 3 चम्मच लेकर उसमें थोड़ा-सा गरम पानी मिला दीजिए। चम्मच से उसे चलाकर बच्चे को दीजिए।

गेहूं-चने का दलिया

सामग्री – गेहूं का आटा (भुना हुआ) 40 ग्राम, साबुत चने (भुने हुए) 25 ग्राम, मूंगफली (भुनी हुई) 10 ग्राम, चीनी या गुड़ 40 ग्राम तथा पालक या कोई अन्य हरी पत्ती वाली सब्जी 30 ग्राम।

विधि – भुना हुआ गेहूं का आटा, साबुत चने और मूंगफली को अलग-अलग पीस लीजिए। उसके बाद सभी पाउडरों को मिश्रित कर लें। अब गुड़ में थोड़ा-सा गरम पानी मिलाकर पतला रस बना लें। फिर इस रस को पिसी हुई चीजों में मिला दीजिए।

तत्पश्चात् पालक को पानी में नरम होने तक उबालिए। अब उसे पीसकर एक पतले कपड़े से छान लीजिए। इससे सब्जी का सूप बन जाएगा। सब्जी के सूप को उपरोक्त चीजों में मिलाकर कुछ देर पकाइए। उसे तब तक हिलाती रहिए, जब तक वह अर्ध-ठोस न हो जाए। उसके बाद बच्चे को खिलाएं।

मूंगफली के बिस्कुट

सामग्री – मूंगफली (भुनी हुई) 25 ग्राम, गेहूं का आटा (भुना हुआ) 25 ग्राम, चीनी 20 ग्राम, बेकिंग पाउडर एक चुटकी तथा नमक स्वाद के अनुसार।

विधि – मूंगफली और गेहूं के आटे को भूनकर पीस लीजिए। फिर दोनों को एक साथ मिलाइए। उसमें बेकिंग पाउडर और नमक डालकर अच्छी तरह मिलाएं। इस मिश्रण को कड़ा करके गूंधिए। अब इसे चपाती की तरह गोल-गोल बेलिए। फिर बिस्कुट के आकार के टुकड़े काटिए।

इसके लिए आप टिन के ढक्कन इस्तेमाल कर सकती हैं। बिस्कुटों को धातु की ट्रे (थाली) में रखिए। उसके बाद उसे गरम की हुई बालू के ऊपर डेगची में रखिए। डेगची को ढक्कन से ढक दीजिए। गरम चारकोल के टुकड़े ढक्कन पर रखिए। इससे चारों तरफ एक समान आंच पहुंचेगी। जब बिस्कुट सुनहले भूरे हो जाएं, तो उन्हें निकाल लीजिए। इसमें करीब 20 मिनट लगते हैं।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.