हब्बे अजाराकी के फायदे और नुकसान [ Habbe Azaraqi Uses, Benefits, Side Effects In Hindi ]

0
200

यह एक यूनानी दवाई है। इस में विभिन्न प्रकार की जड़ी बूटियों का मिश्रण होता है जैसे की अजाराकी ( स्ट्रीकनोस नक्स वोमिका), पाइपर नाइग्रम, पाइपर लांगम और अजवाइन जैसी जड़ी बूटियों के संयोग से मिलकर यह दवा को तैयार किया जाता है।

इस दवा का नाम Habb-e-Azaraqi है। यूनानी भाषा में हब्बे का अर्थ होता है – किसी सामग्री को पाउडर से तैयार किया गया और इस दवा में Azaraqi एक मुख्य सामग्री के तौर पे प्रयोग में लायी गयी है इसीलिए इस दवाई का नाम Habb-e-Azaraqi रखा गया है। इस दवा का प्रयोग सर्दी जुकाम में किया जाता है। साथ ही ये फालिज, लकवा और गठिया के इलाज में भी मुफीद साबित होती है। यह एक हर्बल दवा है। इसका प्रयोग शुद्ध शाकाहारी भी कर सकते हैं।

यह दवा आपको आसानी से दुकानों में मिल जायगी साथ ही आप इसकी खरीदी ऑनलाइन भी कर सकते हैं।

इसका प्रयोग गर्भ अवस्था में बिलकुल ना करें। इस दवाई की कीमत 26 रूपये है। इसके निर्माता हमदर्द है। आपको एक बोतल में 100 टैबलेट मिल जाएगी ।

हब्बे अजाराकी की सामग्री इस प्रकार है :-

  • पाइपर नाइग्रम – 62.5 मिली ग्राम
  • पाइपर लांगम – 62.5 मिली ग्राम
  • नक्स वोमिका – 125 मिलीग्राम
  • एक्वा ट्रेचिस्पेरम

हब्बे अजाराकी के विभिन्न क्षेत्र में उपयोग:-

  • खांसी रोकने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।
  • पक्षाघात को रोकने में लाभकारी होता है।
  • गठिया को दूर करने में सहायक है।
  • गाउट से छुटकारा दिलाता है।
  • चेहरे की पक्षाघात को रोकना
  • कमज़ोरी में उपयोगी
  • पेट दर्द से आराम
  • पीठ दर्द से आराम दिलाता है।

हब्बे अजाराकी कब और कैसे लें?

हब्बे अजाराकी दवा लेने का सबसे उचित समय प्रति दिन दो बार है। यह दवा आपको दिन में सुबह और शाम में लेनी है। एक या दो गोली का ही सेवन प्रति दिन में आप करें। ध्यान रहे की इससे अधिक सेवन आपके स्वास्थ्य को हानि पहुंचा सकता है। इस दवा को लेने से पहले चिकित्सक की सलाह लें।चिकित्सक की सलाह के बिना किसी भी प्रकार की दवा का सेवन ना करें। यह दवा आप पानी के साथ ले सकते हैं या फिर दवा के बाद आप दूध भी पी सकते हैं।

हब्बे अजाराकी के फायदे/लाभ

  • इस दवा के प्रयोग से आपकी पाचन शक्ति में वृद्धि होती है।
  • यदि आप कब्ज से पीड़ित हैं तो यह दवा कब्ज में लाभकारी है।
  • यह टॉनिक किसी भी पीड़ा का उपचार करती है।
  • यह आपके रक्त की सफाई करती है।
  • इस दवाई से आपको cough में राहत मिलती है।
  • इस दवाई से आपको तंत्रिका के दर्द में राहत मिलती है।
  • शरीर की सूजन कम करने में सहायक होता है।
  • आंत्रशूल में सुधार होता है।
  • कटिवात को ठीक करने में मदद करता है।
  • यदि किसी को अत्यधिक जोड़ों के दर्द की शिकायत है और उसे चलने फिरने में परेशानी है तो वह व्यक्ति इस दवा का उपयोग कर सकता है।
  • इस दवा के उपयोग से स्नायुशूल में सुधार होता है।
  • फेफड़ों और उनसे जुडी बीमारियों में भी इस दवा के उपयोग से लाभ होता है।
  • इस दवा का प्रयोग स्थानीय पक्षाघात में सुधार करता है।

हब्बे अजाराकी के दुष्प्रभाव और सावधानी

  • यदि आपका कोई खास प्रकार का इलाज चल रहा है या हाल ही में आपकी कोई सर्जरी हुई है तो आपको इस दवा के सेवन से बचना चाहिए।
  • अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो इस दवा के सेवन से बचें।
  • इस दवा को उपर्युक्त बताई गयी मात्रा में ही लें उससे अधिक मात्रा में इसका सेवन ना करें।
  • यदि आपको इस दवा का कोई भी अतिरिक्त प्रभाव दिखाई पड़े तो तुरंत चिकित्सक को बताएं।
  • अधिक ज्वर का शिकार हैं तो इसके सेवन से बचें।
  • उच्च रक्तचाप में इसका सेवन बिलकुल ना करें। इससे आप में opposite reaction देखने को मिल सकते हैं।
  • यदि आपको मूत्र में जलन का एहसास होता है तो इस दवा का उपयोग ना करें।
  • यदि आपको किडनी या उससे जुडी कोई बीमारी है तो इसके सेवन से बचें।
  • बच्चों को इस दवा से बिलकुल दूर रखें।
  • इस दवा से आपको थकावट का एहसास हो सकता है।
  • ये आपका रक्तचाप बढ़ा सकता है।
  • स्तनपान कराने वाली महिला इसका उपयोग ना करें।
  • यदि आप मूत्र रोग की समस्या से जूझ रहे हैं तो इस दवा का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर को ज़रूर बताएं।
  • इस दवा का उपयोग आपकी हृदय गति बढ़ा सकता है।

ऊपर दिए गए दुष्प्रभाव अधिक व्यक्ति में देखने को नहीं मिलते हैं लेकिन किसी-किसी व्यक्ति में संभव हो सकते हैं। परन्तु आप इस दवा को लेने के समय सावधानी और दुष्प्रभाव दोनों का विशेष रूप से ध्यान रखें।

इस दवा का प्रयोग आप होम्योपैथिक दवा के साथ और एलोपैथिक दवा के साथ कर सकते हैं। परन्तु आपको एक बात का विशेष ध्यान रखना होगा कि आप दोनों दवाओं के बीच कुछ समय का अंतर ज़रूर रखें वरन कुछ घंटों के बाद ही दूसरी दवाई लें। आप इस दवा को आपकी आदत ना बनाये केवल डॉक्टर के सुझाव पर ही इसका सेवन करें। इस दवा में नक्स वोमिका जैसी सामग्री होती है जिसका अधिक लम्बे समय तक उपयोग आपको हानि पंहुचा सकता है। आम तौर पर यूनानी दवाओं से किसी को हानि नहीं पहुँचती है पर साथ ही ये भी गौर करने वाली बात है की हर प्राकृतिक जड़ी बूटियां हमेशा फायदा ही पहुचाये ये भी जरुरी नहीं है।

इस दवा को कहाँ और कैसे रखा जाये ?

इस दवा को ठण्डे और शीतल स्थान पर रखें। इस दवा को ऐसे डिब्बे या कनस्तर में रखे जिस में हवा प्रवेश ना कर पाए। साथ ही इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखें कि यह दवा बच्चो को देने वाली नहीं है, इसलिए इसे बच्चो से दूर रखें।

Loading...
SHARE
Previous articleमाजून अजाराकी के फायदे और नुकसान [ Majun Azaraqi Uses, Benefits, Side Effects In Hindi ]
Next articleLungs Disease, Breathing Difficulties And Homeopathy In Hindi
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here