चक्कर ( Vertigo ) की होम्योपैथिक दवा [ Reckeweg R29 In Hindi ]

0
2602

हम सभी ने कभी न कभी चक्कर आने को महसूस किया है, चक्कर आने पर हम गिर जाते हैं, बैठ जाते हैं या किसी चीज को पकड़ना पड़ जाता है। ऐसा महसूस होता है की हमारे चारों तरफ की चीजें घूम रही है या कभी ऐसा लगता है की हम ही घूमे जा रहे हैं। इसी अवस्था को चक्कर आना कहा जाता है।

चक्कर के लिए एक जर्मन होमियोपैथी मेडिसिन है जोकि बहुत ज्यादा उपयोगी है और इसे आप घर पे रखें। किसी को भी चक्कर आने पर इसे दिया जा सकता है। इस मेडिसिन का नाम है Reckeweg R29 जोकि Vertigo, Syncope Drops के नाम से भी आती है। यह चक्कर और बेहोशी की बहुत अच्छी दवा है। अगर चक्कर आने के बाद बेहोशी सी छा जाये तो इस मेडिसिन के उपयोग से चक्कर और बेहोशी दोनों ठीक हो जाता है। अगर आपको किसी भी कारण से चक्कर आये, चाहे वो सर्वाइकल हो या ब्रेन में कोई समस्या हो, कमजोरी हो या कोई भी अन्य कारण हो, आप इस मेडिसिन का उपयोग कर सकते हैं।

Loading...

Reckeweg R29 में पाए जाने वाले तत्त्व

Argentum nitricum – चक्कर और सामान्य अस्थिरता, तंत्रिकाओं की कमजोरी के कारण चक्कर आ जाना, कानों में शोर की गूंज के कारण अचानक बेहोशी के लक्षण में उपयोगी है।

Cocculus – यह दवा हमारे दिमाग पे असर करती है। जब हम कार या ट्रेन से सफर करते हैं और इस दौरान मितली और चक्कर आते हैं, खाना खाते समय खाने के सुगंध से चक्कर आ जाए तो यह दवा अच्छा काम करती है।

Conium – यह चक्कर के लिए सबसे अच्छी मेडिसिन है। अगर सर्वाइकल के कारण चक्कर आए, कमजोरी के कारण चक्कर आ जाए, बुढ़ापे में थकावट के कारण चक्कर आए, ब्रेन में खून की कमी या अधिकता के कारण चक्कर आए तो यह मेडिसिन बहुत उत्तम रहता है।

Theridion curassavicum – अगर आँख बंद करते ही चक्कर आने लग जाए, सोने के लिए बेड पे लेटते ही चक्कर आने लगे, सूर्य की गर्मी से चक्कर आए तो यह दवा बहुत अच्छा काम करती है।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

यह दवा 22 ML के बोतल में आती है। चक्कर आने की समस्या हो तो इस मेडिसिन की 15-20 बून्द को चौथाई कप पानी में डालकर दिन में 3 बार पीना है। याद रखें इस दवा को खाना खाने के एक घंटे पहले लिया करें। इसके रिजल्ट बहुत ही अच्छे हैं और इसका कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है, तो निःसंकोच आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

Loading...
Previous articleमाईग्रेन का उपचार – माइग्रेन की दवा
Next articleHydrocephalus Treatment In Homeopathy
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।