डॉ रेकेवेग मेडिसिन लिस्ट [ Reckeweg R1 to R89 Medicine List In Hindi ]

0
1062

Reckeweg R1 :- सूजन संबंधी समस्याओं में

शरीर में कहीं भी सूजन हो जाए, चाहे सूजन पुराना हो या अभी हुआ हो, सभी प्रकार के लिए Reckeweg R1 लाभदायक है। अचानक होने वाले रोगों जैसे बुखार या संक्रमण में भी लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से एक घंटे पहले खानी है।

Reckeweg R2 :- गोल्ड ड्रॉप्स

Loading...

हृदय संबंधी रोग जैसे एंजाइना, दिल की धड़कन का बढ़ना, मन की उत्तेजना, हृदय काघबरा जाना तथा घुटन, हृदय में अनियमित ताल आदि लक्षणों के लिए असरदार दवाई है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R3 :– हार्ट ड्रॉप्स

हृदय के वाल्व सम्बन्धी रोग जैसे हृदय की दुबर्लता के लिए यह दवाई बहुत ही असरदार है। हृदय मे होने वाली जलन को यह ठीक करती है। हृदय के वाल्व सम्बन्धी रोगों जैसे हृदय की नसों की कमजोरी, हृदय का फैलना, संक्रमण के बाद हृदय की नसों की कमजोरी, हृदय प्रघात तथा अल्पतनाव आदि रोगों के इलाज के लिए यह दवाई फायदेमंद है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R4 :- दस्त की जर्मन होम्योपैथिक दवा

सभी प्रकार की दस्त सम्बन्धी रोगों में यह दवाई कारगर है। ठंडा या दोषपूर्ण आहार के कारण होने वाले दस्त में यह दवाई बहुत जल्दी राहत दिलाती है। आंतों में इन्फ्लूएंजा, बुखार के साथ दस्त, टाइफाइड बुखार, पेचिश आदि समस्याओं में भी यह दवाई बहुत ही लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिएं। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिएं फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से एक घंटे पहले खानी है।

Reckeweg R5 :- पेट सम्बन्धी समस्याओं के लिए

पेट में गैस की समस्या को यह दवाई ठीक करती है, हृदय व पेट में जलन, पेट फूलना, मुँह से दुर्गन्ध आना तथा पेट की अन्य सभी समस्याओं में यह दवाई असरदार है, यदि आपने रात में ज्यादा खा लिया है जिससे गैस की समस्या हो गई है और उल्टी भी आ रही है तो यह दवाई लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करें, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से एक घंटे पहले लेनी है।

Reckeweg R6 :– सर्दी ,खाँसी व बुखार के लिए तत्काल प्रयोग की जाने वाली दवाई।

यदि आपको शरीर दर्द, बुखार, सिर दर्द, जुकाम या बैचेनी आदि लक्षण शरीर में दिखे तो शीध्र ही इस दवा का सेवन करे। यह इस सब बीमारियों को जल्द ठीक करने में असरदार है। किसी संक्रामक रोगों जैसे फ्लू से बचाव के लिए भी आप इसका प्रयोग कर सकते है। यह दवाई कभी-कभी बने रहने वाले सिर दर्द, बेचैनी, हाथ या पैर के दर्द मे भी लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करें, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिएं। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिएं फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R7 :- लिवर और गॉलब्लेडर के लिए ड्राप

यकृत और पित्ताशय की थैली में होने वाली समस्याओं के लिए यह दवाई बहुत ही फायदेमंद है, पित्त स्राव की परेशानी, हेपेटाइटिस की समस्या, पेट की सूजन, भूख की कमी, मुंह में कड़वा स्वाद, पेट फूलना, कब्ज, भोजन के बाद थकावट, जलन आदि समस्याओं के लिए यह दवाई लाभदायक है, इन सभी समस्याओं में यह दवाई प्रयोग करे। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R8 & R9

R8 :- खाँसी के लिए सिरप तथा R9 – खाँसी की ड्रॉप

इनका प्रयोग किसी भी प्रकार के खाँसी संबंधी रोगों के लिए किया जाता है। खाँसी चाहे नयी हो या पुरानी यह दोनों दवाइयाँ लाभदायक है। श्वास की नलियों में होने वाली समस्या को यह दवाईयाँ ठीक करती है और यह दवाई काली खांसी, दमा की समस्या में होने वाली खाँसी की समस्या के लिए भी कारगर है। जिन लोगों को लगातार खाँसी की समस्या होती है उन्हें भी यह दवाई लेनी चाहिए । R8 का प्रयोग R9 के साथ बारी -बारी से किया जा सकता है ज्यादा जल्द असर के लिए। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करें, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R10 :- अनियमित मासिक धर्म की समस्या के लिए

शारीरिक कमजोरी, अवसाद, सिरदर्द, अनियमित मासिक धर्म, मानसिक थकावट, उदासीनता में से कोई लक्षण दिखे तो यह दवाई लेनी चाहिए। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करें, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R11 :- अस्थि व हड्डी के रोगों के लिए

मौसम बदलने पर जो समस्याएं हड्डियों व पस्लियों में होती हैं जैसे मांसपेशियों व हड्डियों का नया या पुराना बढ़ता हुआ दर्द, कमर दर्द आदि रोगों मे यह दवाई ली जानी चाहिए। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R12 :- Goiter, घेंघा की जर्मन दवा

धमनियों में होने वाली समस्या के लिए यह दवाई लाभदायक है। कुछ आर्टिरिओ स्क्लेरोसिस, पेट की डिस्प्रैगिया आदि समस्याओं में भी यह असरदार है। दिमाग का कमजोर होना, जल्दी कुछ याद न होना व भूलने की समस्या, Thyrotoxicosis में भी यह दवाई ली जा सकती है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R13 :- बवासीर की समस्या के लिए

बवासीर, मलद्वार में खुजली, मलद्वार में दर्द, मलद्वार से रक्तस्राव, मलद्वार की खुजली, मलद्वार का छाजन आदि लक्षणों में यह दवाई रामबाण सा असर करती है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R14 :- नसों और नींद की समस्या के लिए ड्रॉप्स

अनिद्रा एवं नींद सम्बन्धी विभिन्न समस्याओं, उनींदापन की समस्या, हल्की नींद, सुबह के वक्त ऊँघना, दिन भर बेचैनी रहना आदि समस्याओं में यह दवाई असर करती है, यह दवाई नसों पर असर करती है ताकि नींद अच्छे से आने लगे। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R16 :- माइग्रेन व नसों के दर्द के लिए ड्रॉप्स

आधे सिर का दर्द, आँखों में चुभना और सिर दर्द बढ़ जाना, सिर की नसों में दर्द, हल्की सी ठंड लग जाने से सिर में लगातार दर्द होना आदि समस्याओं के लिए यह दवाई लाभदायक है। नसों में समस्या के कारण चिड़चिड़ापन, सिरदर्द, गर्मी लगना व कभी-कभी कंपकंपी, लेटन पर आराम आदि लक्षण दिखे तो यह दवाई लेनी है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R17 :- ट्यूमर, ग्रंथियों व ऊतक का बढ़ना

ट्यूमर, असामान्य ऊतक वृद्धि, ऊतकों में हमेशा समस्या रहना, शरीर के बाहरी और आंतरिक अंगों में वृद्धि और एक्जिमा। शरीर में चकत्ते होना। यह समस्याएं दिखे तो यह दवाई पिए, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R18 :- गुर्दों व पेशाब की थैली की समस्या के लिए

गुर्दो व पेशाब की थैली में सूजन होना, पेशाब करते वक्त तेज दर्द या चुभन होना, अधिक पेशाब आना या बिलकुल भी न आना, पीले और गाढ़े रंग का पेशाब आना आदि समस्याओं में यह दवाई ले। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R19 :- पुरुषों के ग्रंथि की समस्याओं के लिए ड्रॉप

अंत:स्रावी रोगों के लिए, शरीर की वृद्धि में होने वाली समस्याओं, pituitary के कारण मोटापे की समस्या, वजन कम रहना आदि समस्याओं में यह दवाई पुरुषो के लिए लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R20 :- महिलाओं के ग्रंथि की समस्याओं के लिए ड्रॉप

अंत:स्रावी रोगों के लिए, शरीर की वृद्धि में होने वाली समस्याओं, pituitary के कारण मोटापे की समस्या, वजन कम रहना आदि समस्याओं में यह दवाई महिलाओं के लिए लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R21 :- रक्त एवं त्वचा सम्बन्धी विकार के लिए

पुराने त्वचा सम्बन्धी विकारों में यह दवाई लाभदायक है, जब खून और त्वचा सम्बन्धी विकारों का इलाज अन्य तरीकों से या एलोपैथी से नहीं हो पता है तो यह दवाई असरदार है, यह दवाई एक्जिमा की समस्या में भी लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R22 :- बेचैनी की समस्या के लिए

तंत्रिका में गड़बड़ी, उत्पीड़न और घुटन, पेट फूलना जैसी समस्याओं में यह दवाई कारगर है। दिल की धड़कन का अचानक तेज हो जाना, बेचैनी बने रहना में यह दवाई ली जानी चाहिए। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R23 :- एक्जीमा की समस्या के लिए ड्रॉप्स

नया व पुराना एक्जीमा, चेहरे पर फुसियाँ, दाद, दाने, छाई, त्वचा संबधी विकारों व त्वचा के सूखने के साथ पपड़ियाँ निकलना आदि के उपचार के लिए यह दवाई बहुत ही लाभदायक है। त्वचा पर खूब खुजली होती है और मवाद भी निकलता है, सूखी व गीले हर प्रकार के एक्जिमा के लिए यह दवाई फायदेमंद है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R24 :- Pleuritis, झिल्ली में दर्द के साथ सूजन

पथरी, गठिया की समस्याओं के लिए यह दवाई लाभदायक है, गठिया के सभी लक्षणों से लड़ने के लिए यह दवाई असरदार है, पसलियों व नसों के दर्द में भी यह दवाई लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R25 :- पुरानी प्रोस्टेटाइटिस की समस्या के लिए

नए और पुरानी प्रोस्टेटाइटिस की समस्या में यह दवा असरदार है, किडनी के दर्द, मूत्राशय की समस्या के लिए यह दवाई लाभदायक है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R26 :- बीमारी के बाद की कमजोरी का जर्मन होम्योपैथिक दवा

बीमारी के बाद होने वाले सुस्ती, कमजोरी, थोड़ा सा काम कर लेने के बाद थक जाना जैसे लक्षणों में यह अच्छा काम करता है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R27 :- गुर्दों की पथरी के लिए ड्रॉप्स

गुर्दो में पथरी, गुर्दो में तेज दर्द होना, चिपचिपा व गाढ़ा मूत्र, पेशाब में आक्जैलिक एसिड व पथरी की समस्या के लिए यह दवाई बहुत ही असरदार है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R28 :- खून अधिक निकलने के कारण होने वाली कमजोरी के लिए

किसी भी कारण से खून अधिक निकल जाये और उसके कारण थकान अधिक हो तो यह दवाई जरूर ले, यह दवाई शरीर में खून की कमी को पूरा करके शरीर से थकान और दर्द को कम करती है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R29 :- वर्टिगो के कारण होने वाली समस्या

वर्टिगो विभिन्न परिस्थितियों के कारण होता है। सेरेब्रल स्क्लेरोसिस, यात्रा के कारण होने वाली थकान के लिए भी यह दवाई बहुत ही लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R30 :– विभिन प्रकार की चोटों के लिए मरहम

मॉसपेशियो व जोड़ों में चोट लगने के कारण होने वाले दर्द व सूजन को यह दवाई ठीक करती है। यह आघात के कारण होने वाले लकवा, निल पड़ना, पेशियों में दर्द, मोच, फोड़े तथा फुसियों के उपचार के लिए इस्तेमाल की जाती है ।

Reckeweg R31 :- भूख तथा रक्त की कमी को पूरा करती है।

शरीर में खून की कमी, भूख न लगना, खासतौर पर बच्चों में अक्सर उदर की सूजन की समस्या बनी रहती है, इन सभी शिकायतों के लिए यह दवाई फायदेमंद है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करें, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिएं फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R32 :- अत्याधिक पसीना आना

शरीर के किसी हिस्से में या पुरे शरीर में अत्यधिक पसीना आना एक समस्या है जिसके लिए यह दवाई असदार है। संक्रामक रोगों तथा बुखार में अत्याधिक पसीना आना, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करें, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R33 :- मिर्गी की समस्या के लिए ड्रॉप्स

मिर्गी व मिर्गी के दौरे पड़ना, चिड़चिड़ेपन की समस्या में, पुरानी मिर्गी की समस्या में भी लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है। यदि बीमारी पुरानी है तो ज्यादा समस्य तक दवाई का सेवन करे.

Reckeweg R34 :- पुनः कैल्सीकरण ड्रॉप्स

हड्डियों की नाजुकता, गठिया, हड्डियों के सही गठन के लिए लाभदायक, कैल्शियम युक्त ऊतकों तथा हड्डियों के विकास में बाधा को रोकने के लिए यह दवाई लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।

Reckeweg R35 :- दातों के दर्द के लिए दवाई

दाँतों में दर्द रहना, मसूड़ों की समस्या व देर से दांत निकलना जैसी समस्याओं के लिए प्रभावशाली दवाई है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R36 :- स्नायु रोग व अंग कम्पन्न की समस्या के लिए

विभिन्न कारणों से शरीर में स्नायु जाल की समस्या, स्नायु रोग व अंग कम्पन्न के विभिन्न लक्षणों के लिए प्रभावी दवाई है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R37 :- आंतों की समस्या के लिए

आतों में लगातार दर्द होने, आतों की विभिन्न कारण से खराबी, आतों के कारण किडनी में दर्द होना, गुर्दे में दर्द होना आदि समस्याओं के लिए यह दवाई फायदेमंद है। पुरानी कब्ज की समस्या को भी यह दवाई ठीक करती है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R38 :- अंडाशय व पेट के दाएं तरह की समस्याओं के लिए

अंडाशय के विभिन्न समस्याओं जैसे दर्द खासकर पेट के दाएं तरफ दर्द होना, अंडाशय की सूजन (दाएं तरफ) की समस्या में यह दवाई कारगर है। अंडाशय के सिस्ट और सौम्य ट्यूमर के लिए यह दवाई लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R39 :- अंडाशय व पेट के बाएं तरह की समस्याओं के लिए

अंडाशय के विभिन्न समस्याओं जैसे दर्द खासकर पेट के बाएं तरफ दर्द होना, अंडाशय की सूजन (बाएं तरफ) की समस्या में यह दवाई कारगर है। अंडाशय के सिस्ट और सौम्य ट्यूमर के लिए यह दवाई लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R40 :- मधुमेह की समस्या के लिए

खून की कमी विशेषकर मधुमेह के उपचार के लिए यह दवाई प्रभावी है। चिंता, तनाव, गुस्सा आना, भूख न लगना, खाने के प्रति अरुचि,अधिक प्यास लगना, खुजली, बेचैनी आदि की समस्या में भी यह दवाई लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे। इस दवाई का सेवन लम्बे समय तक एवं नियमित रूप से करे। सुधार होने पर इसका सेवन दिन में दो बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R41 :- शीघ्रपतन और लैंगिक नसों की दुर्बलता के लिए दवा

शीघ्रपतन और नसों की दुर्बलता के कारण जो लैंगिक दुर्बलता आ जाती है शरीर में, उसे यह दवाई ठीक करने में मदद करती है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R42 :- नसों की कठोरता, फैलना व जलन के लिए

शिरापरक कमजोरी, एक्जिमा, नसों की सूजन, निचले अंगों में नसों का कमजोर होना। शिराओं का फूल जाना, निचले अंगों की शिराओं में भारीपन की अनुभूति के साथ अवरोध इसके पश्चात एक्जिमा व खुजली। इन सभी समस्याओं में यह दवाई कारगर है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R43 :- अस्थमा की समस्या के लिए

श्वास नलियों के दमे की समस्या के लिए कारगर दवाई है यह, दमा व दमाजनित श्वासनलियों के कारण होने वाले अवरोधों को ठीक करने में कारगर दवाई है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R44 :- निम्न रक्तचाप की समस्या के लिए

खून के शरीर में संचालन में असुविधा और निम्न रक्तचाप की समस्या के लिए यह दवाई लाभदायक है। हृदय की दुर्बलता जिसके कारण आलस आना आदि समस्याओं को भी यह दवाई ठीक करती है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R45 :- गले की खराश व गला बैठ जाने की समस्या के लिए असरदार

गले की खराश जो आमतौर पर लोगों को हो जाया करती है, ये समस्या अक्सर गायकों, अभिनेताओं, शिक्षकों तथा वक्ताओं को प्रभावित करती है। इन सभी से निपटने में यह दवाई कारगर है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R46 :- बाहों तथा हाथों के दर्द के लिए असरदार

बाँहो तथा हाथों में गठिया की समस्या के साथ ही जोड़ों की सूजन के उपचार के लिए असरदार औषधि। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R48 :– फेफड़ों से सम्बंधित रोगों के लिए

साँस लेने में कठिनाई होना, दमे की समस्या, फेफड़ों की पुरानी सर्दी, धूम्रपान की वजह से होने वाली खाँसी, फेफड़ों की कमजोरी और टी० बी० की प्रारम्मिक अवस्था जैसी समस्याओं के लिए प्रभावशाली दवाई है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करें, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R49 :- साइनस की समस्या के लिए ड्रॉप्स

शरीर के नए या पुराने नजले की समस्या के लिए, साइनस की समस्या में, बच्चों की नाक में पालीप बनना तथा गंध व स्वाद का लोप आदि समस्याओं में यह दवाई बहुत ही असदार है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R50 :- स्त्रीरोग एवं त्रिक श्रेणि रोगों के लिए

रीढ़ की हड्डी में विभिन्न प्रकार के दर्द जो ज्यादातर पेट के रोगों के कारण होते हैं साथ ही स्त्री रोगों में भी यह दवाई फायदेमंद है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करें, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R51 :- Thyroid Hyper ( थायराइड ) सम्बन्धी रोगों के लिए

थायराइड सम्बन्धी रोगों व लक्षणों के लिए यह दवाई लाभदायक है साथ ही हाथों का कांपना, “गोगल-आंख”, पसीना, अंततः दस्त और उत्सर्जन आदि में भी प्रभावशाली दवाई। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R52 :- उल्टी, मतली, यात्रा रोग आदि की समस्या के लिए

विभिन्न कारण से होने वाली मितली, अस्वस्थता की अनुभूति खासतौर पर यात्रा के समय, उल्टी जैसी समस्याओं में यह दवाई लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R53 :- कील, मुहाँसे, फुँसियाँ आदि को ठीक करने के लिए

शरीर की त्वचा खासकर चेहरे के कील, मुहाँसे, फुँसियाँ आदि को ठीक करने के लिए यह दवाई लाभदायक है, त्वचा की खुजली को भी यह दवाई ठीक करती है। एक्जीम तथा त्वचा के लिए काफी प्रभावी औषधि। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R54 :- मस्तिष्क के लिए ड्राप

स्मृति की कमजोरी, बच्चों को जल्दी कुछ याद न होना, उदासीनता, लापरवाही, थकावट आदि के लिए प्रभावशाली दवाई। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R55 :– सभी प्रकार की चोटो व घावों के लिए ड्राप

शरीर के सभी प्रकार की चोटें, शरीर की किसी हड्डी का टूट जाना, मोच आ जाना या फिर खून बहना आदि की समस्या के लिए लाभदायक दवाई है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R56 :- पेट के कीड़ों की समस्या के लिए

पेट के सभी प्रकार के कीड़े की समस्या को ठीक करने के लिए यह दवाई बहुत ही लाभदायक है, इसके साथ ही रात को सोते समय दाँत किटकिटाना, अचानक चौक जाना, नाक में खुजली होना जैसी समस्याओं में भी यह दवाई लाभदायक है। 7 साल से कम उम्र के बच्चों को 5 बुँदे थोड़े से पानी के साथ दिन में एक बार देना है, 7 साल से बड़े उम्र के बच्चों के लिए 10 बुँदे दिन में एक बार देना है तथा 12 साल से बड़े लोगों के लिए 10 बुँदे दिन में दो बार थोड़े से पानी में डाल कर देना है।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R57 :- फेफड़ो के लिए ड्राप

यह दवाई विशेष रूप से फेफड़ों के कमजोर अंगों की कमजोरी, पीठ की कमजोरी, रात को पसीना आना, रक्त परिसंचरण (ठंडे पैर) की गड़बड़ी, भूख की कमी आदि समस्यों में लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R58 :- Hydrops, Ascites, Cardiac Decompensation की होम्योपैथिक ड्रॉप्स

दिल की मांसपेशियों की कमजोरी और हाइड्रोप्सी और पैरों की एडीमा की समस्या केलिए यह ड्रॉप प्रभावी है। दिल की मांसपेशियों की कमजोरी के कारण पेट में हाइड्रॉप्सी अक्सर हो जाती है उसके लिए भी यह दवाई लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अगर समस्या अधिक है तो शुरू में हर आधे से एक घंटे में पिए फिर दिन में तीन बार कर दे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R59 :- मोटापा घटाने में प्रभावी ड्राप

शरीर में मोटापा, ग्रथियों से होने वाले स्राव की समस्या के कारण वजन बढ़ने की प्रवृत्ति को यह दवाई ठीक करती है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। अत्यधिक वजन में दिन में 4-5 बार ले।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R60 :– खून की सफाई के लिए होम्योपैथिक दवा

विभिन्न प्रकार के रोगों के कारण खून में खराबी हो जाती है, यह दवाई खून साफ करती है। त्वचा की अशुद्धियों व युवक- युवतियों के चेहरे पर निकलने वाले फोड़े, फुसियोँ को साफ करती है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R62 :- खसरा की समस्या के लिए

श्लेष्मा झिल्ली के सभी प्रकार की सूजन को कम करने के लिए, खासकर आंख की सूजन के साथ खसरा को ठीक करने के लिए लाभदायक ड्राप है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R63 :- मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या के लिए

शरीर के रक्त प्रवाह में रूकावट की समस्या को ठीक करने तथा मांसपेशियों की ऐंठन या सुन्नपन को ठीक करने के लिए यह दवाई फायदेमंद है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R64 :- पेशाब में एल्ब्यूमिन व प्रोटीन आने की समस्या के लिए

पेशाब में एल्ब्यूमिन या प्रोटीन आने पर या गुर्दो की कठोरता तथा गुर्दो के पुराने रोगों के उपचार के लिए यह ड्रॉप लाभदायक है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R65 :- सोरायसिस की समस्या के लिए

यह ड्राप सोरायसिस, एक्ज़िमा, खुजली आदि रोगों में लाभदायक है। सोरायसिस की समस्या में त्वचा लाल, पपड़ीयुक्त हो जाती है। रोगी को बैचेनी व तकलीफ अधिक होती है। इन समस्याओ के लिए यह ड्राप कारगर है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R66 :- अनियमित हृदय गति के लिए

हृदय ताल मे अवरोध होने पर, हृदय की मांसपेशियों के रोगों के कारण होने वाले संवहन दोष, हार्ट अटैक के लक्षण व हृदय की मंदगतिक अवस्था के साथ मिरगी या रक्ताघात आदि लक्षणों में प्रभावी दवाई है यह। हार्ट अटैक आने पर 15 मिनट पर 10 बून्द पानी में डाल कर दे, तथा हार्ट अटैक न आये इसके लिए इसका सेवन दिन में दो से तीन बार करे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R67 :- हृदय में रक्त प्रवाह को ठीक करने के लिए

हृदय में खून के प्रवाह में व्यवधान के लिए, हृदय गति रुक जाने के कारण हृदय जनित आघात, सिर चकराना, संक्रामक रोग तथा चोट के पश्चात रक्त प्रवाह सम्बन्घी समस्या आदि लक्षणों के उपचार के लिए कारगर दवाई। जरूरत पड़ने पर15 मिनट पर 10 बून्द पानी में डाल कर दे, तथा हार्ट अटैक न आये तथा खून का प्रवाह न रुके इसलिए लिए इसका सेवन दिन में दो से तीन बार करे।यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R68 :- दाद, चेचक आदि समस्याओं के लिए ड्रॉप्स

शरीर में कही पर दाद, छोटी माता या चेचक जैसे दाने (Chickenpox) होने पर यह दवाई ली जा सकती है उपचार के लिए। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R69 :- पसलियों के बीच होने वाले दर्द की समस्या के लिए

कई कारणों से पसलियों की अन्दरूनी हिस्सों व पसलियों के बीच होने वाले दर्द को यह दवाई ठीक करती है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R70 :- नसों व नाड़ियों का दर्द ठीक करने के लिए

शरीर के विभिन्न भागों में होने वाले नाड़ी दर्द में यह दवाई असरदार है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। दो या दो से अधिक दवाऐं एक साथ लेते समय 15 मिनट का अंतर रखें। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R71 :- सायटिका (नस का दर्द ) ठीक करने के लिए ड्रॉप

सायटिका की समस्या के लिए लाभदायक दवाई है। यह शरीर के सुन्नपन को भी ठीक करती है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। दो या दो से अधिक दवाऐं एक साथ लेते समय 15 मिनट का अंतर रखें। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R72 :- अग्न्याशय की समस्या को ठीक करने के लिए

पैंक्रियास की बीमारी को ठीक करने के लिए यह दवाई कारगर है साथ ही यह दवाई अग्न्याशय रोगों के लिए भी लाभदायक है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R73 :- जोड़ो के दर्द को ठीक करने के लिए

हड्डियों के जोड़ों के आसपास दर्द, सूजन खासतौर पर बड़े जोड़ों के दर्द व सूजन को ठीक करने के लिए यह दवाई असरदार है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R74 :- नींद में पेशाब निकलने की समस्या के लिए

नींद में पेशाब करना, मूत्राशय की कमजोरी आदि के लिए यह दवाई लाभप्रद है। मूत्राशय की क्रियाओं को नियंत्रित करने वाली तंत्रिकाओं पर यह दवाई प्रभाव डालती है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R75 :- मासिक धर्म की समस्याओं के लिए

पीड़ादायक मासिक धर्म, प्रसव पीड़ा तथा पेट में मरोड़ के कारण होने वाले दर्द मे यह दवाई असरदार है। यह दवा महिलायों के प्रजनन अंगों पर असर करती है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R76 :- दमा की समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए

दमा की समस्या व उसके सभी लक्षणों को ठीक करने के लिए यह दवाई कारगर है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए, अगर अस्थमा के कारण साँस लेने में काफी तकलीफ हो तो हर दस मिनट पर इसकी दस-दस बून्द आधे कप पानी में डाल कर दे। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R77 :- धूम्रपान निरोधक ड्रॉप्स

किसी को धूम्रपान की आदत लग जाए तो उस आदत को छुड़ाने के लिए, धूम्रपान के दुष्प्रभाव को कम करने के लिए, सिरदर्द, मतली, पेट दर्द ,कब्ज, लिवर सम्बन्धी तकलीफें तथा हृदय की धड़कन बढ़ना आदि रोगों के उपचार के लिए यह दवाई लाभप्रद है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R78 :- आँखों की विभिन्न समस्याओं के लिए

यह दवाई आँखों की सभी समस्याओं के लिए असरदार है, चाहे मोतियाबिंद हो, दृष्टिदोष हो या आँखों में दर्द हो, आँखों से पानी आता है तो आदि विभिन्न समस्याओं में असरदार दवाई है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 20 बून्द डालकर पिए। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R81 :- Analgesic ड्रॉप

सिरदर्द, तंत्रिका दर्द आदि के लिए लाभदायक दवाई है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए, यदि दर्द अधिक हो तो हर आधे-एक घंटे में पिए जब तक ठीक न हो जाये। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R82 :- एंटी-फंगल ड्राप

दाद, खाज, खुजली, हाथों या पैरों पर सफेद त्वचा, गले में दर्द, कान की धड़कन के साथ कान दर्द, नाखूनों के नीचे सफेद पपड़ी, अन्य त्वचा संक्रमण को यह दवाई ठीक करती है। रोगी की थकान, चिड़चिड़ाहट, ध्यान केंद्रित करने में असमर्थता, सामान्य असंतोष, मिठाई के लिए लालसा, पेट फूलना; एलर्जी आदि में यह दवाई लाभप्रद है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R83 :- खाने से एलर्जी की समस्या

यह दवाई सीधा हॉर्मोन्स पर असर करती है, खाने के कारण होने वाली समस्याओं को यह दवाई आसानी से ठीक करती है जैसे एलर्जी, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R84 :- साँस लेने से होने वाली एलर्जी की समस्या

श्वास प्रक्रिया के साथ अंदर जाने वाले दूषित पदार्थो के कारण होने वाला दमा आदि रोगों के उपचार के लिए यह दवाई फायदेमंद है, यह दवाई रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाती है जिससे एलर्जी कारक तत्वों का शरीर पर प्रभाव न पड़े, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। दो या दो से अधिक दवाइयों को एक साथ लेते समय 15 मिनट का अंतर रखें। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R85 :– उच्च रक्तचाप की समस्या

रक्तचाप कई कारणों से बढ़ता है, यदि रक्तचाप बढ़ जाये तो यह दवाई उसे ठीक करने में सहायता करती है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। दो या दो से अधिक दवाइयों को एक साथ लेते समय 15 मिनट का अंतर रखें। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R86 :– निम्न रक्तचाप की समस्या

रक्तचाप कई कारणों से कम हो जाता है, जिससे चक्कर आना, जी घबराना जैसी कई समस्याएं हो सकती है, यदि रक्तचाप कम हो जाये तो यह दवाई उसे ठीक करने में सहायता करती है, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। दो या दो से अधिक दवाइयों को एक साथ लेते समय 15 मिनट का अंतर रखें। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R87 :- एंटी-बैक्टीरियल ड्रॉप

जीवाणु के कारण होने वाले संक्रमण, आंतरिक या बाहरी संक्रमण, इन्फेक्शन आदि को यह दवाई ठीक करने में मदद करती है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। दो या दो से अधिक दवाइयों को एक साथ लेते समय 15 मिनट का अंतर रखें। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R88 :- एंटी-वायरल ड्रॉप

वायरस से होने वाले विभिन्न रोग जैसे वायरल फीवर, फ्लू, स्वाइन फ्लू, डेंगू / चिकनगुनिया आदि कोई भी वायरल की बीमारी में एक प्रभावी एंटी-वायरल दवा है। इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करे, आधे कप पानी में इसकी 10-15 बून्द डालकर पिए। दो या दो से अधिक दवाइयों को एक साथ लेते समय 15 मिनट का अंतर रखें। यह दवाई खाना खाने से पहले खानी है।

Reckeweg R89 :- बालों के गिरने एवं झड़ने की समस्या में

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658

बालों से संबधित समस्याएं जैसे बाल गिरना, गंजापन, समयपूर्व बाल गिरना, समयपूर्व बाल सफेद होना, बालों की कमजोरी, सिरदर्द आदि में यह दवाई लाभप्रद है। इसकी 20 बुँदे पानी में मिलाकर दिन में तीन बार खाना खाने के बाद ले। गंजे स्थल पर लगभग 5 मिनट इससे मालिश करे। ज्यादा अच्छे परिणाम के लिए इसका प्रयोग लम्बे समय तक करे।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here