समय से पहले बाल सफेद होने का होम्योपैथिक इलाज | Homeopathic Treatment For Premature Grey Hair In Hindi

0 2,445

इस लेख में हम असमय बालों और दाढ़ी का सफेद होने की समस्या को ठीक करने की होमियोपैथी दवा की चर्चा करेंगे।

आजकल कम उम्र में बाल सफेद होना आम बात बन गई है। अधिकांश युवाओं को कम उम्र में ही बाल सफेद होने लगे हैं। आज कल 30 की उम्र आते-आते अधिकांश युवाओं की दाढ़ी में भी कुछ बाल सफेद दिखने लगते हैं।

कम उम्र में बाल सफेद होने के कई कारण है, अगर माता-पिता को यह बीमारी है तो बाल सफेद होने की संभावना अधिक है, खान-पान की खराबी से भी कम उम्र में बाल सफेद होने लगते हैं।

युवा पीढ़ी में असमय बालों का पकना एक आम रोग होता जा रहा है और वे इसके लिए वंशानुक्रमिक प्रभावों को दोषी ठहराते हैं। मेरा ऐसा अनुभव है कि दोष बालों के लिए आवश्यक पोषण ( न्यूट्रिशन ) न मिलने का है, और भी कई कारण हैं जिसके बारे में चर्चा कर लेते हैं :-

  • ब्रॉड स्पेक्ट्रम एंटीबायोटिक
  • सुगन्धित तेल
  • बालों को सूखा रखना – आजकल यह फैशन है।
  • उग्र शैम्पू या शरीर के लिए उग्र साबुन का उपयोग
  • हेयर क्रीम्स या जेल

समय से पहले बाल सफेद होने के कारण

जेनेटिक्स – समय से पहले बालों के सफेद होने में जेनेटिक्स महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यदि आपके माता-पिता या दादा-दादी के बाल कम उम्र में ही सफेद हो गए थे, तो आपके बाल भी सफेद हो जाएंगे।

अधिक तनाव में रहना – हर कोई समय-समय पर तनाव से जूझता है। तनाव आपके बालों को प्रभावित कर सकता है। यह बालों के समय से पहले सफेद होने के लिए जिम्मेदार होगा।

लम्बे समय तक तनाव के परिणामों में ये भी शामिल हो सकते हैं: – नींद की समस्या, चिंता, उच्च रक्तचाप

ऑटोइम्यून बीमारी – ऑटोइम्यून बीमारी भी समय से पहले बालों के सफेद होने का कारण बन सकती है। यहां शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली अपनी ही कोशिकाओं पर हमला करती है। विटिलिगो के मामले में, प्रतिरक्षा प्रणाली बालों पर हमला कर सकती है और सफ़ेद होने का कारण बन सकती है।

थायराइड की समस्या – थायराइड की समस्या के कारण होने वाले हार्मोनल परिवर्तन, जैसे हाइपरथायरायडिज्म या हाइपोथायरायडिज्म भी समय से पहले सफेद बालों के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं।

विटामिन बी-12 की कमी – कम आयु में सफेद बाल विटामिन बी-12 की कमी का संकेत हो सकते हैं। यह विटामिन शरीर को ऊर्जा प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, साथ ही यह स्वस्थ बालों के विकास और रंग में भी योगदान करता है। विटामिन बी-12 की कमी घातक एनीमिया स्थिति से जुड़ी हो सकती है, जिसमें शरीर इस विटामिन को पर्याप्त मात्रा में अवशोषित नहीं कर पाता है। विटामिन बी-12 स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाओं के लिए आवश्यक है, जो बालों की कोशिकाओं सहित कोशिकाओं तक ऑक्सीजन पहुंचाती हैं। इसकी कमी बालों की कोशिकाओं को कमजोर कर सकती है और मेलेनिन उत्पादन को प्रभावित कर सकती है।

अधिक धूम्रपान करना – लंबे समय तक सिगरेट का सेवन दिल और फेफड़ों के अलावा बालों को भी प्रभावित कर सकता है। धूम्रपान रक्त वाहिकाओं को संकुचित कर देता है, जिससे बालों के रोमों में रक्त का प्रवाह कम हो सकता है और बाल झड़ने लगते हैं। इसके अतिरिक्त सिगरेट में मौजूद विषाक्त पदार्थ बालों के रोम सहित शरीर के कुछ हिस्सों को नुकसान पहुंचा सकते हैं, जिससे बाल जल्दी सफेद हो जाते हैं।

Hair Gray Solution Video

बाल सफेद होने का होम्योपैथिक इलाज

सबसे पहले Jaborandi 1M की 2 बून्द महीने में एक बार लेना है और 4-5 महीने तक ऐसा करना है।

Lycopodium 30 और Acid Phos 30 – बाल जल्दी पकने की हालत में इन दोनों दवाओं को एक-दूसरे के बाद देना चाहिए ।

इन दोनों दवा के साथ Thyroidinum 200 की 2 बून्द हफ्ते में एक बार लेना है।

Natrum Mur 30 – अगर किसी बीमारी के बाद बाल सफेद होने लगें। इस हालत में Phosphorus का भी प्रयोग करके देख सकते हैं।

मैं यहाँ बता दू की बालों के लिए नारियल, जैबोरैंडी या अर्निका तेल सबसे अच्छा होता है।

एलोपैथी चिकित्सा की बात करू तो इस चिकित्सा से कोई खास लाभ नहीं होता। ज्यादातर हेयर डाइज नाक की एलर्जी और आँखों में खुजली उत्पन्न करने के लिए कुख्यात हैं। मुख्यतः ये जो डाई और काली मेहंदी हैं इनमे अनेक प्रकार के सिन्थेटिक रसायन मिले होते हैं जिसके कारण ही खुजली और एलर्जी की समस्या होती है। मैं ऐसा नहीं कह रहा की आप इनका इस्तेमाल न करें, अगर बाल सफ़ेद हो गए हैं तो इनका इस्तेमाल करना भी हमारी एक मज़बूरी जैसा है, तो इनका इस्तेमाल करते हुए आप मेरी बताई गई दवा का सेवन करें ताकि असमय बाल सफ़ेद होने की समस्या का इलाज जड़ से हो सके।

अब मैं होम्योपैथिक दवा की चर्चा कर रहा हूँ :-

सबसे पहली दवा है जिसका उपयोग हमें करना ही है – Allen A82 premature greying of hair drop – यह असमय सफ़ेद हुए बालों में बहुत फायदा देती है। इसमें कई सारी होम्योपैथिक दवा डाली गई है जोकि असमय सफ़ेद बालों के लिए तो फायदा करती ही है साथ में hair fall, dandruff, scalp में खुजली, बालों का पतलापन को भी ठीक करती है। इसमें जो दवा डाली गई है वो इस प्रकार है :-

Arnica Montana Q – यह scalp में ब्लड सर्क्युलेशन को बढ़ाता है।

Lemna Minor 3x – noisy diarrhoea, आवाज के साथ दस्त, साथ में मुँह से बदबू की समस्या को ठीक करता है। बहुत रोगी जिनके बाल 15 या 16 वर्ष की आयु में ही सफ़ेद हो गए मैंने देखा की उन्हें दस्त और मुंह से बदबू आने जैसी समस्या रही है। यह सब पेट के खराबी के कारण होता है और पेट खराबी से बाल भी सफ़ेद हो जाते हैं तो इसलिए Lemna Minor 3x पोटेंसी में इसमें डाली गई है।

Lycopodium Clavatum 3x – बाल बहुत झड़ना, अकौता, कान के पीछे तर पसीना, समय से पहले गंजा होना और बालों का पकना जैसी समस्या में लाभ देता है।

Wiesbaden 3x – बालों को तेजी से बढ़ाने और झड़ गए बालों को उगाने में मदद करता है।

Psorinum 3x – सिर की खाल पर तर दाने, सिकुड़े और सूखे बाल जैसी समस्या में लाभ करता है।

Mezereum 3x – सिर पर पपड़ी जमना, जिसके नीचे पस हो इसकी यह स्पेसिफिक दवा है।

Acid Phosphoricum 3x – शारीरिक और मानसिक कमजोरी, अधिक वीर्य निकलने के कारण अगर बाल सफ़ेद होने लगे तो दवा लाभ करती है।

Staphysagria 3x – सिर पर किसी भी तरह के इन्फेक्शन, दाने को ठीक करता है।

Thuja Occidentalis 3x – हॉर्मोन्स के असंतुलन को ठीक करता है।

इसमें Silicea 3x, Sarracema Purpurea 3x, Zincum Metallicum 3x भी डली हुई है।

सभी दवा Allen A82 में डाली हुई है जोकि असमय बालों के सफ़ेद हो जाने की समस्या में बहुत अच्छा असर दिखाती है।

दवा लेने की विधि – इस दवा की 10 बून्द आधे कप पानी में डाल कर आपको दिन में 3 बार पीना है।

इसके साथ कुछ लक्षण और उसकी दवा के बारे में बात करते हैं, अगर लक्षण मिले तो आप Allen A82 के साथ उस दवा का भी सेवन करें :-

1. अगर मानसिक बेचैनी, तनाव और संघर्ष रोग की उत्पत्ति के कारण हो तो आपको acid phos 30 और kali phos 30 पर्याय क्रम से इस्तेमाल करें।

2. यदि बालों का पकना दुर्बलता, शक्तिहीनता, खून की कमी और कब्ज के कारण हो तो calcerea phos 30, natrum mur 30, carbo veg 30 और picric acid 30 के इस्तेमाल से लाभ होता है।

3. यदि रोग पुरुष के ज्यादा वीर्य की क्षति और स्त्रियों के प्रदर के कारण हो तो china 30 कुछ केसेज में lycopodium बहुत अच्छा कार्य करता है और कुछ में acid phos और selenium से चमत्कारीक सुधार होते देखा गया है।

4. यदि बालों का असमय सफ़ेद होना आंखों के तनाव के कारण हो तो जैबोरैंडी खाने और लगाने के लिए इस्तेमाल करें। यह एक तीर से दो शिकार करती है। आँखों की ज्योति बढाती है और असमय बालों का सफ़ेद होना रोकती है।

Homeopathic Treatment For Premature Grey Hair In Hindi

Lycopodium 200 – लाइकोपोडियम सफेद बालों के लिए सबसे अच्छा दवा है, खासकर पुरुषों में। रोगी के बाल झड़ते हैं और बाल जल्दी सफेद हो जाते हैं। बालों की सफेदी दिखाई देने लगती है। सिर में रूसी के साथ दुर्गंध आती है। सिर में गंभीर खुजली और जलन होती है। इस शिकायत के साथ पेट संबंधी रोग जुड़े रहते हैं, पेट फूल जाता है। लाइकोपोडियम के रोगी गर्म भोजन और गर्म पेय पसंद करते हैं। मिठाई खाने की इच्छा लाइकोपोडियम की विशेषता है। यह आमतौर पर आत्मविश्वास की कमी वाले डरपोक व्यक्तियों के अनुकूल है।

Natrum Mur 200 – यह सफेद बाल और बालों के झड़ने के लिए सबसे अच्छा दवा है, खासकर महिलाओं में। सफेद बाल, विशेषकर एनीमिया से पीड़ित कमजोर व्यक्तियों में देखा जाता है। नैट्रम म्यूर व्यक्तियों में गंभीर सिरदर्द देखा जाता है। नैट्रम म्यूर के मरीज उदास, चिड़चिड़ा और अंतर्मुखी होते हैं। सांत्वना उसकी शिकायतों को बढ़ा देती है। दूसरों के सामने रो नहीं सकते। रोने के लिए अकेले रहना चाहता है। वे अत्यधिक भावुक होते हैं। नमक खाने की इच्छा नेट्रम म्यूरिएटिकम की विशेषता है।

Acid Phos 30 – यह सफेद बालों के लिए सबसे अच्छे दवाओं में से एक है और यह बालों के रंग को बहुत प्रभावी ढंग से कम कर सकता है। दुःख या शारीरिक कमजोरी के बाद बालों का सफेद होना और झड़ना इसकी विशेषता है। बाल पतले हो जाते हैं, जल्दी सफ़ेद हो जाते हैं, झड़ने लगते हैं। मानसिक रूप से व्यक्ति सुस्त होता है। उदासीन, हर चीज़ के प्रति उदासीन, बात करने से अरुचि, घरेलू बीमारी, रोने की प्रवृत्ति रहती है।

Pilocarpus 1M – यह दवा सफेद बालों को काला कर देता है। सिर की त्वचा का अत्यधिक शुष्क होना। शरीर के सभी हिस्सों से अत्यधिक पसीना आना Pilocarpus की विशेषता है।

Phosphorus 200 – यह सफेद बाल और बालों के झड़ने के लिए एक और अद्भुत दवा है, जहां बाल बड़े गुच्छों में झड़ते हैं। सिर में गंभीर खुजली के साथ रूसी रहती है। बालों का समय से पहले सफ़ेद होना भी देखा जाता है। फॉस्फोरस लंबे, दुबले-पतले, कामुक स्वभाव, गोरी त्वचा, सुनहरे या लाल बाल और संवेदनशील प्रकृति वाले व्यक्तियों के लिए उपयुक्त है। ठंडा, कोल्ड ड्रिंक, चॉकलेट और कैंडी खाने का मन करता है।

Thyroidinum 200 – थायरॉयडिनम हार्मोनल असंतुलन, थायराइड हार्मोन के कारण सफेद बालों और बालों के झड़ने के लिए सबसे अच्छा है। Thyroidinum बालों का सफ़ेद होना और झड़ना रोकता है

Vinca Minor 30 – यह समय से पहले बालों के सफेद होने और सिर पर फुंसियों के कारण बालों के झड़ने के लिए सबसे अच्छा है। खोपड़ी पर धब्बे, गंदी नमी रिस रहे हैं, बाल आपस में उलझ रहे हैं। सिर की त्वचा में तीव्र खुजली। खरोंचने की इच्छा। बाल झड़ जाते हैं और उनकी जगह सफ़ेद बाल आ जाते हैं।

Wiesbaden 30 – यह को बालों के लिए टॉनिक माना जाता है। इससे बालों का समय से पहले सफेद होना और झड़ना रुक जाएगा। बाल तेजी से बढ़ेंगे और अधिक काले हो जायेंगे। गिरे हुए बालों की जगह नये बाल अधिक तेजी से आते हैं।

इस रोग से मुक्ति पाने के लिए लम्बे समय तक चिकित्सा की आवश्यकता पड़ती है – कम से कम छः महीने।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658 सम्पूर्ण जानकारी के लिए लिंक पे क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पुराने रोग के इलाज के लिए संपर्क करें