टूटी हड्डी जोड़ने की होम्योपैथिक दवा [ Homeopathic Medicine For Bone Fracture In Hindi ]

0
336

हड्डियां शरीर को मजबूती देती है, बिना हड्डियों के शरीर किसी काम का नहीं रहता। हमारे शरीर की हड्डियां मजबूत तत्त्व से बनी होती है और आसानी से नहीं टूटती है। लेकिन जब कभी कोई हादसा हो जाये जैसे कोई दुर्घटना होना, उम्र बढ़ना तो हड्डियां अक्सर टूट जाया करती है। ऐसी किसी भी स्थिति में हड्डियां अगर पूरी तरह टूट जाये या आधी टूटे तो हम इसे Bone Fracture कहते है। Fracture कई प्रकार के होते हैं जैसे:-

  • Transverse Fracture :- इस प्रकार के Fracture में हड्डी पूरी तरह से बीच से टूट जाती है।
  • Linear Fracture :- इस Fracture में आपको हड्डी के बीच में एक रेखा दिखेगी, इसे क्रैक भी कह सकते हैं।
  • Oblique Nondisplaced :- इसमें भी हड्डियां टूटती है लेकिन अलग-अलग नहीं होती।
  • Oblique Displaced :- इसमें हड्डी टूट कर अलग-अलग हो जाती है।
  • Spiral :- कई बार बहुत अधिक बल लगने के कारण हड्डी घूम जाती है और टूट जाती है।
  • Greenstick :- ये Fracture आमतौर पर osteoporosis के रोगियों को होता है, इसमें हड्डी पूरी तरह नहीं टूटती, बस आगे का हिस्सा टूट जाता है और बाहर निकल आता है।
  • Comminuted :- इस स्थिति में हड्डी के दो-तीन टुकड़े हो जाते है हड्डी के बीच के हिस्से में।
  • Hair Line Fracture :- इस Fracture में हड्डी में एक लाइननूमा Fracture होता है पूरी हड्डी नहीं टूटती है।
  • Compound Fracture :- इस Fracture में हड्डी के साथ ऊपर की त्वचा भी फट जाती है।

हड्डियाँ टूटने (Fracture ) के प्रमुख कारण

कभी अचानक गिर जाने पर या कोई Accident हो जाने पर शरीर पर काफी बल लगता है जिससे हड्डियां टूट जाती है। Osteoporosis भी एक बहुत बड़ा कारण है हड्डियां टूटने का। जब हड्डियां कमजोर हो जाती है, जोकि आमतौर पर उम्र बढ़ने पर होता है तब भी हड्डियां टूट जाया करती है। महिलों में ये समस्या काफी होती है उम्र बढ़ने पर क्योंकि उनकी हड्डियां पुरुषों के मुकाबले काफी कमजोर होती है। Bone Cancer के कारण भी हड्डियां टूट सकती है।

हड्डियाँ टूटने के लक्षण

शरीर के जिस हिस्से की हड्डी टूटेगी उस हिस्से में सबसे पहले काफी दर्द होगा और फिर धीरे-धीरे सूजन हो जाएगी। शरीर के उस हिस्से को हिलाने में कठिनाई होती है। जैसे अगर आपके हाथ की हड्डी टूटी है तो आप उस हाथ से काम नहीं कर पाएंगे। हाथ हिलाने पर दर्द होगा। अगर आपको ये कुछ लक्षण दीखते हैं तो शरीर के उस हिस्से का x-ray जरूर कराये और डॉक्टर से सलाह लें।

हड्डियों के Fracture के लिए कुछ होम्योपैथिक दवाइयां जिनकी सहायता से आपका Fracture जल्दी ठीक हो जायेगा:-

Symphytum officinale Mother tincture :- यह दवाई हड्डियों को बहुत जल्दी जोड़ती है और यह हड्डियों के बीच के मज्जे को बहुत ही जल्दी-जल्दी बनाती है जोकि हड्डियों को जोड़ने के लिए बहुत ही मददगार है। यह दवाई दर्द को भी कम करती है साथ ही सूजन को ठीक करने में भी मददगार है।

दवा लेने की विधि :- इस दवाई को आधे कप पानी में 20 बूँद डालकर पीना है और इस दवाई का सेवन दिन में तीन बार करना है।

AT Tabs SBL :- यह दवाई बहुत ही असरदार है चोट लगने, दर्द होने, सूजन में या खून निकलने की समस्या में। यह दवाई टूटी हड्डियों को भी जल्दी जोड़ने में मदद करती है। इस दवाई में बहुत सारी होम्योपैथिक दवाइयां डली हुई है जो निम्न है:-

Hypericum Perforatum :- इस दवाई में Hypericum Perforatum है जोकि एक होम्योपैथिक दवाई है, यह दवाई Nerves के लिए बहुत ही असरदार है।

Ledum Palustre :- इसमें Ledum Palustre भी है जोकि चोट को जल्दी ठीक करने में मददगार है।

Rhus Toxicodendron :- यह दवाई दर्द में आराम दिलाने के लिए बहुत ही लाभदायक है।

Ruta Graveolens :- यह दवाई हड्डियों की चोट के लिए बहुत ही असरदार है।

Bellis Perennis :- Bellis Perennis मांसपेशियों की चोटों के लिए बहुत ही असरदार है।

AT Tabs SBL को लेनी की विधि :- AT Tabs SBL की दो-दो गोली दिन में चार बार लेनी है, आप इसे चूस भी सकते है और पानी के साथ भी ले सकते है। यह दवाई हर प्रकार की Injury के लिए असरदार है चाहे वह हड्डियों की injury हो या मांसपेशियों की।

Dr. Reckeweg R55 :- यह दवाई Dr Reckeweg की है जोकि जर्मन दवाई है। यदि आपको चोट लग जाती है तो यह दवाई बहुत ही असरदार है साथ ही अगर आपको Fracture भी है और उसकी वजह से दर्द या सूजन है और आप Fracture को जल्दी ठीक करना चाहते हैं तो यह दवाई बहुत ही लाभदायक है।
इसमें कई सारी दवाइयां डली हुई है जो निम्न है:-

Arnica :- यह खून की गति को बढ़ने में बहुत ही मददगार है साथ ही injury को ठीक करने में भी मदद करती है।

Belladonna :- अगर शरीर में कही सूजन आ गई है किसी भी कारण से तो यह दवाई बहुत ही असरदार है।

Calendula :- यह दवाई घाव को सुखाने के लिए मददगार है, यह घाव को जल्दी काम करने में भी मदद करती है।

Echinacea Angustifolia :- यह दवाई भी घाव को जल्दी से जल्दी ठीक करने में असरदार है।

Hamamelis :- यदि चोट लगने पर खून बहुत बहता है तो यह दवाई उसे रोकने में मददगार है।

Rhus Tox :- यह दर्द में आराम के लिए बहुत ही असरदार है।

दवा लेने विधि :- R55 injury में भी असरदार है और अगर आपकी हड्डी टूट गई है तो यह दवाई उसमे भी मददगार है। यह दवाई आपको दिन में तीन बार आधे कप पानी में 20-20 बूँद करके लेना है।

नोट :- यह तीनों दवाइयां आपको कम से कम 15 से 20 मिनट के अंतराल पर लेना है। सारी दवाइयां साथ नहीं लेनी। अगर आप वृद्ध महिला हैं और आपकी हड्डी osteoporosis के कारण टूटी है तो इन तीनों दवाइयों के साथ आप Homeocal Tablet SBL की दो-दो गोलियां दिन में तीन बार लें। यह दवाई आपकी हड्डियों को मजबूत करने में भी मदद करेगा।

Loading...
SHARE
Previous articleहोम्योपैथिक आई ड्रॉप्स [ Best Homeopathic Eye Drops In Hindi ]
Next articleReckeweg R77 ( Anti Smoking ) in Hindi [ धूम्रपान छोड़ने का होम्योपैथिक दवा ]
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here