चेहरे पर होने वाले मस्सों के लिए होमियोपैथी दवा

0
783

मानव शरीर में कहीं पर भी मस्सा होता है तो वह एक वायरस के कारण होता है, उस वायरस का नाम है – ‘Human Papillomavirus’

यह वायरस जब शरीर पर हमला करता है तो ज्यादातर कुछ भी प्रभाव नहीं पड़ता है शरीर पर लेकिन अगर आपके शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता कम है तो शरीर पर मस्सा हो जाता है, यह वायरस शरीर के जिस हिस्से पर हमला करता है वहाँ पर मस्सा हो जाता है, यह वायरस त्वचा की कोशिकाओं को बढ़ता है जिससे त्वचा की अलग परत निकलने लगती है उसे ही मस्से कहा जाता है।

मस्से कई प्रकार के होते हैं

Loading...
  1. Flat Warts एक प्रकार का मस्सा है जो त्वचा से चिपका होता है और यह ज्यातर गालों और माथे पर होते है, यह त्वचा से गहरे रंग का होता है।
  2. Circle Warts गोल मस्से होते है, यह चेहरे की त्वचा के रंग के ही होते है, और इनका आकार बड़ा होता है।
  3. Small Warts बहुत छोटे मस्से होते हैं, यह त्वचा के रंग के ही होते हैं और इनकी संख्या काफी होती है एक ही स्थान पर।
  4. Black warts काले रंग के बड़े और गोल होते हैं, यह भी चेहरे पर ही अधिक होते है।
  5. Eye warts आँखों की पलकों पर होने वाला छोटा सा मस्सा होता है।
  6. Mix warts में लगभग हर प्रकार के मस्से चेहरे पर होते हैं और यह मस्से खासतौर पर दाढ़ी वाले हिस्से पर होते है।

मस्सों के लिए होम्योपैथिक दवा

Thuja Occidentalis 200 CH :- यह दवाई मस्सों के लिए बहुत ही लाभदायक है, इससे मस्से बहुत जल्दी ठीक होते है। इसके लगातार सेवन से मस्से बहुत जल्दी झड़ जाते है और जल्दी होते भी नहीं है। इसकी दो-दो बून्द दिन में दो बार पीनी है, एक बार सुबह और एक बार रात को सोने से पहले इसे पिए।

Causticum 200 CH :- यह दवाई मस्सों के लिए बहुत ही फायदेमंद है खासतौर पर चेहरे पर होने वाले मस्सों को यह बहुत जल्दी ठीक करती है। मस्से किसी भी प्रकार के हो यह दवाई लाभदायक है, खासतौर पर वो मस्से जो चेहरे से बाहर लटके हुए है, उनको अलग करने के लिए बहुत ही लाभदायक है। इसका सेवन भी दिन में दो बार दो-दो बून्द करना है।

Acid Nitricum 200 CH :- यह दवाई चेहरों के मस्सों को ठीक करने के लिए कारगर है। अगर आपके चेहरे पर मस्से होते है और उसमे हल्की चुभन, खुजली भी होती है साथ ही यदि ऊपर की दवाइयों से मस्से ठीक नहीं हो रहे है तो यह दवाई जरूर ले ताकि जल्दी से मस्से निकल जाए। इसकी दो बून्द दोपहर में इस्तेमाल करनी है Causticum के साथ, अर्थात सुबह और रात में Causticum पीना है और Acid Nitricum दोपहर में पीना है।

Medorrhinum 1000 CH :- अगर अन्य दवाइयों से मस्से नहीं झड़ रहे है तो यह दवाई बहुत ही फायदेमंद है। इसको सप्ताह में केवल एक दिन पीना है, इसकी दो बून्द हर रविवार को ले ऊपर की अन्य दवाइयों के साथ। सभी दवाइयों के बीच कम से कम 15 मिनट का अंतर रखे।

Ask A Doctor

किसी भी रोग को ठीक करने के लिए आप हमारे सुयोग्य होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। डॉक्टर का consultancy fee 200 रूपए है। Fee के भुगतान करने के बाद आपसे रोग और उसके लक्षण के बारे में पुछा जायेगा और उसके आधार पर आपको दवा का नाम और दवा लेने की विधि बताई जाएगी। पेमेंट आप Paytm या डेबिट कार्ड से कर सकते हैं। इसके लिए आप इस व्हाट्सएप्प नंबर पे सम्पर्क करें - +919006242658

Topi Thuja Cream :- यह क्रीम आपको मस्सों पर लगाना है। यह दवाई बहुत ही असरदार है मस्सों के लिए, इसे दिन में तीन बार लगाना है, इसे लगाने के लिए चेहरे को अच्छे से धो लें फिर इसे मस्सों पर अच्छे से लगाना है। साथ ही ऊपर की सभी दवाईयाँ भी पीते रहे। एक से दो महीने में मस्से ठीक हो जाते है। इन सभी का सेवन लगातर करे अच्छे और जल्दी असर के लिए।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here