गलसुआ ( मम्प्स ) की होम्योपैथिक दवा [ Mumps Medicine In Hindi ]

0
228

मानव के मुँह के अंदर तीन ग्लैंड होते हैं जिससे थूक बनता है। Sublingual Gland, Submandibular Gland और Parotid Gland. Parotid Gland कान के पास होता है, अगर इसमें इन्फेक्शन हो जाता है जैसे की Mumps Virus का इन्फेक्शन जोकि अधिक होता है तो उसे गलसुआ (Mumps) कहा जाता है। जब यह वायरस हमारे मुँह और नाक के माध्यम से मुँह के अंदर जाता है तो यह Parotid Gland में सूजन कर देता है। इसके कुछ आम लक्षण भी होते है जैसे हल्का बुखार होना, बदन दर्द होना, कमजोरी होना। गलसुआ में मुँह सूज जाता है।

गलसुआ होने के कारण

  1. Mumps एक वायरल इन्फेक्शन है जो वायरस के कारण होता है।
  2. बात करते वक्त जो छोटे-छोटे थूक निकलते है और साँस के माध्यम से दूसरे के शरीर में जाता है, और अगर उसमे Mumps वायरस मिला हुआ है तो उसकी वजह से फिर Parotid Gland में इन्फेक्शन हो जाता है और वह सूज जाता है।
Loading...

गलसुआ के लक्षण

  1. इसके लक्षण 10 से 16 दिन के अंदर दिखने शुरू होते है।
  2. इसमें सबसे पहले हल्का बुखार, शरीर दर्द होता है।
  3. कमजोरी भी महसूस होने लगेगी
  4. फिर मुँह में सूजन होने लगेगा और हल्का दर्द भी होगा बोलते समय
  5. मुँह के पूरी तरह सूज जाने पर कुछ भी खाने पीने में दिक्कत होने लगेगी।
  6. गलसुआ 7 से 12 दिन में खुद ठीक होने लगता है और धीरे-धीरे सूजन कम होते-होते खत्म हो जाती है।

होम्योपैथी में गलसुआ के लिए दवा

यह बीमारी बहुत तेजी से फैलती है, अगर आपके आस-पास एक इंसान को गलसुआ हुआ है तो वहाँ मौजूद लगभग सभी लोग इससे प्रभावित होते है। होम्योपैथी में दवाई आती है जिससे गलसुआ ठीक हो जाता है आसानी से और यह बचाती भी है गलसुआ होने से। यह दवाई है:-

Parotidinum 200 CH :- यह दवाई गलसुआ के लिए बहुत ही असरदार दवाई है, अगर आपको गलसुआ नहीं है और आप चाहते है की आपको न हो या आपके बच्चो को ना हो तो यह दवाई बहुत ही लाभदायक है। यह दवाई आपको अपने बच्चो को या खुद को तीन दिन तक रोज सुबह दो-दो बून्द पीना है। तीन दिन पीने के बाद यह दवाई एक महीने तक गलसुआ के संक्रमण से आपको दूर रखेगा। फिर अगले महीने फिर तीन दिन तक पिए अगर आस पास गलसुआ से कोई प्रभावित है और उससे बचना है तो।

Belladonna 30 CH :- अगर आपको गलसुआ हो गया है तो यह दवाई बहुत ही असरदार है उसे ठीक करने के लिए। यह दवाई गलसुआ के सभी लक्षणों को ठीक करती है। अगर आपको गलसुआ हो गया है और सूजन आनी शुरू हो गई है तो हर एक घंटे में आपको यह दवाई पीनी है। इस दवाई के कोई भी साइड-इफेक्ट नहीं है और दो से तीन दिन में आपको गलसुआ से आराम मिल जायेगा।

Echinacea Q :- अगर सूजन हो जाता है मुँह में तो यह दवाई बहुत ही फायदेमंद है। शरीर में कही भी वायरल इन्फेक्शन होता है तो यह दवाई बहुत ही लाभदायक है उसे ठीक करने के लिए। गलसुआ की समस्या में इसे आधे कप पानी में 20 बून्द डाल कर ले। इसे दिन में चार बार ले।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658

नोट :- अगर आपको गलसुआ नहीं हुआ है और उससे बचना चाहते है तो केवल Parotidinum 200 CH का सेवन करे, और अगर आपको गलसुआ हो गया है तो बाकी दोनों दवाईयाँ के साथ Parotidinum 200 CH का सेवन करे। यह दवाईयाँ आपको होम्योपैथी दूकान पर मिल जाएँगी।

Loading...
Previous articleहड्डियों या घुटनों से कट-कट की आवाज आने का होम्योपैथिक दवा
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here