टैम्पोन क्या है, उपयोग करने का सही तरीका और फायदे [ Tampon Uses In Hindi ]

0
562

टैम्पोन का इस्तेमाल सैनेटरी पैड्स के रूप में किया जाता है। आम तौर पर लड़कियां पीरियड्स के दौरान सैनेटरी पैड्स का इस्तेमाल करती हैं। ऐसी स्थिति में लड़कियां किसी अन्य सैनेटरी उत्पादों को प्रयोग करने से डरती हैं। अधिकतर सैनेटरी उत्पादों का उपयोग योनि में डालकर किया जाता है, जिससे hymen के टूटने का डर रहता है।

सैनेटरी पैड्स आमतौर पर सभी मेडिकल स्टोर्स में आसानी से उपलब्ध रहते हैं। लेकिन इनमें कुछ खामियां भी होती है। कई बार पैड्स के प्रयोग के दौरान पैड्स के घर्षण से योनि की बाहरी त्वचा में जलन, चकत्ते के साथ खुजली एवं त्वचा लाल पड़ जाने जैसी संक्रमण भी हो जाती हैं। आपको बता दें कि सैनेटरी पैड्स non-biodegradable होते हैं जो वातावरण को प्रदूषित करते हैं। हालांकि अब जूट और कपड़े से बना सैनेटरी पैड्स भी बाजार में आने लगा है जो योनि को सुरक्षित रखता है। साथ ही साथ वातावरण को कम प्रदूषित करता है।

आपको बता दें कि टैम्पोन एक छोटा रुई से बना पैड होता है जो पीरियड्स के दौरान ब्लड को सोख लेता है। इसके इस्तेमाल से योनि में इंफेक्शन होने का खतरा कम रहता है। साथ ही साथ इन पैड्स के इस्तेमाल से योनि सुरक्षित भी रहता है। यह एक फूलनुमा पैड होता है जो योनि पर लगाते ही योनि को अच्छी तरह से कवर कर लेता है।

Loading...

इसकी एक ख़ास विशेषता यह भी है कि यह आपके इंडेक्स फिंगर के आकार का होता है जिसे आप आसानी से अपनी जेब में रखकर ला सकते हैं। आप इसे मेडिकल स्टोर से भी खरीद सकते हैं।

नोट – इस सैनेटरी पैड्स के बारे में इस पेज की ओर से जो भी जानकारियां दी गयी हैं वह केवल इस पैड्स की गुणवत्ता के आधार पर दी गयी हैं। हम न तो इस उत्पाद को बढ़ावा देते हैं, न ही उत्पाद का प्रचार करते हैं। हम यह भी दावा नहीं करते कि यह उत्पाद 100 फीसदी असरदार साबित होगी। इस सैनेटरी पैड्स के लाभ को केवल उत्तम गुणवत्ता को देखकर बताया गया है। इस पेज के माध्यम से जो भी जानकारियां दी गयी हैं उसका एकमात्र उद्देश्य इस उत्पाद के बारे में विस्तृत जानकारी देना है। हमारा एकमात्र उद्देश्य इस उत्पाद के अस्तर के आधार पर आपको जानकारी देना है।

कैसा टैम्पोन खरीदें?

यदि आप पहली बार टैम्पोन खरीद रहे हैं तो पतले आकार का टैम्पोन लें। जब ब्लड का प्रवाह अत्यधिक हो जाए तो मोटे आकार का टैम्पोन ख़रीदें जिससे ब्लड को आसानी से सोखा जा सके।

टैम्पोन का इस्तेमाल कैसे करें?

  • अपने दोनों हाथों को साबुन से अच्छे से धोएं। फिर हल्के हाथों से टैम्पोन की रिबन को खोलें। यदि गलती से टैम्पोन हाथ से गिरकर टूट जाता है तो उसे दोबारा प्रयोग न करें। नए टैम्पोन का इस्तेमाल करें।
  • खुद को आरामदायक स्थिति में रखें। टैम्पोन को योनि में हल्के से डालें। ज़्यादा जोर न दें अन्यथा संक्रमण फैल जाएगा।
  • टैम्पोन के इस्तेमाल के दौरान टैम्पोन के धागे को योनि से बाहर रखें। ऐसे इसलिए की इसके उपयोग के बाद इसे आसानी से निकाला जा सके। ध्यान रहे यदि टैम्पोन का धागा अंदर चला जाता है तो काफी तकलीफदेह हो सकता है।
  • यदि टैम्पोन भीतर चला गया है तो आपको इसके भीतर होने का एहसास कम होगा। यदि आप टैम्पोन के भीतर जाने के बाद सहज महसूस नहीं कर रहे हैं तो ऐसे में हो सकता है कि आपका टैम्पोन सही तरीके से योनि में न जा पाया हो। ऐसी स्थिति में पुराने टैम्पोन को निकालकर नया टैम्पोन इस्तेमाल करें। अगर आप फिर भी सही तरीके से नहीं लगा पाते हैं तो परेशान न हों, संभव है कि आप अगले बार सफल हो जाएंगे। निराश होने से अच्छा होता है कि एक बार और प्रयास कर लिया जाए।
  • यदि आप बार बार विफल हो जाते हैं तो परेशान न हों। एक बार किसी ट्रेंड डॉक्टर से अपॉइंटमेंट जरूर ले लें। हो सकता है कि आपकी योनि की छिद्र बहुत छोटा हो और टैम्पोन सही ढंग से काम नहीं कर रहा हो। हालांकि ये समस्या बहुत कम देखने को मिलती है लेकिन फिर भी एक बार डॉक्टर से ज़रूर कंसल्ट कर लें।
  • जब आप पहली बार टैम्पोन का प्रयोग कर रहे हैं तो आईने का प्रयोग करें। ताकि आप टैम्पोन को योनि के भीतर सही ढंग से डाल पाएं। आप टैम्पोन के ऊपर एक ख़ास किस्म का लुब्रिकेंट भी लगा सकते हैं जिससे टैम्पोन आसानी से छिद्र में प्रवेश कर जाए।

टैम्पोन के फायदे

  • यह आकार में बहुत पतला होता है जिसे आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता है। इसे आसानी से बाथरूम में जाकर इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • इसकी एक विशेषता है कि बहुत अधिक रक्त बह जाने के बाद भी गिला-गिला सा कुछ भी महसूस नहीं होता।
  • इसके इस्तेमाल करने पर आप कहीं भी, कभी भी आ जा सकते हैं बिना किसी मानसिक तनाव या भय के। आप इसे पहनकर खेलकूद भी सकते हैं।
  • आपको इसे पहनने पर किसी प्रकार का भय नहीं होता।

टैम्पोन का साइड इफेक्ट्स

  • कई बार ऐसा देखने को मिलता है कि टैम्पोन का इस्तेमाल करने के दौरान महिलाएं इसे चेंज करना भूल जाती हैं जिससे इन्फेक्शन का खतरा बढ़ जाता है।
  • कभी कभी यह टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम जैसी ख़तरनाक बीमारियों का कारण भी बन जाता है।
  • आम तौर पर नार्मल टैम्पोन का इस्तेमाल सही होता है। लेकिन कुछ महिलाएं बड़े आकार का टैम्पोन इस्तेमाल करती हैं जो सही नहीं होता है। बड़े आकार के टैम्पोन का इस्तेमाल तब किया जाता है जब ब्लड का बहाव अधिक रहता है।
  • टैम्पोन के इस्तेमाल करने के दौरान सबसे बड़ी दिक्कत ये होती है कि ये आसानी से योनि में नहीं जा पाता जिससे काफी तकलीफ होती है। ऐसी स्थिति में योनि में दर्द अधिक बढ़ जाता है। कभी कभी इसके गलत तरीके से योनि में डालने से भी तकलीफ बढ़ जाती है।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658

नोट – टैम्पोन की कीमत 80 रुपये से लेकर 300-500 रुपये तक होती है। टैम्पोन की कीमत उसके ब्रांड के अनुसार की जाती है। यह सभी मेडिकल स्टोर्स पर आसान एवं सस्ते दाम पर उपलब्ध होता है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here