Reckeweg R35 In Hindi [ दांतों में दर्द के लिए जर्मन होम्योपैथिक दवा ]

0
285

दांतों में दर्द होना एक आम समस्या है, यह बच्चों से लेकर वृद्धों तक सभी को होता है। जब छोटे बच्चों के दाँत निकलते है तब उन्हें भी दर्द होता है और जब बड़े लोगों के दातों में कीड़े लगते है तो उन्हें भी दर्द होता है। यदि आपके दातों के चारों तरह दर्द होता है, मसूड़ों में दर्द रहता है या जबड़ो में दर्द होता है तो इसे दांत दर्द की समस्या की श्रेणी में गिना जाता है।

दांत दर्द होने के कई कारण होते है, जैसा की ऊपर बताया गया है कि बच्चों के जब दांत निकलते है तो उसे काफी दर्द होता है, ज्यादा मीठा, गुटखा, पान सुपारी खाने के कारण भी दांतों में दर्द होता है। एक और कारण है, दांत की जड़ों में मवाद जम जाने पर इन्फेक्शन हो जाता है जिसके कारण भी दाँतों में दर्द रहता है। इसके साथ ही और भी कई कारण है दर्द होने के।

एक जर्मन होम्योपैथी दवा आती है दाँतों के लिए, छोटे बच्चों को जब दाँत निकलते है तो काफी दर्द होता है और बोल न पाने के कारण वह बता नहीं पाते अपने दर्द के बार में, उस दौरान वह काफी रोते है और उन्हें दस्त की भी समस्या रहती है। कुछ बच्चे ऐसे है जिन्हे दाँत देर से निकलते है उनके लिए भी यह दवाई लाभदायक है साथ ही बड़े लोग जिन्हे दातों में दर्द रहता है उनके लिए भी यह दवाई लाभदायक है।

Loading...

Reckeweg R35 :- यह दवाई दांतों के दर्द के लिए बहुत ही असरदार है, इसमें कई सारी होम्योपैथी दवाइयां मिली हुई है जिससे यह दवाई असरदार बनती है, इसमें निम्न दवा मिली हुई है:-

Aconitum D6, Belladonna, Bryonia D30, Calcarea Carb, Calcium carbonicum, Hahnemanni D30, Chamomilla D6, Colocynthis D12, Ignatia D30, Staphisagria D8.

Aconitum :- यह दवाई दातों के दर्द के लिए बहुत ही लाभदायक है, यदि आपको दातों में दर्द रहता है और बुखार भी चढ़ जाता है तो यह दवाई असरदार है। यदि ठंडा पीने से दाँतों में झनझनाहट महसूस होती है तो भी यह दवाई लाभदायक है। अचानक दर्द के लिए भी यह दवाई लाभदायक है।

Belladonna :- यदि आपके दातों में दर्द है और वह पूरा हिस्सा सूझ गया है तो यह दवाई बहुत ही लाभदायक है, यदि आपके मसूड़े सूझ गए है तो भी यह दवाई असरदार है।

Calcarea Carb :- जिन बच्चों के दाँत देर से निकलते है उसके लिए यह दवाई बहुत ही लाभदायक है

Colocynthis :- यदि आपके दातों में असहनीय दर्द हो तो यह दवाई बहुत ही लाभदायक है।

Staphisagria :- हमारे दांतों में बहुत सारी नसें होती है, यदि वह नसें खुल जाये तो दाँत धीरे-धीरे खराब होने लगते है, दातों में दर्द होने लगता है। नसों को ठीक करने केलिए यह दवाई लाभदायक है।

Reckeweg R35 का प्रयोग करने की विधि :- अगर आपको अचानक दाँत में दर्द शुरू हुआ है तो एक चौथाई कप सामान्य पानी में R35 की 5-6 बून्द डाल कर पीना है, ऐसा आपको हर आधे घंटे में करना है जबतक दर्द ठीक न हो जाये। अगर आपको अचानक दाँत में दर्द शुरू हुआ है तो एक रुई में R35 की कुछ बुँदे गिरा कर उसे उस दाँत के नीचे दबा लें जिसमे दर्द है, इसे 10 मिनट तक दबा कर रखें।

यदि आपको लम्बे समय से दाँतों में झनझनाहट की समस्या है और कुछ भी ठंडा गर्म खाने पर दाँत दर्द और झनझनाहट होता है तो R35 की 10 बून्द एक चौथाई कप पानी में डाल कर दिन में तीन बार पिए।

यदि आपको हमेशा दाँत में दर्द रहता है साथ ही जबड़ो में भी दर्द होता है तो R35 की दस बून्द एक चौथाई कप पानी में डाल कर दिन में तीन बार लेना है। इस समस्या में इसे दो से तीन महीने लगातार लें, आपकी समस्या ठीक हो जाएगी।

यदि आपको बच्चों को यह दवाई देनी है तो एक चौथाई कप पानी में 5 बून्द डालकर दिन में चार बार बच्चों को पिलाये, इसके कोई Side Effects नहीं है इसलिए यह दवाई आप बच्चों को आसानी से दे सकते है, दाँत निकलते समय जो भी समस्याएं होती है उनमे यह दवाई कारगर है।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658

यह दवाई किसी भी होम्योपैथी दूकान पर आपको मिल जाएगी यह दवाई 220 रुपए की आपको मिलेगी।

Loading...
SHARE
Previous articleReckeweg R83 In Hindi [ फूड एलर्जी की होम्योपैथिक दवा ]
Next articleEupatorium Perfoliatum In Hindi [ कैसा भी बुखार का उत्तम होम्योपैथिक दवा ]
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here